UP के 10 जिलों में ओमिक्रॉन की एंट्री, 24 घंटे में 992 कोरोना केस, जानें कहां हैं कितना खतरा…?

उत्तर प्रदेश में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं. अगर आंकड़ों की माने तो मंगलवार को 24 घंटे में कोरोना के 992 नए केस सामने आने के बाद चिंता और बढ़ गई. सोमवार (572 केस) की तुलना में मंगलवार को कोरोना के नए केसों की संख्या दोगुनी थी. बड़ी बात ये है कि, यूपी के अब दस जिलों में कोरोना के नए वेरिएंट ओमिक्रॉन ने दस्तक दे दी है. जिसकी वजह से सीएम योगी आदित्यनाथ ने सख्ती बरतने के निर्देश जारी किए हैं.

जानें कहां सामने आए ओमिक्रॉन के केस

जानकारी के मुताबिक, यूपी में सामने आए 23 नए ओमिक्रॉन मामलों में लखनऊ के आठ, मेरठ के पांच, गाजियाबाद के तीन, मुरादाबाद, कानपुर, आगरा के दो-दो और महाराजगंज के एक केस शामिल हैं. इससे पहले मुजफ्फरनगर (3), गाजियाबाद (2), रायबरेली (1), मेरठ (1), गौतमबुद्ध नगर (1) सहित कुल आठ ओमिक्रॉन के केस सामने आए थे. साथ ही जीनोम अनुक्रमण के लिए कम से कम 50 सैंपल लंबित हैं.

केवल कोरोना केसों की बात करें तो मंगलवार को बीते 24 घंटे में कोरोना के 992 नए केस सामने आने के बाद चिंता और बढ़ गई. गौतमबुद्ध नगर (165), गाजियाबाद (174), लखनऊ (150) और मेरठ (102) सहित बड़े शहरों में कोरोना के केसों में बड़ा उछाल देखने को मिल रहा है. इसके अलावा 13 अन्य शहरों में दोहरे अंक में कोरोना के केस आए हैं. बस राहत की बात है कि बीते 24 घंटे में कोरोना से एक भी मौत नहीं हुई है. इस दौरान 77 लोग कोरोना से ठीक हुए हैं और सक्रिय मामलों की संख्या बढ़कर 3,173 हो गई है.

हर जगह अनिवार्य होगा मास्क

सीएम योगी ने कोरोना के हालात के मद्देनजर निर्देश दिया कि प्रदेश भर में कक्षा 10वीं तक के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों (School Closed in UP) को मकर संक्रांति यानी 14 जनवरी तक के लिए बंद कर दिया गया है. हालांकि, इस दौरान स्कूली छात्रों का टीकाकरण जारी रहेगा. इसमें 6 जनवरी से नाइट कर्फ्यू रात 10 से सुबह 6 तक लागू करने का भी फैसला लिया गया. मीटिंग में ये भी कहा गया कि जिन जिलों में कोरोना के एक्टिव मामले एक हजार से ज्यादा हो जाए, वहां जिम, स्पा, सिनेमाहॉल, बैंकेट हॉल, रेस्टोरेंट इत्यादि सार्वजनिक स्थलों को 50 फीसदी क्षमता के साथ संचालित किया जाए.

इसके साथ ही शादी समारोह का आयोजन बंद जगहों पर हो और एक समय में 100 से अधिक लोगों की सहभागिता ना हो. वहीं खुले स्थान पर ग्राउंड की कुल क्षमता के 50 फीसदी से अधिक लोगों के उपस्थिति की अनुमति न दी जाए. इसके साथ ही मास्क और सैनिटाइजर की अनिवार्यता भी आवश्यक है. राज्य के सभी सरकारी, अर्धसरकारी, निजी, ट्रस्ट आदि संस्थाओं, कंपनियों, ऐतिहासिक स्मारक, कार्यालयों, धार्मिक स्थलों, होटल-रेस्त्रां, औद्योगिक इकाइयों में तत्काल प्रभाव से कोविड हेल्प डेस्क बनाए जाएंगे. इसके अलावा जरूरत के अनुसार डे केयर सेंटर भी स्थापित होंगे. बिना स्क्रीनिंग/सैनिटाइजेशन के किसी को परिसर में प्रवेश की अनुमति नहीं होगी.

also read : UP Corona Guidelines: CM योगी ने जारी की नई गाइडलाइन, स्कूल से लेकर शादियों तक के लिए बनाए गए नए नियम

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )