ट्रंप को रिझाने के लिए PM मोदी का स्टाइल कॉपी करेंगे इमरान खान, हो सकती है इंटरनेशनल बेइज्जती

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) यानि भारत की कूटनीति का वो सिक्का जिसका संसार की चौपालों पर डंका बज रहा है. जहां जाती और आती हुई सत्ता के संधिस्थल पर सियासी सफलता के साम्राज्य बने नरेंद्र मोदी को लाखों-करोड़ों लोग अपना प्रेरणा स्रोत भी मानते हैं. वहीं, आतंक और आतंकवादियों से ग्रसित पाकिस्तान और उसके प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) के लिए भी पीएम मोदी प्रेरणा के स्रोत बन गए हैं. जिसकी वजह से इमरान पीएम मोदी के स्टाइल को कॉपी करने से नहीं चूक रहे हैं. वैसे तो चुनाव प्रचार के दौरान इमरान खान को पीएम मोदी की तरह वोट मांगते, उनके अंदाज में अपने देश को संबोधित करते और स्पीच देते हुए देखा गया हैं. लेकिन, इस बार इमरान ने पीएम मोदी के स्टाइल की पूरी नकल करने की योजना बनाई है.


Also Read: पाकिस्तान: नाबालिग लड़कियों का जबरन कराया जा रहा धर्म परिवर्तन, डरे हुए नेताओं ने प्रस्ताव में नहीं लिखा ‘हिंदू’ शब्द


एक अंग्रेजी अखबार की रिपोर्ट के अनुसार इमरान खान 21 जुलाई से शुरु होने वाली अपनी तीन दिवसीय यात्रा के दौरान अमेरिका में ‘मोदी स्टाइल’ में एक कार्यक्रम करना चाहते हैं. इस कार्यक्रम में अमेरिका में रहने वाले पाकिस्तानी समुदाय के जुटने की बात कही जा रही है. इमरान खान का यह कार्यक्रम वॉशिंगटन डीसी के कैपिटल वन एरेना मे आयोजित हो सकता है. जिसके बाद इमरान खान अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात 22 जुलाई को मुलाकात करेंगे.


गौरतलब है कि नरेंद्र मोदी ने पीएम बनने के बाद जब पहली बार अमेरिका का दौरा किया था तो वहां रहने वाले भारतीय अमेरिकी समुदाय ने पीएम मोदी का भव्य स्वागत किया था, जिसकी काफी चर्चा हुई थी. साल 2014 में पीएम नरेंद्र मोदी ने न्यूयॉर्क के मैडिसन स्क्वायर गार्डन में एक कार्यक्रम में करीब 20 हजार लोगों को संबोधित किया था.


Also Read: डोनाल्ड ट्रंप ने की महिला सांसदों पर नस्लीय टिप्पणी, कहा- अमेरिका छोड़कर अपने उजड़े और अपराध ग्रस्त देशों में लौट जाएं


इसी से प्रेरणा लेकर अति उत्साह में पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ऐसा ही एक कार्यक्रम करने के सपने संजो रहे हैं. लेकिन, इमरान खान की कोशिश से उन्हें फजीहत भी झेलनी पड़ सकती है. दरअसल, अमेरिका में करीब 5 लाख पाकिस्तानी या पाकिस्तानी मूल के लोग रहते हैं. इनमें से सभी इमरान खान की पार्टी तहरीक-ए-इंसाफ के समर्थक नहीं हैं. इनमें से कुछ मुहाजिर, कुछ ब्लूच तो कुछ पीपीपी या पीएमएल (नवाज) के समर्थक हैं. ऐसे में इमरान के इस कार्यक्रम में दूसरी पार्टियों के समर्थकों द्वारा विरोध प्रदर्शन भी किया जा सकता है, जिससे पाकिस्तान की अंतरराष्ट्रीय बेइज्जती भी हो सकती है.


लेकिन इन सभी बातों से बेपरवाह पाकिस्तान इन दिनों अमेरिका दौरे से पहले अपनी आतंक परस्ती से इतर अपनी अलग छवि पेश करना चाहता है. इससे पहले वैश्विक आतंकी हाफिज सईद के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया गया। जिसके माध्यम से पाकिस्तान ने यह जताने की कोशिश की कि वो आतंकवाद के खिलाफ एक्शन मोड में है.


Also Read: भारत की जीत: ICJ में पाकिस्तान को लगा बड़ा झटका, कुलभूषण जाधव की फांसी पर लगी रोक


वहीं, इमरान खान के साथ अमेरिका दौरे पर जाने वाले लोगों में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी, व्यापार और निवेश सलाहकार रज्जाक दाऊद, वित्त सलाहकार हफीज पाशा और सरकार के कुछ अन्य मंत्री और अधिकारी शामिल हैं. इन सभी के अलावा पाकिस्तान आर्मी चीफ जनरल कमर जावेद बाजवा, आईएसआई चीफ लेफ्टिनेंट जनरल फैज हमीद और आईएसपीआर प्रमुख मेजर जनरल आसिफ गफूर भी अमेरिका दौरे पर जाएंगे.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )