Breaking Tube
Lifestyle

चमत्कारी गुणों से भरपूर है कच्चा लहसुन, फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान

लाइफस्टाइल : कच्छा लहसुन खाने के स्वाद को काफी ज्यादा बढ़ा देता है। इसको किचन में कई रूप में इस्तेमाल किया जाता है। पर, क्या आप जानते हैं कि कच्चे लहसुन का इस्तेमाल फिर रहने के किए भी किया जाता है। जी हां, दरअसल, लहसुन में मैंगनीज (manganese), सेलेनियम (selenium), विटामिन सी (vitamin C), विटामिन बी 6 (vitamin B6), एलिसिन (allicin) और अन्य एंटीऑक्सिडेंट (antioxidants), विटामिन और मिनरल्स (minerals) से भरा हुआ है। इसलिए प्राचीन और आधुनिक इतिहास में इसका इस्तेमाल एक औषधि के रूप में भी किया जाता है।


ये हैं लाभ-

कच्चा लहसुन खांसी और सर्दी के संक्रमण को दूर करने की क्षमता रखता है। लहसुन की दो कलियां खाली पेट दांतों से कूंचकर खाने से इसका सबसे ज्यादा फायदा होता है। शोधकर्ताओं के अनुसार बच्चों के गले में लहसुन की कलियां बांधने से कंजेशन के लक्षणों से राहत मिलती है।


 लहसुन में पाया जाने वाला एलिसिन यौगिक, एलडीएल (खराब कोलेस्ट्रॉल) के ऑक्सीकरण को रोकता है। यह कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करता है और हृदय स्वास्थ्य में सुधार करता है। लहसुन का नियमित सेवन रक्त में जमे थक्कों को कम करता है और थ्रोम्बोम्बोलिज़्म (thromboembolism) को रोकने में मदद करता है। लहसुन रक्तचाप को भी कम करता है, इसलिए उच्च रक्तचाप के रोगियों के लिए यह फायदेमंद है।


लहसुन अपने एंटीऑक्सिडेंट और एंटी इन्फ्लामेट्री (anti-inflammatory ) गुणों के कारण मस्तिष्क स्वास्थ्य को बढ़ियां करता है। यह अल्जाइमर (Alzheimer) और मनोभ्रंश (dementia) जैसे न्यूरोडीजेनेरेटिव (neurodegenerative) रोगों के खिलाफ प्रभावी है।


आहार में कच्चे लहसुन को शामिल करने से पाचन समस्याओं में सुधार होता है। यह आंतों को लाभ पहुंचाता है और सूजन को कम करता है। कच्चा लहसुन खाने से आंतों के कीड़े साफ हो जाते हैं। अच्छी बात यह है कि यह खराब बैक्टीरिया को नष्ट करता है और आंत में अच्छे बैक्टीरिया को बचाता है।


जो लोग मधुमेह से पीड़ित हैं वे लहसुन का सेवन करें और इसके बाद अपना ब्लड शुगर लेवल टेस्ट करें। आपको फर्क दिखाई देगा।


कच्चे लहसुन के सेवन सेइम्यून सिस्टम बढ़ता है। यह मुक्त कणों ( free radicals) और डीएनए को नुकसान से बचाता है. लहसुन में जस्ता (Zinc) प्रतिरक्षा को बढ़ावा देता है। विटामिन सी (Vitamin C) संक्रमण से लड़ने में मदद करता है। लहसुन आंख और कान के संक्रमण के खिलाफ बहुत फायदेमंद है, क्योंकि इसमें रोगों से लड़ने के गुण (antimicrobial properties) हैं।


लहसुन मुंहासे को रोकने में मदद करता है और मुंहासे के निशान को हल्का करता है। ठंड के घावों, छालरोग (psoriasis), रैशेस आदि पर लहसुन का रस लगाने से रोग क साथ दाग धब्बे भी गायब हो जाते हैं। यह यूवी किरणों से बचाता है और एंटी एजिंग का काम करता है।


 एंटीऑक्सीडेंट की अधिक मात्रा के कारण, लहसुन फेफड़ों, प्रोस्टेट, मूत्राशय, पेट, यकृत (liver) और पेट के कैंसर से शरीर की रक्षा करता है। लहसुन की जीवाणुरोधी क्रिया पेप्टिक अल्सर को रोकती है, क्योंकि यह आंत (Gut) से इंफेक्शन को समाप्त करता है।


 लहसुन वसा (Fat) को जमा करने वाले वसा कोशिकाओं (adipose cells) के निर्माण के लिए जिम्मेदार जीन (genes) को कम करता है। यह शरीर में थर्मोजेनेसिस (thermogenesis) को भी बढ़ाता है और अधिक फैट बर्न और एलडीएल (खराब कोलेस्ट्रॉल) को कम करता है।


यूटीआई से लड़ता है और गुर्दे के स्वास्थ्य में सुधार करता है ताजे लहसुन के रस में ई कोली बैक्टीरिया (E. Coli bacteria) की वृद्धि को कम करने की क्षमता होती है, जो मूत्र पथ के संक्रमण (UTI) का कारण बनते हैं। यह गुर्दे के संक्रमण को रोकने में भी मदद करता है।


Also Read: रोजाना एक्सरसाइज के हैं अनगिनत फायदे, मेंटली और फिजिकली होंगे मजबूत


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

चावल खाने के शौकीन इस तरह बनाएं राइस, नहीं बढ़ेगा आपका वजन

Satya Prakash

Lockdown में दिल के मरीज इस तरह रखें अपना ख्याल, अपनाएं ये नुस्खे

Satya Prakash

इन जबरदस्त तरीकों से दो हफ़्तों में करें अपना वजन कम, जानें पूरी सुबह से रात तक की डाइट

Satya Prakash