IND vs PAK: फिक्सर-सिक्सर विवाद में हरभजन सिंह की पाक PM इमरान खान को सलाह, बोले- मोहम्मद आमिर जैसों को तमीज सिखाने के लिए खोलें स्कूल

टी20 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान की भारत पर जीत के बाद से ही ट्विटर पर दोनों देशों के फैंस और खिलाड़ियों के बीच जंग चल रही है। इस मैच को लेकर हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) और मोहम्मद आमिर (Mohammad Amir) के बीच भी ट्विटर वॉर हुआ था, जो अभी तक जारी है। अब हरभजन सिंह ने पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) से मोहम्मद आमिर जैसे खिलाड़ियों के लिए एक स्कूल खोलने की बात कही है। ताकि वो सीनियर खिलाड़ियों से बात करने की तमीज सीख सकें।

हरभजन सिंह ने आज तक से बातचीत के दौरान कहा कि मैं इमरान खान से ऐसे बच्चों के लिए एक स्कूल खोलने का अनुरोध करूंगा, जहां वे सीनियर क्रिकेटरों से बात करना सीख सकें। हमारे देश में हमें शिष्टाचार सिखाया जाता है। आज भी हम वसीम अकरम जैसे क्रिकेटरों के साथ बहुत सम्मान के साथ बात करते हैं।

Also Read: मोहम्मद शमी पर अपशब्दों की बौछार के खिलाफ Facebook ने उठाया बड़ा कदम, सपोर्ट में उतरे सचिन समेत कई दिग्गज

उन्होंने आगे कहा कि आमिर जैसे लोगों को नहीं पता कि किससे क्या बात करनी है। मुझे उस व्यक्ति की टिप्पणियों पर रिएक्शन नहीं देना चाहिए था, जिसने अपना देश बेच दिया। बता दें कि हरभजन की पाकिस्तान के पूर्व गेंदबाज शोएब अख्तर के साथ भी भारत-पाकिस्तान मैच के नतीजे को लेकर नोकझोंक हुई थी, लेकिन दोनों की आपसी समझ और रिश्ते इतने मजबूत है कि कभी भी दोनों की तरफ से सीमाएं नहीं लांखी गईं।

हरभजन बोले- आमिर ने पैसे लेकर अपने देश को दिया धोखा

हरभजन ने कहा कि मेरे और शोएब के बीच का मजाक अलग है। हम एक दूसरे को बहुत लंबे समय से जानते हैं। हमने एक साथ काफी क्रिकेट खेली है। हमने साथ में कई शो भी किए हैं। हममें एक समझ है। मोहम्मद आमिर कौन है? क्या वह वही आदमी है, जो लॉर्ड्स में मैच फिक्सिंग का दोषी था? उसकी विश्वसनीयता क्या है? वह मुश्किल से अपने देश के लिए 10 मैच खेल पाता और उसने एक मैच फिक्स करने के लिए पैसे लेकर अपने देश को भी धोखा दिया है।

ALSO READ: ‘क्यों भक्तों…? करवा ली न बेइज्जती…’, भारत की हार के बाद कांग्रेस नेता के ट्वीट पर लोग बोले- ‘If नीचता have face’

स्पॉट फिक्सिंग का दोषी पाया गया था मोहम्मद आमिर

बता दें कि मोहम्मद आमिर को 2 अन्य पाकिस्तानी खिलाड़ियों मोहम्मद आसिफ और सलमान बट के साथ 2010 में पाकिस्तान के इंग्लैंड दौर के दौरान स्पॉट फिक्सिंग का दोषी पाया गया था। तीनों क्रिकेटरों पर बैन लगा दिया गया था, लेकिन पाकिस्तान ने 2016 में आमिर को इंटरनेशनल क्रिकेट में वापस लाने का फैसला किया था। कुछ सालों तक खेलने के बाद आमिर ने दिसंबर 2020 में मानसिक यातना का हवाला देते हुए इंटरनेशनल क्रिकेट से सन्यास लेने की घोषणा कर दी। फिलहाल, आमिर फ्रेंचाइजी क्रिकेट खेल रहे हैं।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )