Breaking Tube
Lifestyle

50 की उम्र में भी दिखना है जवान और खूबसूरत, तो डाइट में शामिल करें ये 6 सुपरफूड्स

लाइफस्टाइल: समय के साथ-साथ जब उम्र बढ़ने लगती है तो कई सारी समस्याएं होने लगती हैं. इसके साथ ही बढ़ती उम्र के साथ खान-पान पर भी ध्यान देना बहुत ज्यादा जरूरी होता है. यह समस्या खासकर 50 की उम्र के पार वालों में होती है. ढलती उम्र के साथ कई बीमारियां घेर लेने की आशंका रहती है और इस उम्र में ध्यान न दिया तो सेहत पर भारी पड़ सकता है. बेहतर होगा कि आहार का विशेष ख्याल रखें. यहां ऐसे 7 खाद्य पदार्थों के बारे में बता रहे हैं, जिनका 50 की उम्र के बाद नियमित रूप से सेवन करना चाहिए.


सेब


सेब का सेवन ब्लड शुगर के स्तर को कंट्रोल कर मधुमेह के खतरे को कम करता है. इनमें औसतन 5 ग्राम फाइबर होता है, जो कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकता है. सेब में क्वेरसेटिन नाम का एक पदार्थ भी होता है जो ब्लड प्रेशर कम करने के लिए जाना जाता है. सेव विटामिन सी, पोटेशियम और एंटीऑक्सिडेंट का एक विश्वसनीय स्रोत भी है.


दही-


जब मांसपेशियों के विकास की बात आती है तो इनके लिए प्रोटीन सबसे अच्छा तरीका होता है. कई अध्ययनों में साबित हो चुका है कि आहार में जितना प्रोटीन दैनिक रूप से होना चाहिए, उस आवश्यता को पूरा करने के अलावा बुजुर्गों को अपने हर भोजन में 25 से 30 ग्राम उच्च गुणवत्ता वाले प्रोटीन को शामिल करना चाहिए.


गाजर-


गाजर शरीर के हर हिस्से को लाभ पहुंचा सकती है, विशेषकर आंखें, मुंह, त्वचा और हृदय. इसका सेवन लो ब्लड प्रेशर और खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करता है और रोगों से लड़ने की क्षमता को बढ़ावा देता है. साथ ही पाचन में भी सुधार लाता है. गाजर का नियमित सेवन कैंसर और हृदय रोग के जोखिम को कम करता है.


चुकंदर-


चुकंदर हमारे शरीर के लिए बहुत स्वास्थ्यवर्धक होता है. चुकंदर नियमित रूप से खाने से भरपूर मात्रा में विटामिन ए और सी, फोलिक एसिड, फाइबर और कैल्शियम, पोटेशियम, मैंगनीज और आयरन जैसे मिनरल्स मिलेंगे. यह एंटीऑक्सिडेंट से भरपूर है जो कैंसर के खतरे को कम कर सकता है. चुकंदर को व्यायाम में सुधार, डेमेंशिया को रोकने और ब्लड प्रेशर को कम करने के लिए भी कारगर है.


बीन्स-


जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है टाइप 2 डायबिटीज और हाई कोलेस्ट्रॉल जैसी समस्याओं का खतरा बढ़ जाता है. अपने रोजाना के आहार में बीन्स को शामिल करना इन जोखिमों को कम करने का असरदार तरीका है. हर दिन केवल तीन चौथाई कप बीन्स या दाल का सेवन खराब कोलेस्ट्रॉल को 5 प्रतिशत तक कम कर देता है. बीन्स ब्लड शुगर के स्तर में भी सुधार करने में मदद करता है.


ओट्स-


पुरुषों के 45 की उम्र और महिलाओं के 55 की उम्र पार करने के बाद दिल से जुड़ी बीमारियों का जोखिम बढ़ जाता है. इसलिए कोलेस्ट्रॉल को कम करने वाले खाद्य पदार्थों को अपने आहार में शामिल करना अच्छा विचार है. एक प्रकार के घुलनशील फाइबर बीटा ग्लूकेन के कारण ओट्स इस मामले में बहुत अच्छा आहार माना जाता है. पाचन के दौरान घुलनशील फाइबर कोलेस्ट्रॉल को सुधारता है और धमनियों के पीछे रहने की बजाए इसे शरीर से बाहर निकलने में मदद करता है. रोजाना कम से कम 3 ग्राम बीटा ग्लूकेन का लक्ष्य रखें, ताकि खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को 5 से 10 प्रतिशत कम किया जा सके.


Also Read: अगर जल्द चाहतें हैं डायबिटीज कंट्रोल, तो अपनाएं ये संतुलित आहार


Also Read: सुबह जल्दी उठने में आता है आलस ?, तो इन तरीकों से बदल जाएगी आपकी जिंदगी


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

तनाव से लेकर इन बीमारियों में भी फायदेमंद है मखाने का सेवन, खाली पेट खाने से होंगे अद्भुत लाभ

Satya Prakash

लाल प्याज से ब्लड शुगर को कर सकते हैं कंट्रोल, डायबिटीज में भी है रामबाण

Satya Prakash

खंडित मूर्तियों की पूजा करना होता है बहुत बड़ा अपशगुन, चुकाना पड़ सकता है भारी नुकसान

Satya Prakash