Breaking Tube
Lifestyle

एलोवेरा के फायदे के साथ ही साथ हैं कई नुकसान, इस्तेमाल करने से पहले जान लें ये बातें

लाइफस्टाइल: आयुर्वेद में पुराने समय से एलोवेरा का इस्तेमाल होता आया है. एलोवेरा को खाने से लेकर शरीर पर लगाने तक के लिए इस्तेमाल करते हैं. यह कई रोगों के उपचार में भी काम आता है, जिससे हमारे स्किन और शरीर की कई समस्याओं का निवारण होता है. एलोवेरा के इस्तेमाल से हमारे शरीर को कई लाभ मिलते हैं लेकिन इसके कई नुकसान भी हैं. कई एक्सपर्ट्स ने यह भी बताया है कि यदि एलोवेरा के फायदे हैं तो इसके कई नुकसान भी हैं. इसमें लैक्सेटिव तत्‍व मौजूद होता है जो शरीर को नुकसान पहुचा सकता है. यह एलोवेरा कि पत्ती के अदंर की लेयर में पाया जाता है. ऐसे में जब हम इसे जूस और जेल के रूप में सेवन करते हैं तो इसमें कई बार लैक्सेटिव लेयर मौजूद होते हैं जिस वजह से शरीर में परेशानी भी हो सकती है. तो आइए जानते हैं क्‍या है इसके सेवन का साइड इफेक्‍ट्स.


डिहाइड्रेशन की समस्‍या-
सुबह के समय खाली पेट एलोवेरा जेल का सेवन करने से आप यह सोच रहे हैं आपका वजन कम होगा तो आपको बता दें कि ऐसा करने शरीर में डिहाइड्रेशन की समस्‍या भी हो सकती है.


कमजोरी आना-
एलोवेरा के जूस का अधिक सेवन शरीर में पोटेशयम की मात्रा बढ़ा सकता है, जिसकी वजह से अनियमित दिल की धड़कन और कमजोरी आ सकती है. अगर आप पहले से दिल के मरीज हैं तो बेहतर होगा कि आप अपने डॉक्‍टर से सलाह लेने के बाद ही इसका सेवन करें.


स्किन एलर्जी-
अगर आप एलोवेरा जेल को अपनी स्किन की समस्‍या को दूर करने के लिए अत्‍यधिक प्रयोग कर रहे हैं तो हो सकता है इससे आपकी त्‍वचा पर रैशेज, खुजली और रेडनेस आ जाए. अगर ऐसा हो रहा है तो तुरंत इसका प्रयोग बंद कर दें.


इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम की समस्‍या-
आमतौर पर कब्‍ज होने पर एलोवेरा जूस पीने की सलाह ली जाती है लेकिन आपको बता दें कि पाचन को लेकर कोई शिकायत हो तो एलोवेरा जूस का सेवन तुरंत बंद करें. क्योंकि इस जूस में लैक्सेटिव होता है जो इरिटेबल बॉवेल सिंड्रोम कि शिकायत को बढ़ा सकता है. जिससे पेट दर्द, डायरिया और लूज मोशन की आ सकती है.


ब्लड शुगर पर असर-
अगर आप एलोवेरा का लगातार कई दिनों से सेवन कर रहे हैं तो इससे आपका ब्लड प्रेशर प्रभावित हो सकता है और आपका बीपी लो हो सकता है.


प्रेग्नेंसी में समस्या-
प्रेग्‍नेसी में एलोवेरा का सेवन बिलकुल नहीं करना चाहिए. इसमें मौजूद लैक्टेटिंग प्रोपर्टी गर्भवती महिलाओं के लिए हानिकारक हो सकती हैं. इसके सेवन से उनका गर्भाशय संकुचित हो सकता है जिससे बच्चे के जन्म में दिक्कत आ सकती है. इसकी वजह से गर्भपात तक हो सकता है.


Also Read: बदलते मौसम की वजह से बढ़ने लगा है वजन, तो फॉलो करें ये 7 कमाल की टिप्स


Also Read: शरीर के लिए बेहद हानिकारक हैं ये फूड कॉम्बिनेशन, जानें इसे लेकर क्या कहता है आयुर्वेद


Also Read: रखना है हार्ट को हेल्दी तो ब्रेकफास्ट में शामिल करें ये चीजें


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

शरीर को रखना है तंदरुस्त, तो बिना छिलके उतारे करें इन 5 सब्जियों का सेवन

Satya Prakash

WHO ने किया खुलासा, जानें कब तक खत्म होगा कोरोना वायरस

Satya Prakash

Corona Virus से जुड़े हैं ये 14 मिथ, WHO ने बताई सच्चाई

Satya Prakash