Breaking Tube
Lifestyle

कई बीमारियों का काल है सहजन की पत्तियां, खूबियां जानकर करने लगेंगे इस्तेमाल

लाइफस्टाइल: पुराने समय से लोग सहजन की पत्तियों का इस्तेमाल जड़ी-बूटी के रूप में करते आए हैं. सहजन की पत्तियों में कई ऐसे आयुर्वेदिक गुण छुपे हैं जो हमें कई बीमारियों से दूर रखता है. सहजन में विटामिन, खनिज पदार्थ, एंटीऑक्‍सीडेंट, क्‍लोरोफिल और पूर्ण अमीनो-एसिड पाए जाते हैं, जो शरीर के लिए काफी लाभकारी होते हैं. इसकी पत्तियों का पाउडर काफी लाभकारी होता है. शोध के मुताबिक सहजन की पत्तियों में प्रोटीन, विटामिन सी, बीटा कैरोटीन, कैल्शियम, पोटेशियम और एंटीऑक्‍सीडेंट के अलावा एस्‍कॉर्बिक एसिड, फोलिक और फेनोलिक मिलते हैं और लगभग 40 से अधिक प्रकार के एंटीऑक्‍सीडेंट पाए जाते हैं. तो चलिए आपको बताते हैं कि सहजन की पत्तियाँ किन-किन रोगों में लाभकारी होते हैं.


डायबिटीज-
मधुमेह के रोगियों के लिए सहजन की पत्तियों काफी लाभकारी होता है. इसमें मौजूदा एंटीऑक्‍सीडेंट गुण मधुमेह के रोग का विरोधी है. ये इंसुलिन के स्‍तर और संवेदनशीलता को भी बढ़ा सकती हैं जिससे मधुमेह रोगी को फायदा मिलता है.


हार्ट के लिए फायदेमंद-
सहजन की पत्तियों के गुणकारी लाभ दिल की सेहत के साथ खराब कोलेस्‍ट्रॉल को भी अच्छा करने में सहायक होता है. इसमें मौजूदा ओमेगा-3 फैटी एसिड की मात्रा काफी अच्छी होती है, जो कोलेस्‍ट्रॉल के स्तर को कम कर सकती है, जिससे हृदय संबंधी समस्‍याओं को दूर करने में मदद मिल सकती है.


रक्‍तचाप को करे कंट्रोल-
सहजन की पत्तियों में पोटैशियम की अच्छी मात्रा होती है, जो रक्तचाप को प्रभावित करता है. पोटैशियम वैसोप्रेसिन को नियंत्रित करता है और यह हार्मोन रक्‍तवाहिकाओं के कामकाज को प्रभावित करता है. सहजन की पत्तियों के सेवन से उच्‍च रक्‍तचाप रोगियों को फायदा मिलता है.


कैंसर के प्रभाव को करता है कम-
कैंसर के लक्षणों को कम करने के लिए सहजन की पत्तियों का उपयोग किया जा सकता है. सहजन की पत्तियों में कई प्रकार के एंटीऑक्‍सीडेंट, विटामिन सी, जस्‍ता और अन्‍य सक्रिय घटक होते हैं जो कैंसर कोशिकाओं और फ्री रेडिकल्‍स के प्रभावों को कम करने में सहायक हैं.


लीवर रखे स्वस्थ्य-

सहजन के पत्‍तों के रस में सिलिमारिन जैसे घटक होते हैं जो लिवर एंजाइम फंक्‍शन को बढ़ाते हैं. यह घटक यकृत को भी प्रारंभिक क्षति से भी बचाता है जो उच्‍च वसा के सेवन या यकृत रोग के कारण होती है.


आंखों के लिए लाभकारी-
सहजन के पत्‍तों में विटामिन ए उच्‍च मात्रा में होता है जो गाजर की तुलना में 4 गुना अधिक है. सहजन के पत्‍तों में ल्‍यूटिन भी अच्‍छी मात्रा में होता है जो ग्‍लूकोमा को रोक सकता है.


इम्यूनिटी रखे मजबूत-
सहजन के पत्‍तों में बहुत सारे एंटीऑक्‍सीडेंट और विटामिन होते हैं जो प्रतिरक्षा कोशिकाओं की कार्य क्षमता को बढ़ाने और वायरस या बैक्‍टीरिया के प्रभाव को कम करने में सहायक होते हैं.


एनीमिया में लाभकारी-
100 ग्राम सहजन पत्ते के पाउडर में कम से कम 28 मिली ग्राम आयरन होता है जो अन्‍य खाद्य पदार्थों की तुलना में बहुत अधिक है इसलिए इससे एनीमिया के लक्षणों को कम करने में भी मदद मिलती है.


कब्‍ज को करता है दूर-
सहजन में मौजूद फाइबर हमारी आंतों में जमा किसी भी हानिकारक पदार्थ को आसानी से दूर कर सकता है जिस वजह से सहजन की पत्तियों का इस्‍तेमाल कब्‍ज से बचाने में लाभकारी सिद्ध होता है.


Also Read: पपीता ही नहीं इसके बीज में भी छुपे हैं अद्भुत लाभ, जानिए इसके 5 बड़े फायदे


Also Read: अगर आप भी हैं डार्क सर्कल्स की समस्या से परेशान, तो अपनाएं ये आसान Tips


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

फ्रिज में रखीं ये चीजें आपके लिए है जहर, आज ही निकाल फेंके बाहर वरना हो सकता है भारी नुकसान

Satya Prakash

बारिश के मौसम में बरतें सावधानियां, वरना हो सकती हैं ये गंभीर बीमारी

Satya Prakash

अगर आपको भी रहना है जीवनभर इन बीमारियों से दूर तो अपनाएं सोने के ये तरीके

Satya Prakash