Breaking Tube
Lifestyle

Corona को मात देने में बहुत जरूरी है ऑक्सीजन, ब्लड में कैसे बढ़ाएं इसकी मात्रा, जानिए एक्सस्पर्ट की राय

लाइफस्टाइल: दुनियाभर में कोरोना वायरस की दूसरी लहर ने हर किसी को खौफ में डाल दिया है. इस बार का ये वायरस इतना घातक है कि इससे बचाव के लिए इम्युनिटी के साथ आपके शरीर का ऑक्सीजन लेवल भी जबरदस्त होना बहुत जरूरी है. यह वायरस सीधा इंसान के फेफड़ों पर असर करता है. ऑक्सीजन लेवल कम होने पर लोगों को सांस लेने में काफी तक़लीफ़ होने लगती है जिसकी वजह से उन्हें काफी कठिनाई होती है. मानव शरीर के रक्त में ऑक्सीजन की क्या भूमिका होती है? और कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाने के लिए ऑक्सीजन के लेवल को कैसे बैलेंस रखा जाए. तो चलिए बिना देर के आपको बताते हैं


क्या है ऑक्सीजन की कमी-
हमारा शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा ठीक तरीके से नहीं पहुंच पाती है. हमारे रक्त शरीर को ऑक्सीजन पहुंचाने और उसे शरीर के सभी अंगों तक सही तरीके से व्यवस्थित करने का कार्य करता है. खून में ऑक्सीजन की कमी को हाइपोक्सेमिया अथवा ‘ऑक्सीजन की कमी’ कहा जाता है. इससे लंग्स संबंधित विकृतियां मसलन लंग्स कैंसर, न्यूमोनिया, अस्थमा, ब्रोंकाइटिस जैसी बीमारियां उत्पन्न हो सकती हैं, मगर फिलहाल ऐसी स्थिति कोरोना वायरस को आमंत्रित करने के लिए काफी है. रक्त में ऑक्सीजन की कमी से सिर दर्द, सांस फूलने, उलझन महसूस करना, खांसी आना, अथवा पसीना आना जैसे लक्षण दिखते हैं. ऑक्सीजन की बहुत ज्यादा कमी होने से ह्रदय एवं मस्तिष्क काम करना बंद कर देते हैं. इसी से इसकी घातकता का अहसास किया जा सकता है.


कई हेल्थ एक्सपर्ट और ह्रदय रोग विशेषज्ञ का कहना है कि, खून में आमतौर पर रक्त की सामान्य मात्रा लगभग 97 प्रतिशत होती है. 90 प्रतिशत से कम होने पर मस्तिष्क को पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन नहीं मिल पाता जबकि 80 प्रतिशत ऑक्सीजन होने की स्थिति से शरीर के प्रमुख अंगों लंग्स, लीवर, किडनी आदि के खराब होने की संभावना बढ़ती है, जबकि कोरोना संक्रमितों के खून में ऑक्सीजन का स्तर 70 से 50 प्रतिशत तक आ जाता है. यह स्थिति सबसे घातक होती है. यहां तक कि मरीज को वेंटिलेटर पर कृत्रिम ऑक्सीजन से बचाने की मुश्किल कोशिश की जाती है.


कैसे बचें ऑक्सीजन की कमी से-
ऑक्सीजन की कमी होने की वजह से हमारे शरीर में कई तरह की समस्याएं होने लगती है. हमारे शरीर के रक्त में ऑक्सीजन का पहुंचना जरूरी होता है. अगर फेफड़े की जांच में COPD अथवा फेफड़े संबंधी कोई विकार उत्पन्न हुआ है तो मरीज को धूम्रपान नहीं करनी चाहिए. धुएं अथवा प्रदूषण वाली जगहों पर जाने से परहेज करें. नियमित व्यायाम करें. इसके लिए डीप ब्रीथिंग एक्सरसाइज ज्यादा बेहतर होगा. अगर सांस फूलने के कारण व्यायाम नहीं कर पा रहे हैं तो 2-4 किमी पैदल चलें और नियमित योगासन करें. इससे रक्त में ऑक्सीजन का सुचारु रूप से संचार होता है.


ऐसे बढ़ाएं रक्त में ऑक्सीजन की मात्रा-
कोरोना की वजह से देश-दुनिया में मरीजों की संख्या काफी तेजी से बढ़ती नजर आ रही है. ऐसे में मरीजों के साथ आम आदमी को भी काफी सतर्क रहने की जरूरत है, जिन लोगों की इम्युनिटी वीक है, जिसे फेफड़े, किडनी अथवा ह्रदय संबंधित कोई समस्या हो, अथवा जिसकी उम्र 65 साल से ज्यादा हो. फोर्टिस अस्पताल के ह्रदय रोग विशेषज्ञ डॉ. मनीष गुंजन के अनुसार पिछले दिनों ऐसे भी कोरोना पॉजिटिव मरीज देखने को मिले, जिन्हें कोरोना के कोई लक्षण नहीं थे, लेकिन जांच कराने पर कोविड पॉजिटिव पाये गये. ऐसे मरीजों को अपने रक्त में ऑक्सीजन लेवल को लेकर निरंतर सतर्क रहना चाहिए.


कई डॉक्टर्स ने ये प्रूव भी कर दिया है कि कमजोर फेफड़ों पर कोरोना का संक्रमण काफी तेजी से असर करता है. ऐसे में अगर किसी को उचित इलाज नहीं मिल पा रहा है तो यह उनके लिए जानलेवा साबित हो रहा है. ऐसी स्थिति में हमें रक्त में ऑक्सीजन की मात्रा को बढ़ाने के हर संभव उपचार करने चाहिए. जिन लोगों के फेफड़े सुचारु रूप से कार्य नहीं कर रहे हैं, उन्हें बेड पर सीधा नहीं बल्कि पेट के बल अथवा दायें-बाएं करवटें बदलकर सोना चाहिए, ताकि उनका पेट बिस्तर पर ऊपर की तरफ रहे. इससे फेफड़े सही तरीके से कार्य करते हैं और रक्त में ऑक्सीजन का प्रवाह और प्रसार बेहतर रहता है.


रक्त में ऑक्सीजन लेवल बढ़ाने के लिए खानपान के साथ व्यायाम और योग की भी अहम भूमिका होती है. इसके साथ-साथ खानपान से भी रक्त में ऑक्सीजन का बेहतर नियंत्रण रहता है. आर्गेनिक जिलेटिन में कैल्शियम, आयरन और फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है. इससे रक्त में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ाई जा सकती है. शतावरी, जलकुंभी, समुद्री शैवाल तथा अंकुरित अनाज भी खून में ऑक्सीजन की मात्रा को बढ़ाते हैं. किशमिश, खजूर, अदरक और गाजर भी रक्त में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़ाने के अच्छे पर्याय माने गये हैं. ताजे फलों में आम, नींबू, पपीता, तरबूजा अपने विटामिन गुणों के कारण रक्त में ऑक्सीजन की मात्रा को बढाने में सहायक साबित हो सकते हैं.


Also Read:  Lockdown में घटाना है तेजी से वजन, तो बस इन 5 चीजों को करें नाश्ते में शामिल


Also read: इन फूड्स से गर्मी में घटाएं आसानी से वजन, आज ही करें डाइट में शामिल


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

खाना खाने के तुरंत बाद न करें इन चीजों का सेवन, भुगतना पड़ सकता है भारी नुकसान

Satya Prakash

शोधकर्ताओं ने की चमत्कारिक खोज, ‘भगवद् गीता’ से होगा डायबिटीज जैसी कई गंभीर बिमारियों का इलाज

admin

एलोवेरा के फायदे के साथ ही साथ हैं कई नुकसान, इस्तेमाल करने से पहले जान लें ये बातें

Satya Prakash