Breaking Tube
Lifestyle

लिवर, गठिया, अल्सर समेत इन रोगों में फायदेमंद है मुलेठी, जानें इसके अद्भुत लाभ

लाइफस्टाइल: प्राचीन समय से ही आयुर्वेद में कई जड़ी बूटियों का इस्तेमाल होता आया है, जिसमें मुलेठी को काफी स्वास्थ्यवर्धक माना गया है. मुलेठी को कई तरह के व्यंजनों में स्वाद को बढ़ाने के लिए भी इस्तेमाल किया जाता है. इसके साथ ही मुलेठी में एंटीसेप्टिक, एंटी-डायबिटिक, एंटीऑक्सीडेंट के गुण भी पाए जाते हैं. श्वसन प्रक्रिया में भी मुलेठी काफी लाभकारी होती है. इसमें फास्फोरस, आयरन, मैग्नीशियम, पोटेशियम, सेलेनियम, कैल्शियम और जिंक जैसे खनिज पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं. इसमें कई आवश्यक फाइटोन्यूट्रिएंट्स पाए जाते हैं. मुलेठी की जड़ आसानी से बाजार में मिलती है. इसे सूखी जड़, पाउडर या कैप्सूल के रूप में खाया जा सकता है.


श्वसन तंत्र करता है मजबूत-

सर्दियों के समय में लोगों को अकसर गले में खराश, सर्दी, खांसी और अस्थमा जैसी समस्याएं होने लगती हैं, जिसमें मुलेठी काफी लाभकारी साबित हो सकती है. इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं इसलिए यह ब्रोन्क्रियल ट्यूब्स की सूजन को कम करने में मदद करती है और वायुमार्ग को शांत करती है. इसके अलावा यह श्वसन संबंधनी बीमारियों और बलगम से होने वाले रोगाणुओं से लड़ने में भी मदद करती है.


पाचन प्रक्रिया में सुधार-

यदि किसी की पाचन क्रिया ठीक नहीं है तो उनके लिए भी मुलेठी काफी फायदेमंद साबित हो सकती है. यह पेट फूलना, सूजन और पेट में गड़बड़ी को कम करती है. मुलेठी भूख बढ़ाती है, अपच को कम करती है और शरीर में पोषक तत्वों के बेहतर अवशोषण को बढ़ावा देती है. इसकी जड़ में मौजूद कार्बेनेक्सोलोन और ग्लाइसीर्रिजिन एक हल्के रेचक के रूप में कार्य करते हैं, जिससे पेट की समस्याओं से तुरंत राहत मिलती है.


लिवर के इलाज में असरदार-

मुलेठी का एंटीऑक्सीडेंट गुण मुक्त कण और विषाक्त पदार्थों की वजह से होने वाले नुकसान से लिवर को बचाता है. यह हेपेटाइटिस, फैटी लिवर, पीलिया जैसे रोगो के इलाज में मदद करता है. मुलेठी की जड़ की चाय पीने से लिवर के स्वास्थ को फायदा होता है.


गठिया में राहत-

गठिया के सबसे प्रमुख लक्षणों में जोड़ों के दर्द, जकड़न और सूजन शामिल है. यह गठिया के इलाज में सहायक है. इसके अलावा सूजन वाले रोगों जैसे रुमेटाइड अर्थराइटस आदि के इलाज में मुलेठी का इस्तेमाल होता है. मुलेठी की चाय पीने से सूजन और दर्द से राहत मिलती है.


इम्युनिटी करता है स्ट्रांग-

आयुर्वेद का खजाना मुलेठी स्टेमिना और ऊर्जा के साथ इम्युनिटी में भी सुधार लाता है. मुलेठी में पाए जाने वाले तत्व शरीर की दुर्बलता, कमजोरी और थकान को दूर करते हैं साथ ही आपके जीवन की शक्ति में सुधार करती है. मुलेठी में मौजूद एंटी-माइक्रोबियल गुण प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाने में मदद करते हैं और शरीर को विभिन्न माइक्रोबियल संक्रमणों से बचाते हैं.


Also Read: सर्दियों में जुकाम, खांसी से ऐसे करें बचाव, अपनाएं ये आसान से Tips


Also Read: ब्रेस्टफीडिंग कराने वाली महिलाएं रखें अपना विशेष ध्यान, डाइट में शामिल करें ये फूड्स


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

Buddha Purnima 2020: गौतम बुद्ध का जीवन परिचय और उनके खास उपदेश

Satya Prakash

गर्म पानी के सेवन से होंगे ये अचूक फायदे, इन बीमारियों से मिलेगा छुटकारा

Satya Prakash

इस रेस्टोरेंट में बिना कपड़ों के होती थी एंट्री, अब इन कारणों से हो जाएगा बंद

BT Bureau