Breaking Tube
Lifestyle

अगर सर्दियों में आपकी भी स्किन हो जाती है ड्राई, तो अपनायें ये घरेलू नुस्खा

लाइफस्टाइल: सर्दियाँ जैसे ही शुरू होती हैं वैसे ही उसका प्रभाव हमारे शरीर पर दिखने लगता है. हमारी स्किन रूखी और ड्राई होने लगती है जिससे हमें रुखापन महसूस होने लगता है. रूखेपन की वजह से हमारे चेहरे की चमक खोने लगती है, और साथ ही हाथ-पैर भी अच्छे नहीं दीखते हैं. ऐसे में हमारे शरीर पर लाल चकत्ते और घाव भी होने लग जाते हैं. बहुत कम समय में ही सही, सूखी त्वचा का एलर्जी से भी संबंध पाया जाता है. अगर सर्दियों में आपकी त्वचा भी ड्राई हो जाती है तो चिंता करने की कोई बात नहीं. क्योंकि आप सूखी त्वचा से घरेलू नुस्खों का इस्तेमाल कर निजात पा सकते हैं.


जब हमारी त्वचा रूखी होने लगती है तो हम उसकी नमी बनाने के लिए स्किन मॉइस्चराइजर का इस्तेमाल करने लगते हैं. वैसे मॉइस्चराइजर का चयन करने से पहले हमें कई बातों का ध्यान भी रखना बहुत जरूरी होता है. कि मॉइस्चराइजर गाढ़ा और चिकना होना चाहिए. क्योंकि ऐसे मॉइस्चराइजर ज्यादा प्रभावशाली माना जाता है. बता दें कि मॉइस्चराइजर आपकी त्वचा को नम बनाए रखते हैं.


Image result for winter dry skin

अक्सर जिस भी मॉइस्चराइजर्स का हम इस्तेमाल करते हैं इसमें सेरेमाइड्स, ग्लिसरीन, सॉर्बिटॉल, हायएल्यूरोनिक एसिड और लेसिथिन होते हैं. वह स्किन के लिए अच्छे होते हैं. वहीं दूसरा पेट्रोलेटम, सिलिकॉन, लेनोलिन और मिनरल ऑइल वाले मॉइस्चराइजर भी नमी को त्वचा में ही कायम रखते हैं.


रूखी त्वचा से बचने के लिए हम गर्म पानी से नहाते और और पीते भी हैं. लेकिन हमें नहाने के लिए कम से कम 5 से 10 मिनट तक का समय सीमित कर देना चाहिए. क्योंकि आप गर्म पानी से जितना ज्यादा नहाएंगे त्वचा की तैलीय परत उतनी ही कम होगी. अगर पानी ज्यादा ठंडा हो गया है तो बहुत गर्म पानी की जगह गुनगुने पानी का इस्तेमाल करें. साथ ही साबुन का इस्तेमाल भी हमें कम ही करना चाहिए.


Image result for winter dry skin

इन दिनों में खुशबूदार साबुन, अल्कोहल से दूरी बनाना भी अच्छा माना जाता है. इसके अलावा सर्दियों में बाथ स्पंज, स्क्रब ब्रश और कपड़े धोने को भी टालें. वहीं नहाने के बाद शरीर को सूखाने के दौरान टॉवेल को जोर से रगड़ना भी अच्छा माना जाता है.


सर्दियों के मौसम में स्किन की नमी को बनाए रखने के लिए नहाने या हाथ धोने के तत्काल बाद मॉइस्चराइजर जरूर लगाएं. वहीं पेट्रोलियम जैली और गाढ़े क्रीम्स का चिपचिपापन टालने के लिए पहले उसे कुछ देर हाथ में मलें फिर शरीर के प्रभावित हिस्से पर लगाना चाहिए. वहीं स्किन को खुजाना भी अच्छा नहीं होता. खुजली वाले हिस्से पर कोल्ड पैक लगाने से राहत मिलती है. वहीं सबसे जरूरी है खुजली पैदा करने वाले वूलन स्वेटर, जैकेट सीधे शरीर पर न पहनें. पहले कॉटन का कपड़ा पहनें, उसके ऊपर ऊनी कपड़े पहनना सही माना जाता है.


Also Read:जिम में एक्सरसाइज करने की जगह रोजाना देखें एक हॉरर फिल्म, इस आसान प्रक्रिया से कम होगा आपका वजन


Also Read:सर्दियों में धूप सेंकना है अत्यंत लाभकारी, शरीर और हड्डियां होती हैं मजबूत


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

पेट की कई समस्याओं में लाभदायक होते हैं गोलगप्पे, हफ्ते में दो बार सेवन से नहीं होती ये बीमारियाँ

Satya Prakash

शोध में खुलासा: सेल्फी लेने की आदत है जानलेवा, स्मार्टफोन के इस्तेमाल से हो रही गंभीर बीमारियां

Satya Prakash

ग्रीन टी शारीरिक ही नहीं मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी है फायदेमंद, इन 7 परेशनियों से मिलता है छुटकारा

Satya Prakash