Breaking Tube
International

लंदन ब्रिज पर हमला करने वाले आतंकी उस्मान खान का निकला पाक कनेक्शन, PoK से कश्मीर पर करना चाहता था अटैक

Usman Khan the terrorist who attacked London Bridge got a Pakistan connection wanted to attack Kashmir

ब्रिटेन (Britain) के लंदन ब्रिज (London Bridge) पर शुक्रवार को हुए आतंकी हमले (Terrorist Attack) ने पूरी दुनिया को हिलाकर रख दिया. चाकूबाजी की इस घटना में 2 लोग मारे गए, जबकि 3 अन्य घायल हो गए. हमलावर ने नकली विस्फोटक जैकेट पहनी थी. उसने ब्रिज पर मौजूद लोगों को खुद को उड़ाने की धमकी भी दी. इसके बाद पुलिस ने उसे गोली मार दी और उसकी मौत हो गई. इतना ही नहीं वह कश्मीर पर हमला करने के लिए पाक अधिकृत कश्मीर (PoK) में अपने परिवार के स्वामित्व वाली जमीन पर आतंकी शिविर बनाने की योजना बना रहा था.


Also Read: मूर्ख पाकिस्तानी मंत्री ने कटाई पीएम इमरान खान की नाक, भारत का विरोध करते-करते खोल दी पोल


स्कॉटलैंड यार्ड के हेड ऑफ काउंटर टेररिज्म पुलिसिंग के असिस्टेंट कमिश्नर नील बसु ने शनिवार को कहा कि ‘हमलावर की पहचान 28 साल के उस्मान खान (Usman Khan) के तौर पर हुई है, जिसका पाकिस्तान से कनेक्शन निकला है. उस्मान खान पाकिस्तानी मूल का था. उस्मान खान ने बिना किसी प्रमाण के ब्रिटेन में स्कूल छोड़ दिया. माना जाता है कि उसने पाकिस्तान में अपनी किशोरावस्था का एक हिस्सा बिताया है. जहां वह अपनी बीमार मां के साथ रहता था. ब्रिटेन वापस आने के बाद वो स्टाफोर्डशायर इलाके में रहने लगा था. यहां पर उस्मान ने इंटरनेट पर कट्टरपंथी इस्लाम को पढ़ाना शुरू कर दिया. जिसके कारण बहुत से लोग उसे फॉलो करने लगे. 19 साल की उम्र में वह अल-मुजाहिरॉन की स्थानीय शाखा स्टोक ऑन ट्रेंट में शामिल हो गया था. वह इस आतंकवादी समूह में शामिल होने वाले सबसे युवा लड़का था जो सलाफाई संगठन का एक हिस्सा है. जिसमें कट्टरपंथी उपदेशक अंजेम चौधरी एक उच्च पद पर है’.



वहीं, शनिवार को आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट ने चाकूबाजी की घटना की पूरी जिम्मेदारी ली. आईएस ने अपने खिलाफ कई देशों के समूह का जिक्र करते हुए कहा ‘लंदन हमला करने वाला व्यक्ति इस्लामिक स्टेट का लड़का था और उसने गठबंधन देशों के नागरिकों को निशाना बनाने के आह्वान के जवाब में ऐसा किया’.


Also Read: 17 साल की फिरोजा अजीज ने बताई चीन की दरिंदगी, कहा- मुस्लिम लड़कियों का रेप कर खिलाते हैं सुअर का मांस, TikTok ने अकाउंट किया ब्लॉक


लंदन पुलिस के मुताबिक ‘उस्मान खान अलकायदा (Al-Qaeda) की विचारधारा से भी प्रभावित था. लंदन पुलिस के मुताबिक उस्मान खान कश्मीर जाकर ट्रेनिंग लेना चाहता था. इसके बाद वो वहां हमला करने का प्लान बना रहा था. पुलिस ने यह भी बताया कि इसने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में अपने परिवार की जमीन पर एक आतंकवादी प्रशिक्षण कैंप भी बनाया था’.


Related image

मेट्रोपॉलिटन पुलिस के सहायक आयुक्त और आतंक निरोधी पुलिस दस्ते के प्रमुख नील बसु के मुताबिक उस्मान खान को साल 2012 में आतंकवाद के अपराधों के लिए दोषी ठहराया गया था. लेकिन उसे पिछले साल यानी दिसंबर 2018 में जमानत पर जेल से रिहा कर दिया गया. ब्रिटेन के मौजूदा पीएम बोरिस जॉनसन साल 2012 में इस संदिग्ध की गिरफ्तारी के समय लंदन के मेयर थे और उनका नाम उस्मान की हिटलिस्ट में था. हमले के बाद हुई एक मीटिंग में बोरिस जॉनसन ने इस हमले से बहादुरी से निपटने के लिए लंदन के लोगों की तारीफ भी की थी.


Also Read: Video: पॉल्यूशन पर लेक्चर ले दे रहे थे इमरान खान, कहा- पेड़ केवल रात को ऑक्सीजन देते है, लोगों ने जमकर लिए मजे


दरअसल, इस आतंकी समूह की योजना पीओके में एक मदरसे के तौर पर आतंकी शिविर बनाने की थी. जहां वह कश्मीर में हमला करने के लिए हथियारों का प्रशिक्षण देते और 26/11 की तरह ब्रिटेन की संसद पर हमला करते. ब्रिटिश जांच एजेंसियों द्वारा 2012 में गिरफ्तार किए जाने से पहले उस्मान पीओके भागने की तैयारी में था. पुलिस ने खान का एक संदेश रिकॉर्ड किया था जिसमें उसने कहा था ‘या तो हमारी जीत होगी, या शहादत और या फिर जेल मिलेगी’. वह दो षड्यंत्रकर्ताओं के साथ केंद्रीय लंदन में रेकी करते हुए पकड़ा गया था, जब वह ब्रिटिश संसद पर 26/11 की तरह हमला करने के बारे में बात कर रहे थे.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

पाकिस्तान उठा रहा भारत की नर्मी का नाजायज़ फायदा, 12 भारतीय मछुआरों को किया गिरफ्तार

Satya Prakash

Video: ब्रिटिश पीएम बोरिस जॉनसन बोले- बुर्के में ‘लेटरबॉक्स’ और ‘बैंक लुटेरी’ की तरह दिखतीं हैं मुस्लिम महिलाएं

S N Tiwari

ऑस्ट्रेलिया के कप्तान ने कोहली के बुरे बर्ताव पर कहा- ‘अपमानजनक’ और ‘मूर्खतापूर्ण’

Satya Prakash