Breaking Tube
Government

अनाथ और मजदूरों के बच्चों को पढ़ाएगाी योगी सरकार, अटल आवासीय विद्यालयों की हो रही स्थापना

Atal Residential School

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि श्रमिकों के बच्चों और अनाथ बच्चों को पढ़ाने के लिये वित्तीय वर्ष 2020-21 के बजट के माध्यम से प्रदेश के 18 मण्डलों में 18 अटल आवासीय विद्यालयों (Atal Residential School) की स्थापना की जा रही है। इनमें अटल आवासीय विद्यालय कोरई, तहसील किरावली आगरा को भी स्वीकृति दी गई है। सीएम योगी ने कहा कि अब श्रमिक भी अपने बच्चों को अटल आवासीय विद्यालय में भर्ती करवाकर शिक्षा प्रदान करवा सकेंगे। श्रमिक भाई, बच्चों की शिक्षा के सम्बन्ध में चिन्तामुक्त रहकर राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान दे सकेंगे।


सीएम योगी ने मंगलवार को आगरा में उत्तर प्रदेश भवन एवं अन्य सन्निर्माण कर्मकार कल्याण बोर्ड द्वारा संचालित ‘कन्या विवाह सहायता योजना’ के तहत निर्माण श्रमिक पुत्री सामूहिक विवाह समारोह कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए यह बात कही। उन्होंने कहा कि यह कार्यक्रम समाज के अन्तिम पायदान पर बैठे उस व्यक्ति को, जो राष्ट्र निर्माण में के लिए कार्य करता है, उसको सम्मान देने का कार्यक्रम है। सामूहिक विवाह कार्यक्रम में कुल 1260 जोड़ों का विवाह सम्पन्न हुआ, जिसमें 35 अल्पसंख्यक (मुस्लिम समुदाय) के जोड़े भी शामिल हुये। उन्होंने इस अवसर पर 05 जोड़ों को विवाह प्रमाण-पत्र भी दिये।


Also Read: गरीब सवर्णों को 10% आरक्षण देने के लिए विधेयक लाएगी योगी सरकार, 175 करोड़ से होगा OBC छात्रों का कल्याण


मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रमिक राष्ट्र निर्माता है। जब वह पसीना बहाता है, मेहनत करता है और अपने पुरूषार्थ का परिचय देता है, तब हम लोगों को एक अच्छी सड़क मिल पाती है। अच्छी सुविधा मिल पाती है। अच्छे मकान मिल पाते हैं। कोई भी अच्छा कार्य श्रमिकों के परिश्रम व पुरूषार्थ पर निर्भर करता है।


उन्होंने कहा कि आज (मंगलवार) 1,260 जोड़े दाम्पत्य जीवन में बंध करके एक नये जीवन में प्रवेश कर रहे हैं। उन्होंने उन सभी कन्याओं को ह्दय से बधाई देते हुए उन सब के सफल दाम्पत्य जीवन की ईश्वर से कामना की। इसके लिये उन्होंने श्रम एवं सेवायोजन विभाग को बधाई दी। उन्होंने कहा कि श्रम एवं सेवायोजन विभाग द्वारा प्रत्येक कन्या की शादी के लिये 75 हजार रुपए खर्च किये जा रहें हैं, जिसमें 65 हजार रुपये पंजीकृत श्रमिक के खाते में जमा होते हैं तथा पांच-पांच हजार रुपये वर व वधू के लिये प्रदान कि जाते हैं। यह एक अच्छा प्रयास है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि ढ़ाई वर्ष पहले राज्य सरकार द्वारा गरीब कन्याओं की शादी के लिये मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना शुरू करने का निर्णय लिया गया था। प्रदेश के अन्दर विगत ढ़ाई वर्ष में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना के तहत अब तक एक लाख कन्याओं का विवाह सम्पन्न हुआ है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

योगी कैबिनेट की बैठक, इन 12 प्रस्तावों पर लगी मुहर

Aviral Srivastava

विकिलीक्स का दावा- ‘कांग्रेस ने अवैध बांग्‍लादेशियों को बचाया, सोनिया गांधी ने की थी मदद की पेशकश

Aviral Srivastava

‘जब आप होली-दिवाली मनाते तब एक सिपाही अपनी खुशियां छोड़कर सुरक्षा में तैनात रहता है, बंद करें पुलिसकर्मियों का मजाक बनाना’

BT Bureau