Breaking Tube
Crime International

हिंदू और बौद्ध महिलाओं की मुस्लिम डॉक्टर ने की धोखे से नसबंदी, अब तक 4 हजार से ज्यादा महिलाओं के साथ कर चुका है मेडिकल जिहाद

muslim doctor in shri lanka

श्रीलंका की राजधानी कोलंबो से एक मुस्लिम डॉक्टर का हैवानियत भरा कारनामा सामने आया है, जिसे मेडिकल जिहाद कहा जा रहा है. बता दें यहां के एक मुस्लिम डॉक्टर सेइगु सियाब्देन मोहम्मद साफी ने कई सारी हिंदू और बौद्ध महिलाओं की बिना बताए नसबंदी कर दी. डॉक्टर के खिलाफ 10 से ज्यादा महिलाओं ने जब शिकायत दर्ज कराई तो जांच के बाद पुलिस ने 24 मई को उस डॉक्टर को गिरफ्तार कर लिया था. गौरतलब है कि अप्रैल में ईस्टर संडे के दिन आत्मघाती हमलों से पूरा श्रीलंका दहल गया था.


Also Read: बीजेपी की जीत से बदला TIME, ‘डिवाइडर-इन-चीफ’ के बाद अब मोदी को बताया ‘भारत को एकजुट करने वाला पीएम’


दरअसल, कई लोगों का मानना है कि मोहम्मद साफी ने यह अपराध चरमपंथी विचारों से प्रेरित होकर किया है. डॉक्टर के पास से जमीनों के 17 दस्तावेज और 40 करोड़ रुपए की संपत्ति होने की बात सामने आई है. पुलिस का कहना है कि मामले में यह भी सामने आया है कि 3 सिजेरियन होने के बाद अनिवार्य रूप से मुस्लिम महिलाओं की नसबंदी करनी होती है. मगर, डॉक्टर ने ऐसा नहीं किया और मुस्लिम महिलाओं की नसबंदी करने के फर्जी दस्तावेज दिए थे कि उनकी नसबंदी कर दी गई है.


Also Read: नवाज शरीफ की बेटी बोलीं- पीएम मोदी हमारे प्रधानमंत्री इमरान खान का फोन तक नहीं उठाते


इस दौरान पुलिस ने डॉक्टर का कंप्यूटर, फाइलें और कई दस्तावेजों को भी जब्त कर लिया है. माना जा रहा है कि जांच में कई और चौंकाने वाली जानकारियां सामने आएंगी. खबर में दावा किया गया है कि डॉक्टर साफी नेशनल तौहीद जमात का सदस्य था. उसने सिजेरियन सेक्शन के दौरान 4 हजार सिंहल बौद्ध महिलाओं की नसबंदी की थी जो अपने पहले बच्चे को जन्म दे रही थीं. बताया जा रहा है कि सभी पीड़ितों की उम्र 28 से 30 साल के बीच है.


Also Read: पाकिस्तान: हिंदू पशु चिकित्सक ने कुरान पुस्तक का पन्ना फाड़कर पीड़ित को दी दवाई, ईशनिंदा में गिरफ्तार, प्रदर्शनकारियों ने फूंकी हिंदुओं की दुकानें


इस आरोपी डॉक्टर के खिलाफ करुनेगला टीचिंग हॉस्पिटल की एक नर्स ने भी अस्पताल के डायरेक्ट से शिकायत की थी. नर्स ने बताया कि ‘आरोपी डॉक्टर ने सिजेरियन डिलीवरी करके उनके गर्भ को निकालकर बांझ बना दिया. डॉक्टर ने 4 मार्च को ऑपरेशन किया था, लेकिन स्वास्थ्य संबंधी समस्या होने के बाद उसे कुछ दिनों के बाद अस्पताल में फिर से भर्ती होना पड़ा था’.


Also Read: Video: पाकिस्तानी न्यूज एंकर ने अभिनंदन शब्द को समझा विंग कमांडर, सोशल मीडिया में उड़ाई जा रही खिल्ली


नर्स ने डायरेक्टर को पत्र लिखकर कहा कि उसे बाद में पता चला कि उसका गर्भ ही निकाल दिया गया है. यह जानकारी भी सामने आई है कि संदिग्ध डॉक्टर ने किसी तीसरे व्यक्ति को बच्चा देने के लिए मां का नाम दस्तावेजों में बदल दिया था. फर्जी दस्तावेजों के जरिये वह बच्चे को अवैध तरीके से देने की कोशिश कर रहा था. पुलिस प्रवक्ता एसपी रुवन गुनसेकरा ने इस मामले पर बात करते हुए जनता से अनुरोध किया है कि यदि किसी की भी सहमति के बिना उसकी नसबंदी की गई हो, तो वह डॉक्टर के खिलाफ सीआईडी में शिकायत दर्ज करे.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

मुख्तार के बाद अतीक अहमद पर योगी सरकार का शिकंजा, पुलिस ने छापेमारी में बरामद की पिस्टल-रायफल

Jitendra Nishad

बरेली: लॉकडाउन में भीड़ जुटाकर काट रहे थे मुर्गा, बंद कराने पहुंचे लेखपाल काे जमकर पीटा, हाथ तोड़ा

BT Bureau

कानपुर कांड में जय बाजपेई भी था शामिल, विकास दुबे को पहुंचाए थे 25 कारतूस और 2 लाख रुपए

Shruti Gaur