कोरोना के बढ़ते मामले देख भारत सरकार का बड़ा फैसला, 28 फरवरी तक बढ़ाई गई इंटरनेशनल फ्लाइट पर रोक

 

पूरे देश में कोरोना वायरस के मामले बढ़ते जा रहे हैं। अगर आंकड़ों की बात करें तो पिछले 24 घंटों में देश में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल दो लाख 38 हजार 18 नए मामले दर्ज किए गए हैं। इन आंकड़ों को देखते हुए अब फिर एक बार अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर लगी पाबंदी (Suspension on International Flights) को और आगे बढ़ा दिया गया है। डायरेक्टर जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) ने एक सर्कुलर के जरिये इसकी जानकारी दी। इसमें कहा गया है कि कोविड-19 के खतरे को देखते हुए अंतरराष्ट्रीय व्यावसायिक उड़ान सेवा (International Commercial Passenger Services) पर अब 28 फरवरी 2022 तक के लिए रोक लगाई जा रही है।

जारी हुआ सर्कुलर

जानकारी के मुताबिक, नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA) ने सर्कुलर में स्पष्ट किया गया है कि देश में जानलेवा कोरोना वायरस (Coronavirus) के बढ़ते मामलों के बीच कमर्शियल पैसेंजर सर्विस (वाणिज्यिक यात्री सेवाओं) के निलंबन को 28 फरवरी 2022 तक के लिए बढ़ा दिया गया है। फ्लाइट्स के निलंबन का असर कार्गो और डीजीसीए की मंजूरी वाली फ्लाइट्स पर नहीं पड़ेगा।

इससे पहले नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA) ने 31 जनवरी तक अंतरराष्ट्रीय उड़ान सेवाओं को स्थगित करने का फैसला किया था। भारत आने-जाने वाली सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें कोविड-19 महामारी के कारण 23 मार्च 2020 से ही बंद हैं। हालांकि पिछले जुलाई 2020 से करीब 28 देशों के साथ हुए एयर बबल समझौते के तहत विशेष अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानें संचालित हो रही हैं।

20,000 करोड़ का होगा नुकसान

महामारी की तीसरी लहर और विमान ईंधन (एटीएफ) की कीमतों में तेजी से एयरलाइन कंपनियों (Airlines Companies) का घाटा चालू वित्त वर्ष में बढ़कर रिकॉर्ड 20,000 करोड़ पहुंच सकता है। क्रिसिल (Crisil) के मुताबिक, विमानन कंपनियां इस वित्त वर्ष 20,000 करोड़ रुपये से ज्यादा के अपने अब तक के सबसे बड़े शुद्ध घाटे की ओर बढ़ रही हैं। यह घाटा पिछले वित्त वर्ष में 13,853 करोड़ के मुकाबले 44 फीसदी ज्यादा है। घरेलू उड़ानों में कुल मिलाकर 75 फीसदी हिस्सेदारी रखने वाली इंडिगो, स्पाइसजेट और एयर इंडिया पर आधारित रिपोर्ट में चेतावनी दी गई है कि इस घाटे से एयरलाइन कंपनियों का सुधार 2022-23 तक टल जाएगा।

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )