Breaking Tube
Lifestyle

Covid 19 के हर मरीज को नहीं होता हाई फीवर, आप भी रखें ख्याल

अगर आप भी ये सोच रहे हैं कि Corona के लक्षणों में हाई ग्रेड फीवर भी शामिल है तो थोड़ा सम्भल जाइए। दरअसल, उत्तराखंड में कई ऐसे Corona के मरीज पाए गए हैं जिनमें है फीवर नहीं पाया गया। इसलिए हम आपको बता रहे हैं कि Corona virus के लक्षण क्या क्या है, जिसको देखने के बाद तुरन्त ही हेल्पलाइन पर फोन करना चाहिए। मरीजों की इम्यूनिटी पॉवर पर भी Corona के लक्षण डिपेंड करते है।


मिले हैं ये लक्षण

अगर देहरादून के अस्पताल से शुक्रवार को डिस्चार्ज हुए ट्रेनी आईएफएस स्वरूप दीक्षित कोरोना वायरस से सिर्फ पांच दिन ही प्रभावित रहे। दूसरी रिपोर्ट में ही वह नेगेटिव आ गए और नौवें दिन अस्पताल से उन्हें छुट्टी मिल गई। दीक्षित को लो ग्रेड फीवर आया और उनके सूंघने व स्वाद लेने की शक्ति खत्म हो गई। अस्पताल में एक अन्य कोरोना पॉजीटिव ट्रेनी आईएफएस पिछले 12 दिन से भर्ती हैं। कोरोना की वजह से उनका गला खराब हुआ और दो दिन तक हल्के बुखार के साथ नाक बंद रही। कोरोना से मुक्ति के लिए उन्हें पांच बार सैंपल टेस्ट कराने पड़े, ताजा रिपोर्ट नगेटिव आ चुकी है और डिस्चार्ज होने के लिए एक अन्य नेगेटिव रिपोर्ट का इंतजार है। 


Also Read: भारत पर जवाबी कार्रवाई की धमकी देने वाले अमेरिकी राष्ट्रपति के बदले सुर, दवा पाते ही बोले- शानदार नेता हैं मोदी


नहीं आ रहा तेज बुखार

अगर तीसरे मरीज की बात करें तो आईएफएस के एक ट्रेनी को तो बुखार की शिकायत तो सामने नहीं आती। उन्हें कोरोना की वजह से सिर्फ बदन टूटने और थकान की शिकायत रही। उनकी एक रिपोर्ट तो निगेटिव आ गई एक और रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद उन्हें डिस्चार्ज मिल जाएगा। कोरोना पॉजीटिव अमेरिकी नागरिक भी सामान्य हैं। तीन दिन की सामान्य खांसी के अलावा उनमें कोरोना का कोई गंभीर लक्षण नहीं दिखाई दिया है। 


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

अगर आप भी गर्म चाय पीने के हैं शौक़ीन तो हो जाएं सावधान, हड्डियां हो सकती हैं खोखली

Satya Prakash

ब्रोकली सेहत के लिए है वरदान, इस बीमारी में करता है अचूक काम

Satya Prakash

सावधान: अगर आप को भी 30 की उम्र में दिखते हैं ये लक्षण, तो इस बीमारी से हो सकते हैं ग्रस्त

Satya Prakash