Breaking Tube
International

LAC पर भारतीय-चीनी सैनिकों के बीच फिर से हुई झड़प, चीन बोला- हमारे गश्ती दल को धमकाने के लिए हुई फायरिंग

Ladakh indian and chinese troops

पूर्वी लद्दाख (Ladakh) में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत और चीन के सैनिकों (indian and chinese troops) के बीच फिर झड़प हो गई है। इसमें दोनों देशों की सेनाओं ने एक-दूसरे को डराने-धमकाने और पीछे धकेलने के लिए हवा में गोलीबारी की। यह घटना सोमवार को पैंगोंग सो (झील) के दक्षिणी तट के पास शेनपाओ पर्वत के पास हुई।


इसे लेकर चीन ने एक बयान जारी कर कहा, ‘भारतीय सेना ने चीनी सीमा के गश्ती दल के सैनिकों को धमकी देने के लिए फायरिंग की, जिसने चीनी सीमा रक्षकों को जमीन पर अपनी स्थिति स्थिर रखने के लिए जवाबी कार्रवाई करने पर मजबूर किया।’ चीन ने आगे कहा कि भारत की कार्रवाई ने चीन और भारत के बीच प्रासंगिक समझौतों का गंभीरता से उल्लंघन किया है। उसने दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ाया है और गलतफहमी पैदा कर दी है।


Also Read: लव जिहाद: भारत की बेटी को अगवा करके निकाह, NIA ने जाकिर नाइक सहित दो पाकिस्तानियों पर दर्ज किया केस


बयान में कहा गया है कि यह गंभीर सैन्य उकसाव और गलत बर्ताव है। चीनी पीपुल्स लिबरेशन के वेस्टर्न थिएटर कमांड के कर्नल झांग शुइली ने एक बयान में कहा कि हम भारतीय पक्ष से आग्रह करते हैं कि वे ऐसे खतरनाक काम को तुरंत रोकें, क्रॉस-लाइन कर्मियों को हटाएं, अग्रिम पंक्ति के सैनिकों को कड़ाई से शांत रहने के लिए कहें और जिन लोगों ने फायरिंग की उन्हें दंडित करें। ताकि सुनिश्चित हो कि ऐसी घटनाएं दोबारा नहीं होंगी।


भारतीय सेना के सूत्रों ने कहा कि चीन ने भारतीय गश्ती दल को डराने के लिए हवा में गोलीबारी करने का सहारा लिया। हालांकि भारतीय सेना का आधिकारिक बयान आना बाकी है। भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर लगभग चार महीने से गतिरोध जारी है। कई स्तरों के संवाद के बावजूद अभी तक कोई सफलता नहीं मिली है। 15 जून को गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिक शहीद हुए थे और वहीं हताहत चीनी सैनिकों की संख्या अज्ञात है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

जानें हागिया सोफिया का इतिहास, जिसे लेकर हिंदुओं को धमका रहा है मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड

BT Bureau

पाकिस्तान: मुस्लिमों युवाओं की आजीविका का सहारा बना 200 साल पुराना यह हिंदू मंदिर

BT Bureau

आतंकवाद के खिलाफ अमेरिका ने भी छेड़ी जंग, ओसामा के बेटे पर रखा करोड़ों का इनाम

admin