Breaking Tube
International

सऊदी अरब में बगावत पर उतरीं मुस्लिम महिलाएं, छोड़ रहीं बुर्का पहनना

Muslim Women quitting wearing a Burqa in rebellion in Saudi Arab

वैसे तो इस्लामिक देश में काले रंग का पारंपरिक अबाया (बुर्का) पहनना महिलाओं के कपड़े में शुमार है, इसे महिलाओं की पवित्रता के रूप में देखा जाता है. लेकिन, सऊदी अरब (Saudi Arab) में कुछ महिलाएं बगावत पर उतर आयीं हैं और बुर्का (Burqa) पहनना बंद कर रही हैं. रियाद के एक मॉल में बिना बुर्का पहने जब एक महिला गई तो उन्हें आते-जाते घूरती नजरों का सामना करना पड़ा और कुछ लोगों ने तो पुलिस बुलाने की धमकी तक भी दे दी.


Image result for सऊदी अरब बुर्का

Also Read: पाकिस्तान: हर साल हजारों हिंदू लड़कियों को अगवा कर जबरन धर्म परिवर्तन के बाद कराते है शादी, इस अत्याचार में इमरान के नेता समेत पाक आर्मी भी शामिल!


दरअसल, कुछ मुस्लिम महिलाएं चमकीले रंगों का अबाया सार्वजनिक तौर पर पहन रही हैं. मशाल-अल-जालुद ने एक बड़ा कदम उठाते हुए अब बुर्का पहनना ही बंद कर दिया. 33 वर्षीय जालुद पिछले सप्ताह एक मॉल में ट्राउजर और गहरे गुलाबी रंग के टॉप में दिखी. भीड़ में से कई लोग उन पर सवाल कर रहे थे. जालुद का कहना है कि ‘बिना किसी स्पष्ट नियम के, बिना सुरक्षा के उन्हें खतरा हो सकता है’. जुलाई में उन्होंने ट्विटर पर एक वीडियो पोस्ट किया था जिसमें उन्होंने बताया था रियाद के एक और मॉल ने उन्हें बिना अबाया के प्रवेश नहीं दिया.


Image result for सऊदी अरब बुर्का

Also Read: Video: पाकिस्‍तान की संसद में सांसदों के बीच धक्‍का मुक्‍की और चले लात-घूंसे, इमरान खान को विपक्ष ने जमकर लताड़ा, लगे ‘गो नियाजी गो’ के नारे


जालुद के अलावा 25 वर्षीय मनाहेल-अल ओतैबी ने भी अबाया पहनना छोड़ दिया. मनोहल का कहना है कि ‘पिछले 4 महीने से रियाद में मैं बिना अबाया के रह रही हूं और मैं उसी तरह जीना चाहती हूं, जैसा मैं चाहती हूं. बिना प्रतिबंधों के मैं मुक्त जीना चाहती हूं. किसी को भी मुझे वह पहनने के लिए मजबूर नहीं करना चाहिए, जो मैं चाहती ही नहीं हूं’.


Image result for सऊदी अरब बुर्का

Also Read: पाक मंत्री फवाद हुसैन ने कबूला, दुनिया के सबसे अच्छे सुसाइड बॉम्बर बनाता है पाकिस्तान, सभी आत्‍मघाती हमलावरों का मदरसों से संबंध


हालांकि, कुछ महिलाओं ने सोशल मीडिया पर कपड़े पर इस तरह के प्रतिबंध के खिलाफ आवाज भी उठाई और अपने अबाया से इतर पोशाक में तस्वीरें भी डाली. बता दें पिछले साल शहजादा मोहम्मद बिन सलमान ने ‘सीबीएस’ के साथ हुए एक इंटरव्यू में कहा था कि ‘ड्रेस कोड में छूट दी जा सकती है. यह पोशाक इस्लाम में अनिवार्य नहीं है. लेकिन, इसके बाद भी कोई औपचारिक नियम नहीं बनने के कारण यह चलन बरकरार है’.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

Oscar 2019: नैशनल अवॉर्ड विनर फिल्म ‘विलेज रॉकस्टार्स’ को ऑस्कर 2019 में मिली एंट्री

Satya Prakash

पाक सुप्रीम कोर्ट ने कहा- इंडियन शोज़ के कारण हमारे कल्चर को नुकसान पहुंच रहा, लगेगा प्रतिबंध

BT Bureau

कुलभूषण जाधव को फंसाने के लिए ICJ में पाकिस्तान ने The Quint और The Indian Express के लेखों को बनाया सबूत

BT Bureau