Breaking Tube
Government Politics

भ्रष्टाचार पर 700 अधिकारियों को बर्खास्त कर चुकी है योगी सरकार, बीते 12 दिन में 25 पर कार्रवाई

योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने जबसे उत्तर प्रदेश की सत्ता संभाली है तबसे भ्रष्टाचार पर लगातार वार कर रहे हैं. इनकी बानगी ऐसे समझिए कि पिछले 12 दिनों यानी 3 फरवरी से अब तक सीएम योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने अलग-अलग मामलों में 25 अधिकारियों पर कार्रवाई के आदेश दिए हैं. इनमें से कुछ को निलंबित किया गया है, जबकि कुछ को सेवामुक्त तक करने के आदेश दिये गए हैं. बीजेपी प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव (Harish Chandra Srivastava) का कहना है कि योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व ने शासन-प्रशासन से भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था को साकार करने के लिए सरकार द्वारा की जा रही कड़ी और निर्णायक कार्यवाही अत्यन्त सराहनीय है.


हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि प्रदेश की सम्मानित जनता से भ्रष्टाचार मुक्त उत्तर प्रदेश का वादा किया था जिस पर प्रदेश की योगी सरकार ने निरंतर कड़ा प्रहार कर रही है. प्रदेश प्रवक्ता हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि योगी जी के नेतृत्व ने शासन-प्रशासन से भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था को साकार करने के लिए सरकार द्वारा की जा रही कड़ी और निर्णायक कार्यवाही अत्यन्त सराहनीय है. प्रदेश प्रवक्ता ने कहा कि विपक्षी दलो द्वारा जिस तरह की टालमटोल की लचर नीति अपनायी गयी तथा भ्रष्टाचार को संरक्षित किया गया उसी का परिणाम है कि पूरी व्यवस्था में शीर्ष से लेकर निचले स्वर तक भ्रष्टाचार ने अपना साम्राज्य पसार लिया था.


बीजेपी प्रवक्ता ने कहा कि योगी सरकार ने प्रदेश की कमान सम्हालने के बाद से जिस तरह भ्रष्टाचार के विरूद्ध जीरो टाॅलरेन्स की नीति अपनाई और पारदर्शी व्यवस्था को साकार करने के लिए कार्य किया. उसी का परिणाम है कि लगभग 700 से अधिक अधिकारियों व कर्मचारियों की बर्खास्तगी की कार्रवाई सरकार ने किया. जिसमें श्रेणी एक व श्रेणी दो के सभी अधिकारी शामिल है. उन्होंने कहा 2017 में योगी सरकार आने के पहले की सरकारों ने भ्रष्टाचारी अधिकारियों, कर्मचारियों की फाइले अल्मारियों में बंद की दी थी और 14-15 वर्षो तक उसे खोला ही नहीं, जिसे योगी सरकार ने जांचों को निष्कर्ष तक पहुंचा कर आईएएस अधिकारियों तक को जेल भेजने का कार्य किया.


हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव ने कहा कि योगी सरकार ने भ्रष्ट अधिकारी-कर्मचारी के खिलाफ सख्त कार्यवाही तो की है खाद्यान्न घोटाले के नाम पर जाने-जाने वाले प्रदेश में खाद्यान्न घोटाला पूरी तरह समाप्त हुआ तथा लगभग 01 हजार करोड़ का खाद्यान्न जो तस्करी के जरिए नेपाल-बिहार चला जाता था, उसे राशन कार्ड को आधार कार्ड से जोड़कर सरकार ने बचाया तथा गरीब जरूरत मंद लोगों तक पहुंचाने का अति सराहनीय कार्य किया. उन्होंने कहा कि योगी जी के नेतृत्व में भाजपा सरकार भ्रष्टाचार मुक्त व्यवस्था तथा सुशासन को साकार करने का कार्य कर रही है.


Also Read: भ्रष्टाचार पर योगी सरकार का सख्त एक्शन, अनियमितता के दोषी PWD इंजीनियर बर्खास्त, परिवहन विभाग के 3 अधिकारी निलंबित


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

जानें क्या है आर्टिकल 35-A और इसके हटने से जम्मू कश्मीर में क्या आएगा बदलाव

BT Bureau

मौजूद हैं श्री राम के वंशज, जयपुर के राजघराने का दावा- राम के पुत्र कुश का वंशज है हमारा परिवार, दिए सबूत

BT Bureau

बिहार: ईडी ने जब्त की लालू परिवार की निर्माणाधीन मॉल की ज़मीन, कोर्ट जाएंगे तेजस्वी

admin