Breaking Tube
International

ट्रंप के बाद अब Twitter ने उनके 70 हजार समर्थकों के अकाउंट किए हमेशा के लिए बंद

Donald Trump said that Jammu-Kashmir is a mutual matter of India-Pakistan we will not interfere on this

ट्विटर (Twitter) ने अमेरिकी संसद भवन में हुई हिंसा के बाद डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) का अकाउंट स्थायी तौर पर निलंबित कर दिया है. ट्विटर ने उसके बाद डोनाल्ड ट्रंप के 70 हजार समर्थकों के ट्विटर अकाउंट भी सस्पेंड कर दिए हैं. ये सभी अकाउंट डोनाल्ड ट्रंप के समर्थक थे और फॉर राइट कॉन्सपिरेसी थियरी ग्रुप क्यूएनॉन द्वारा प्रचारित (QAnon Conspiracy) बिना किसी फैक्ट कंटेंट शेयर कर रहे थे. ट्विटर का कहना है कि ये सभी अकाउंट मेरिकी संसद भवन (कैपिटल हिल) में हुई हिंसा को सही बता रहे थे. ट्विटर ने कहा है कि उन्होंने भविष्य के खतरे को देखते हुए वो ये कदम उठाया है.


ट्विटर ने बयान जारी कर कहा- वाशिंगटन में पेश आई हिंसक घटनाओं के मद्देनज़र और इसके फ़ैलाने की आशंकाओं के बीच हम उन हज़ारों ट्विटर अकाउंट्स को शुक्रवार से हमेशा के लिए बंद करना शुरू कर रहे हैं जो कि QAnon से सम्बंधित कंटेट प्रचारित कर रहे थे. ये सभी अकाउंट बेहद दुर्भावनापूर्ण और समाज को बांटने वाली सामग्री शेयर कर रहे थे और ये सभी कंटेट QAnon ग्रुप द्वारा प्रचारित है. हम इस तरह की अफवाहों और कॉन्सपिरेसी थियरीज को फैलने नहीं दे सकते ये बेहद नुकसानदायक है. बता दें कि इस कंटेंट के जरिए ट्रंप के समर्थक प्रचारित कर रहे हैं कि राष्ट्रपति डेमोक्रेट पार्टी, हॉलीवुड और कथित ‘डीप स्टेट’ के ऐसे लोगों के खिलाफ जंग लड़ रहे हैं जो कि बच्चों का यौन शोषण करते हैं. इन सभी को बचाने के लिए ट्रंप के खिलाफ साजिश रची जा रही है.


हमेशा के लिए बंद हो रहे अकाउंट्स


ट्विटर ने सोमवार को कहा कि इस तरह के झूठे कंटेट शेयर करने वाले अकाउंट्स को हमेशा के लिए बंद किया जा रहा है. खासकर QAnon से जुड़ा कंटेट जिस भी अकाउंट पर पाया जाएगा उसे तत्काल बंद कर दिया जाएगा. क्यूएनॉन ग्रुप के मुताबिक ट्रंप को चुनाव हारने के लिए सभी बुरी ताकतें एक हो गयी हैं और ट्रंप को ईश्वर ने दुनिया को सुधारने के लिए भेजा है.


बता दें कि एक नयी रिपोर्ट में सामने आया है कि ट्रंप समर्थक कैपिटल हिल में हिंसा के लिए बंदूकों के अलावा एक ट्रक में 11 देसी बम और कुछ अन्य हथियार भी भरकर लाए थे. हालांकि नेशनल गार्ड के जल्दी आ जाने के चलते ये लोग इन बमों को लेकर कैपिटल बिल्डिंग में घुस नहीं पाए. उधर अमेरिकी ख़ुफ़िया एजेंसियों ने भी अलर्ट जारी किया है कि प्रेसिडेंट इलेक्ट जो बाइडेन के 20 जनवरी को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह से पहले हिंसा हो सकती है.


Also Read: पाकिस्तान के पूर्व राजनयिक का कबूलनामा, बालाकोट एयर स्ट्राइक में मारे गए 300 आतंकवादी


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

Corona Update: 24 मार्च से सभी घरेलू उड़ाने हुईं रद्द, जल्द से जल्द सभी फ्लाइट्स की लैंडिंग के आदेश

Satya Prakash

नसीरुद्दीन शाह मामले में इमरान खान ने बोला हमला, ‘भारत हमसे सीखे…

BT Bureau

नॉर्थ कोरिया-अमेरिका के बीच हुआ समझौता,ट्रंप ने कहा “हम सारी बाधाओं को पार कर मिल रहे हैं’

BT Bureau