Breaking Tube
International

अफ्रीका में नहीं किया जाएगा कोविड-19 के खिलाफ टीके का परीक्षण: WHO

world health organization

विश्व स्वास्थ्य संगठन (world health organization) के महानिदेशक ट्रेडोस अदनोम घेब्रेयसस ने कहा कि अफ्रीका कोविड-19 महामीर के संक्रमण के खिलाफ किसी भी टीके के लिए परीक्षण का मैदान नहीं बनेगा। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने जेनेवा में सोमवार को ट्रेडोस की एक वर्चुअल ब्रीफिंग के हवाले से कहा कि अफ्रीका किसी भी वैक्सीन के लिए परीक्षण का आधार नहीं बन सकता है और न ही हो सकता है। हम दुनियाभर में किसी भी वैक्सीन या थैरेप्यूटिक्स का परीक्षण करने के लिए सभी नियमों का पालन करेंगे, चाहे वह यूरोप में हो या अफ्रीका में या और कहीं।


गौरतलब है कि कुछ वैज्ञानिकों द्वारा पिछले सप्ताह की गई टिप्पणियों में कहा गया था कि नए टीकों के लिए परीक्षण का आधार अफ्रीका होगा। ट्रेडोस ने इसी के मद्देनजर कहा कि औपनिवेशिक मानसिकता के हैंगओवर को रोकना होगा।


Also Read: अभी नहीं खत्म होने जा रहा लॉकडाउन! केंद्र सरकार कर आगे बढ़ाने पर कर रही विचार


खबरों के अनुसार, एक टीवी बहस के बाद दो फ्रांसीसी डॉक्टरों पर नस्लवाद का आरोप लगा है। उनमें से एक ने अफ्रीका में परीक्षण का सुझाव देते हुए कहा था कि कोविड-19 संक्रमण पर ट्यूबरक्लोसिस का टीका प्रभावी साबित होगा या नहीं इसकी जांच अफ्रीका में होनी चाहिए।


कड़े शब्दों में नस्लवादी टिप्पणी की निंदा करते हुए डब्ल्यूएचओ (world health organization) के प्रमुख ने दोहराया कि यह अफ्रीका में नहीं होगा, और कहीं और नहीं होगा, किसी भी देश में नहीं। सभी प्रोटोकॉल को ध्यान में रखा जाएगा और मानवों के साथ मानवी की तरह ही व्यवहार किया जाएगा।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

पाक स्कूलों में हिंदू छात्रों को जबरन पढ़ाई जा रही कुरान, किताबों में जिहाद को बताते है अच्छा, बच्चों में पैदा होती है धार्मिक नफरत

S N Tiwari

कोरोना: इटली में 63927 हुई संक्रमितों की संख्या, 6077 लोगों की मौत

Jitendra Nishad

कुलभूषण जाधव को फंसाने के लिए ICJ में पाकिस्तान ने The Quint और The Indian Express के लेखों को बनाया सबूत

BT Bureau