Breaking Tube
Government

UP: प्रधानमंत्री के विशेष राहत पैकेज से प्रवासी श्रमिक और कामगारों के लिए घर बनाएगी योगी सरकार

homes for migrant workers

कोरोना वायरस महामारी की वजह से लागू लॉकडाउन में दूसरे राज्यों से लौट रहे प्रवासी श्रमिक और कामगारों को नौकरी/रोजगार देने के साथ ही उनके लिए आवास (homes for migrant workers) की व्यवस्था करने में भी उत्तर प्रदेश की योगी सरकार जुट गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रधानमंत्री द्वारा घोषित विशेष राहत पैकेज से श्रमिक और कामगारों के लिए आवास निर्माण की व्यवस्था की जाए।


सीएम योगी ने अधिकारियों से योजना तैयार करने के लिए कहा है ताकि श्रमिक और कामगारों के लिए डोरमेट्री बनाने से भी कम धनराशि खर्च कर रहने की अच्छी सुविधा दी जा सके। उन्होंने सोमवार को अपने सरकारी आवास पर टीम-11 के अधिकारियों के साथ दूसरे राज्यों से लौट रहे श्रमिक और कामगारों से संबंधित व्यवस्था पर विस्तृत चर्चा की।


Also Read: सर्वे: सीएम योगी पर लोगों का भरोसा बरकरार, सीएम की लिस्ट में फिर टॉपर साबित हुए


इस दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार विभिन्न राज्यों से सभी श्रमिक और कामगारों की सुरक्षित व सम्मानजनक वापसी के साथ ही रोजगार और सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए भी प्रतिबद्ध है। सीएम ने इन प्रवासियों को नियमित रूप से खाद्यान्न उपलब्ध कराने के लिए राशन कार्ड बनाने के भी निर्देश दिए हैं।


मुख्यमंत्री ने कहा कि बारिश के मौसम में मनरेगा से जुड़े कार्य सामान्य परिस्थितियों में नहीं कराए जाते। इसलिए बारिश के मौसम में भी मनरेगा के कार्य कराने की वैकल्पिक संभावनाओं को तलाशा जाए, जिससे प्रवासियों को रोजगार उपलब्ध कराने में सुविधा होगी।


Also Read: कोरोना की फाइट में सबसे बड़े बाहुबली साबित हुए सीएम योगी, 23 करोड़ की आबादी के लिए जुटे रहे रातों दिन


उन्होंने कहा कि प्रवासी श्रमिक और कामगारों के लिए एमएसएमई सेक्टर, वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट योजना और विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना में रोजगार के अवसर उपलब्ध हैं। इसी तरह कृषि, डेयरी, पशुपालन आदि से जुड़ी गतिविधियों में भी रोजगार की संभावनाएं हैं, कामागरों और श्रमिकों को इन सेक्टर्स से जोड़ा जाए।


सीएम योगी ने कहा कि औद्योगिक इकाइयों के कार्मिकों के साथ-साथ विभिन्न योजनाओं से जुड़े परंपरागदत कामगारों का एक डेटा बैंक तैयार किया जाए, जिसमें श्रमिकों के बैंक अकाउंट्स की जानकारी हो। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम इकाइयों द्वारा निर्मित पीपीई किट, थ्री लेयर मास्क और अन्य वस्तुओं की खरीद राज्य सरकार के स्तर से की जाए, जिससे प्रदेश में निर्मित इन वस्तुओं को प्रोत्साहन मिलेगा।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

जी 20 शिखर सम्‍मेलन के लिए जापान पहुंचे PM मोदी से बच्चे ने पूछा- HOW ARE YOU ? तो उन्होंने दिया ये जवाब…

BT Bureau

रानी अवंतीबाई लोधी के बलिदान दिवस पर CM योगी ने की घोषणा, 3 वीरांगनाओं के नाम पर होगी महिला PAC बटालियन की स्थापना

Jitendra Nishad

विदेशी कंपनियों को रिझाने में जुटी CM योगी की टास्कफोर्स, बढ़ाई चीन की चिंता

BT Bureau