Breaking Tube
International

लंदन के वैज्ञानिकों ने तैयार किया DNA सॉफ्टवेयर, पूर्वजों की करेगा सटीक पहचान

DNA

लंदन के वैज्ञानिकों ने एक ऐसा DNA सॉफ्टवेयर तैयार किया है जो पूर्वजों की सटीक पहचान कर सकने में सक्षम है. साथ ही इसका इस्तेमाल इस बात के लिए भी किया जा सकता है कि कोई व्यक्ति उन प्राचीन लोगों से किस हद तक मेल खाता है जो कभी धरती पर इधर से उधर घूमते रहते थे. वर्तमान में प्राचीन DNA के अध्ययन में किसी कंकाल का संबंध किसी निश्चित आबादी से जोड़कर बताने या उसकी जैव-भौगोलिक उत्पत्ति ढूंढने के लिए बहुत सारी सूचनाओं की जरूरत होती है.


Also Read: भारतीय फुटबॉल टीम को चीयर करना फैंस को पड़ा महंगा, शेख ने किया पिंजड़े में बंद, वीडियो वायरल


पहचानेंगे अपने वंशज


एलहेक ने बताया कि विकृत DNA की वजह से पुराने डेटा को समझना मुश्किल है और इसी चुनौती से उबरने के लिए उन्होंने ऐसा विशेष सॉफ्टवेयर विकसित किया जो पारंपरिक एवं नए तरीके के मेल से बना है. यह बेहद सटीक तरीके से पता लगा सकता है कि आप किनके वंशज हैं या आपका जीनोम रोमन ब्रिटोन्स का है या चुमाश भारतीयों का या प्राचीन इजराइलियों आदि का.


Also Read: स्विट्जरलैंड: पब्लिक प्लेस पर ‘अल्लाह-हू-अकबर’ बोलना मुस्लिम युवक को पड़ा भारी, पुलिस ने लगाया 178 पाउंड का जुर्माना


कुछ मिनट में होगी DNA की पहचान


ब्रिटेन के शेफील्ड विश्वविद्यालय के एरान एलहेक की अगुवाई में हुए इस अनुसंधान में एंसेस्ट्री इंफॉर्मेटिव मार्कर्स (AIM) की पहचान की गई जिनका इस्तेमाल कंकालों के वर्गीकरण के लिए किया जा सकता है. एलहेक ने कहा- ‘एआईएम का प्रभावी तरीके से पता लगाने का हमने एक नया जरिया विकसित किया है और साबित किया कि यह सटीक है. प्राचीन लोगों में आधुनिक लोगों के मुकाबले ज्यादा विविधता थी. उनकी यह विविधता नियोलिथिक क्रांति एवं ब्लैक डेथ जैसी घटनाओं के बाद कम होने लगी’.


Also Read: संयुक्त राष्ट्र संघ का दावा, रोहिंग्याओं की वापसी से आग बबूला हुए बौद्ध


देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करेंआप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

अमेरिका में राष्ट्रीय आपातकाल पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दिया बड़ा बयान

BT Bureau

शादी के लिए पाकिस्तानी लड़कियों की पहली पसंद है भारतीय लड़के, बताई ये वजह

S N Tiwari

रूस ने किया Article 370 हटाने का समर्थन, पाक से कहा- अपनी हद में रहे तो बेहतर

S N Tiwari