Breaking Tube
Lifestyle

सांस की इन बीमारियों में अत्यंत लाभकारी है कपालभाति प्राणायाम, रोजाना ऐसे करें अभ्यास

आज कल की दिनचर्या की वजह से हमेशा लोग किसी ना किसी बीमारी या दिक्कत में घिरे रहते हैं। इन दिक्कतों से बचने कनेक आसान उपाय है प्राणायाम। यदि आपके पास इसके लिए समय नहीं है तो हम आपको ऐसा तरीका बता रहे हैं, जो स्वस्थ रहने में मदद करेगा। दरअसल, केवल इस कपालभाति प्राणायाम की मदद से ही स्वस्थ रहा जा सकता है। आइए आपको बताते हैं इसका सही तरीका।


ये है सही तरीका

सबसे पहले पद्मासन या सुखासन जैसे किसी ध्यानात्मक आसन में बैठ जाएं। कमर व गर्दन को सीधा कर लें। यहां छाती आगे की ओर उभरी रहेगी। हाथों को घुटनों पर ज्ञान मुद्रा में रख लें। आंखें बंद करके आराम से बैठ जाएं व ध्यान को श्वास की गति पर ले आएं। यहां पेट ढीली अवस्था में होगा। अब कपालभाति प्रारंभ करें। इसके लिए नाभि से नीचे के पेट को पीछे की ओर पिचकाएं या धक्का दें।


इसमें पेट की मांसपेशियां आकुंचित होती हैं। साथ ही, सांस को नाक से बलपूर्वक बाहर की ओर फेंकें, इससे सांस के बाहर निकलने की आवाज भी पैदा होगी। अब अंदर की ओर दबे हुए पेट को ढीला छोड़ दें और सांस को बिना आवाज भीतर जाने दें। सांस भरने के लिए जोर न लगाएं, वह स्वयं ही अंदर जाएगी। फिर से पेट अंदर की ओर दबाते हुए तेजी से सांस बाहर निकालें।


कपालभाती के फायदे

कपालभाति प्राणायाम शरीर से टॉक्सिन्स को बाहर निकालने में मदद करता है। इस प्राणायाम के करने से खिलाड़ियों के अंदर खेल-कौशल में वृद्धि होती है। अस्थमा रोगियों को इस प्राणायाम के करने से बहुत ही राहत मिलती है। ये आंखों के नीचे के काले घेरों को भी ठीक करता है। कपालभाति प्राणायाम करने से मेटाबॉलिज्म बढ़ता है और वजन कम होने लगता है।


Also Read: नंगे पैर चलना है सेहत के लिए वरदान, इन बीमारियों में मिलता है आराम


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

त्वचा, वजन और पाचन के लिए बहुत लाभकारी है ये चीज, रोजाना इस्तेमाल से होते हैं कई फायदे

Satya Prakash

पुदीने की पत्तियों का सेवन है बहुत गुणकारी, फायदे जानकर हो जाएंगे हैरान

Satya Prakash

रात में बार-बार ज्यादा टॉयलेट जाना पड़ सकता है भारी, इस गंभीर बीमारी के संकेत

Satya Prakash