Breaking Tube
Lifestyle

बरसात के मौसम में बढ़ जाता है डेंगू का खतरा, बचाव के लिए फॉलो करें ये टिप्स

बरसात का मौसम आते ही कई बीमारियां हमारे आस पास घूमने लगती हैं। इनमे से सबसे खतरनाक बीमारी है डेंगू। जो एक मच्छर के काटने से होती है। इस वक्त भी डेंगू का आतंक कई जगह देखा जा रहा है। सरकारें और संस्थाएं लगातार लोगों को डेंगू से बचने के उपाय और लक्षण बता रहीं हैं, ताकि इसको फैलने से रोका जा सके। पर खुद को डेंगू से बचाने के लिए बाहरी सुरक्षा के साथ-साथ आंतरिक सुरक्षा भी जरूरी है। इसलिए हम आपको कुछ ऐसे खाद्य पदार्थों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनकी मदद से डेंगू से लडने की क्षमता बढ़ेगी।


इन चीजों की बढ़ाएं मात्रा

खूब पानी पिएं- पीने का पानी फिट और स्वस्थ रहने के साथ संक्रमण को रोकने के लिए सबसे प्रभावी और सरल तरीकों में से एक है। दिनभर में खुद को संक्रमण से बचाने के लिए खूब पानी पिएं। इससे यूरीन के जरिए आपके शरीर से टॉक्सिक पदार्थ बाहर निकल जाते हैं।


रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाला ड्रिंक- आप घर पर इम्युनिटी बढ़ाने वालाले ड्रिंक को आसानी से तैयार कर सकते हैं। 1 गिलास दूध में थोड़ा पानी, चुटकी भर हल्दी, केसर के 2-3 धागे और थोड़ा सा जायफल डालकर मिक्स करें। स्वाद को बढ़ाने के लिए आप गुड़ का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस इम्यूनिटी बूस्टर ड्रिंक को गर्म या ठंडा दोनों तरह से ले सकते हैं। ये शरीर में प्रोटीन के नुकसान को रोकने और सूजन को कम करने में मदद करता है।


चावल का सूप- इसे चावल कांजी या पेज के नाम से भी जाना जाता है। चावल के सूप में हींग, काला नमक और घी डालकर इसे ले सकते हैं। ये भूख में सुधार और डिहाइडेशन की समस्या को ठीक करता है। इसके अलावा, चावल का सूप इलेक्ट्रोलाइट्स बैलेंस बनाने में मदद करता है।


गुलकंद- गुलकंद का 1 चम्मच पाचन में सुधार, कमजोरी, एसिडिटी और जी मचलना जैसी समस्याओं को रोकने में मदद करता है। आप इसका सेवन भोजन से पहले कर सकते हैं। ये सेहत के लिहाज से कई तरह से लाभदायक है।


सुप्त बद्ध कोणासन- ये आसन पैरों के तलवों को आपस में जोड़कर और पीठ के बल लेटकर किया जाता है। इस आसन से शरीर के दर्द, किडनी और प्रोस्टेट ग्रंथी के साथ कई अन्य समस्याओं को ठीक करने में मदद करता है।


ये हैं डेंगू के लक्षण

डेंगू होने की शुरुआत में मरीजों को सिर में तेज दर्द हो सकता है, मसल पेन और जोड़ों में दर्द से भी लोग परेशान हो सकते हैं। इसके अलावा, तेज बुखार, शरीर में ठंड लगने जैसी कंपकंपाहट, ज्यादा पसीना आना, कमजोरी, थकान, भूख में कमी, मसूड़ों से खून आना और उल्टी भी डेंगू का संकेत हो सकता है। विशेषज्ञों के अनुसार डेंगू के लक्षण समान्यतः 3 से 14 दिनों में दिखाई दे सकते हैं।


वहीं, कुछ लोगों में आंखों के पास दर्द, ग्रंथियों में सूजन, रैशेज जैसी दिक्कत भी लोगों को हो सकती है। एक्सपर्ट्स के अनुसार कुछ मामलों में डेंगू जानलेवा भी हो सकता है। गंभीर मामलों में ब्लड वेसल्स डैमेज हो सकते हैं और प्लेटलेट्स की कमी हो जाती है। ऐसे में सांस लेने में कमी, बेचैनी, लगातार वोमिटिंग, यूरिन में ब्लीडिंग और अत्यधिक पेट दर्द हो सकता है।


Also Read: बरसात के मौसम में डाइजेशन को लेकर है दिक्कत, तो इन 7 तरीकों से बढ़ाएं अपनी पाचन शक्ति


Also Read: पलभर में बदलते मूड की समस्या से हैं परेशान, तो ऐसे करें अपने ‘मूड स्विंग’ को कंट्रोल


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

कोरोना से बचने के लिए पीयें ये इम्यूनिटी बूस्टर जूस, इस मात्रा में करें सेवन

Satya Prakash

तपती गर्मी में नहीं होना चाहते डिहाइड्रेशन का शिकार, तो खाएं ये फल

Satya Prakash

अगर आप भी करते हैं लौकी के जूस का सेवन, तो जान ले यह काम की बातें

Satya Prakash