Breaking Tube
Lifestyle

ठंडी शुष्क हवाओं में बढ़ जाता है अस्थमा का खतरा, ऐसे करें बचाव

लाइफस्टाइल: सर्दियों के मौसम में लोगों को कई तरह की शारीरिक समस्याएं होना आम बात हैं, जिसमें सर्दी-खांसी से लेकर अस्थमा जैसी बीमारियां लोगों को काफी काफी तकलीफ देती हैं. अधिक उम्र के लोगों में यह समस्या श्वसन क्रिया के कारण काफी तकलीफ देती है. हालांकि इस समस्या में कुछ सावधानियां बरतकर इसको नियंत्रित किया जा सकता है. सर्दियों में ज्यादा दिक्कत बढ़ जाने की वजह से मरीजों को अस्थमा और अटैक का खतरा बना रहता है. अस्थमा और अटैक आने की वजह कुछ और नहीं बल्कि प्रदूषण, सिगरेट का धुंआ और जुकाम आदि भी हो सकता है.


वहीँ सर्दियों की वजह से अस्थमा के मरीजों के लिए काफी सावधानियां बरतना बहुत जरूरी होता है. इस ठंड और शुष्क हवाओं से अस्थमा के मरीजों में दौरा पड़ने का खतरा भी बढ़ जाता है. कुछ हेल्थ एक्सपर्ट ने इससे बचाव और सावधानियां का तरीका बताया है जो आज हम आपको बताने जा रहे हैं.


बाहर कम निकलें-
अस्थमा के मरीजों में इस तरह के अटैक से बचाव के लिए यह बहुत जरूरी है कि, ज्यादातर कम तापमान में रुकने की कोशिश करें. बेवजह बाहर न निकलें. अगर आपको बाहर जाना पड़ जाए, तो सांस लेने से पहले अपने नाक और मुंह को स्कार्फ से अच्‍छी तरह ढक लें. इससे हवा नहीं लगेगी और दिक्‍कत नहीं बढ़ेगी.


डाइट पर दें ध्यान-
सर्दियों के मौसम में खान-पान पर ज्यादा ध्यान देने की जरूरत है, क्योंकि आहार आपका संतुलित नहीं है तो यह आपके शरीर के लिए सही नहीं है. सर्दी में तरल पदार्थों का बह सेवन करते रहना चाहिए. यह आपके फेफड़ों में बलगम को पतला रख सकता है और इसलिए यह समस्‍या नियंत्रण में रह सकती है.


इंफेक्‍शन से बचें-
उन लोगों से बचाव रखें जो बीमार हों. इससे आप किसी भी तरह के वायरल संक्रमण से बच पाएंगे और बीमार नहीं पड़ेंगे. साथ ही आपकी समस्‍या नहीं बढ़ेगी.


घर को रखें साफ-
घर में धूल-मिट्टी, गंदगी या इनडोर एलर्जी को दूर करने के लिए अपने घर को पूरी तरह साफ रखें. घर को वैक्यूम करें और धूल को न रहने दें. क्‍योंकि अक्‍सर धूल, मिट्टी की वजह से भी यह समस्‍या बढ़ने लगती है. धूल के कण साफ करने के लिए हर हफ्ते अपनी चादर और कंबल को गर्म पानी में धोएं.


अस्थमा अटैक को रोकने के लिए कुछ तरीके अपनाएं-
-व्यायाम करने से 15 से 30 मिनट पहले अपने इन्हेलर का उपयोग करें. यह आपके वायुमार्ग को खोलता है, ताकि आप आसानी से सांस ले सकें.
-अस्थमा का दौरा पड़ने की स्थिति में अपने साथ एक इनहेलर जरूर रखें.
-वर्कआउट करने से पहले कम से कम 10 से 15 मिनट तक वार्मअप करें.
-जिस हवा में आप सांस लेते हैं, उसे गर्म करने के लिए अपने चेहरे पर मास्क या स्कार्फ पहनें.


अस्‍थमा अटैक के मूल कारण-
-तंबाकू का धुआं
-धूल के कण
-जानवरों आदि से एलर्जी
-तनाव
-बैक्टीरियल या वायरल संक्रमण


Also Read: मिठास के लिए चीनी की जगह इस्तेमाल करें ये 5 चीजें, ब्लड प्रेशर समेत कई बीमारियों में कारगर


Also Read: प्रकृति का खजाना है गोंद का लड्डू, जानिए सर्दियों में इसके सेवन के अचूक फायदे


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

खिचड़ी खाने के हैं कई लाभ, फायदे जानकार हो जाएंगे हैरान

Satya Prakash

अगर शरीर के इन अंगों में है समस्या, तो हो सकते हैं Corona Virus के लक्षण

Satya Prakash

International Yoga Day 2020: दिल को स्वस्थ बनाये रखने के लिए करें यह 3 योग

Satya Prakash