Breaking Tube
Lifestyle

अगर आपके भी पैरों में नस चढ़ने से होता है असहनीय दर्द, तो इन नुस्खों में मिलेगा तुरंत लाभ

लाइफस्टाइल: पैरों में नस चढ़ जाना आम बात है, कई बार तो एक ही पोज़ में ज्यादा देर तक बैठने या सोते समय भी हमारे पैरों की नस चढ़ जाती है. जिससे अचानक से काफी दर्द भी होने लगता है. लेकिन कभी-कभी तो ये दर्द इतना तेज होता है की हमारा खड़ा हो पाना भी काफी मुश्किल हो जाता है. कहा जाता है कि बार बार नस चढ़ने का कारण कमजोरी हो सकती है. नस चढ़ना मांसपेशियों के सिकुड़ने से बन सकती है.


शरीर की मांसपेशियों में खराबी समस्या के कारण भी हमारी कई कोशिकाओं में दर्द होने लगता है. शरीर में होने वाली कमजोरी की वजह से भी यह दर्द बना रह सकता है. रास्ते में चलते समय भी कभी-कभी नस चढ़ जाने से चलना भी मुश्किल हो जाती है. हालांकि ये ज्यादा खतरनाक नहीं होता है. इससे आप ठीक हो जाते हैं. मांसपेशियों पर दबाव पड़ने के कारण नस पर नस चढ़ती है. थकान के कारण पैरों की नस पर नस चढ़ सकती है.


Sharp Shooting Pain in Leg That Comes and Goes: Causes and Treatment

सोते समय हाथ और पैर में थोड़ा दबाव पड़ने से भी नस दब जाने के कारण भी सुन्न हो जाता है. यही नहीं पैरों में सीढ़ी चढ़ते हुए घुटने से नीचे के हिस्सों में खिचांव आना, गर्दन के आस-पास के हिस्सों में ताकत की कमी महसूस करना नस पर नस चढ़ने के लक्षण हो सकते हैं. इस दौरान कई बार तेज दर्द होने लगता है जिसे हम सहन नहीं कर पाते हैं.


अगर आपको इस तरह की समस्या हो तो आप केले का सेवन कर सकते हैं. केला एक बहुत ही बेहतरीन जरिया है जो इस तरह की चीजों में हमारा इलाज कर सकता है. इसके अलावा शकरकंद, संतरे का जूस, चुकंदर, आलू, खजूर, दही, टमाटर का नियमित सेवन करने से नस चढ़ने की समस्या से छुटकारा मिल सकता है. सर्दियों के दिनों में रात को सोते वक्त सरसों के तेल की मालिश करने से भी आराम मिलता है.


इसके अलावा अगर आपके पैर या हाथ की नस चढ़ जाए तो उस जगह पर आप बर्फ की सिकाई भी कर सकते हैं. तेज दर्द होने पर नमक की पोटली बनाकर गर्म सिकाई भी कारगार हो सकती है. इसी के साथ आप पुदीने का सेवन भी कर सकते हैं. आप तेल की मालिश भी कर सकते हैं. हल्दी वाले दूध का सेवन भी फायदेमंद साबित होता है.


इस कारण चढ़ती है नस पर नस-


शरीर में पानी की कमी होना.
ब्लड में पोटेशियम, कैल्शियम की कमी
मैग्नीशियम स्तर कम होना
खनिज लवण की मात्रा कम होना.
किसी बिमारी के कारण कमजोरी होना.


Also Read: सेहत के लिए अमृत है गिलोय, शरीरिक कमजोरी के साथ इन विकारों को करता है दूर


Also Read: इमली का बीज होता है बहुत लाभकारी, फायदे जानकर आज से ही शुरू कर देंगे सेवन


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

घर पर ही सिर्फ अनार के इस्तेमाल से पाएं बेदाग़ और निखरी त्वचा, ऐसे करें प्रयोग

Satya Prakash

सावधान! इस लड़की ने मोबाइल का इस तरह किया इस्तेमाल कि हो गए आंखों में 500 छेद

admin

गोल्ड मेडलिस्ट लड़की के प्यार में पागल हुए राष्ट्रपति, ख़ूबसूरती देखकर रह जायेंगे दंग

Satya Prakash