Breaking Tube
Government

तबलीगी जमात पर सीएम योगी सख्त, बोले- जो बदसलूकी करे तुरंत दर्ज करो FIR

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) कोरोना वायरस पर लगाम लगाने के लिए बेहद गंभीर नजर आ रहे हैं. जैसे ही संक्रमण का जबलीगी जमात (Tabligi Jamaat) से कनेक्शन सामने आया योगी ने यूपी में इनके कैरियर्स को तलाशना शुरू कर दिया. इस मुहिम के चलते तबलीगी जमात से जुड़े 1330 लोग चिन्हित किए जा चुके हैं, जिनमें 258 विदेशी शामिल हैं. यूपी में 200 से अधिक विदेशी नागरिकों के पासपोर्ट जब्त किए जा चुके हैं. सीएम ने कहा कि जमातियों को हर हाल में पकड़ा जाए अगर कोई बदसलूकी करे तो तुरंत इनके खिलाफ एफआईआर दर्ज की जाए.


जमातियों को हर हाल में ढूढ़ निकाला जाए

सीएम योगी कि तबीलीगी जमात से लौटे हर व्यक्ति को हर हाल में ढूंढ निकाला जाए, उसकी पूरी निगरानी हो, जो विदेशी हैं उनके पासपोर्ट जब्त कर जांच हो, कानून तोड़ा है तो एनडीआरएफ एक्ट के तहत कार्रवाई हो, जिन्होंने छुपाया है या अवैध ढंग से शरण दी है उनके खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कर सख्त कार्रवाई की जाए.


यदि बदसलूकी करें तो दर्ज करें FIR

सीएम ने कहा कि तबलीगी जमात से जुड़े जिन लोगों को क्वारंटाइन किया गया है, उनकी सख्ती से निगरानी की जाए, सोशल डिस्टैंसिंग और हेल्थ के सारे प्रोटोकाल का सख्ती से उनसे पालन कराया जाए, साथ ही यदि वे पुलिसकर्मियों या स्वास्थ्यकर्मियों के साथ सहयोग ना करें और बदसलूकी करें तो उनके खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाई की जाए.


तबलीगियों की गलतियों का खामिजाया दूसरों को नहीं भुगतने देंगे

योगी ने कहा कि तबलीगियों की गलतियों का खामियाजा पुलिसकर्मियों, स्वास्थ्यकर्मियों और प्रदेश वासियों को नहीं भुगतने देंगे. बैंककर्मी इस आपदा के वक्त में लगातार अपनी सेवाएं दे रहे हैं, उन्हें किसी तरह की असुविधा नहीं होनी चाहिए, उनके आईडी कार्ड को ही लाकडाउन पास के तौर पर स्वीकार किया जाए, साथ ही बैंकों की पूरी सुरक्षा सुनिश्चित कराई जाए.


लॉकडाउन का सख्ती सो हो पालन

इसके अलावा योगी ने कहा कि लॉकडाउन का सौ प्रतिशत पालन कराया जाए, साथ ही पुलिसकर्मी संवेदनशीलता के साथ लोगों को समझाएं बुझाएं, कानून का पालन ना करने पर वैधानिक कार्रवाई करें. उन्होने कहा कि हर व्यक्ति को भोजन मिले, कोई भूखा नहीं रहना चाहिए, शेल्टर होम अच्छे बनाए जाएं, सोशल डिस्टैंसिंग का पूरा पालन हो, भोजन के साथ एक वक्त चाय भी अवश्य दें, खुद डीएम शेल्टर होम की जिम्मेदारी देखें. क्वांरटाइन सेंटरों में भी अच्छी व्यवस्था हो, भोजन इत्यादि का बेहतर प्रबंध हो, साथ ही सुरक्षा की पूरी व्यवस्था हो ताकि कोई मरीज भाग ना सकें, ऐसा होने पर डीएम और एसपी सीधे तौर पर जवाबदेह होंगे


Also Read: निर्लज्ज जमात: बसों के बाद अब आइसोलेशन सेंटर में डॉक्टरों पर ‘थूक’ रहे


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

मोदी सरकार का साथ देने उतरे शत्रुघ्‍न सिन्‍हा, अविश्वास प्रस्ताव के खिलाफ करेंगे वोटिंग

BT Bureau

मोदी सरकार का नया प्लान, ग्रेजुएशन से पहले ही मिलेगी नौकरी

BT Bureau

योगी सरकार ने यूपी के सभी मदरसों पर नजर रखने के दिए आदेश, मौलाना बोले- सिर्फ मदरसे ही क्यों, शिशु मंदिर के स्कूलों की भी करें जांच

S N Tiwari