पाकिस्‍तान में अलग ‘इस्‍लामिक देश’, जिहाद का ऐलान, घबराई शहबाज सरकार भेज रही मौलाना

पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान में तहरीक-ए-तालिबान पाकिस्‍तान (TTP) आतंकियों के पाकिस्‍तान के खैबर पख्‍तूनख्‍वा प्रांत के कबायली इलाके में शरिया कानूनी से शासित क्षेत्र बनाने की मांग और पाकिस्‍तान के खिलाफ जिहाद के ऐलान से शहबाज सरकार घबरा गई है. पाकिस्‍तानी सैनिकों के सैकड़ों बच्‍चों की हत्‍या करने वाले टीटीपी आतंकियों को मनाने के लिए अब शहबाज सरकार पाकिस्‍तानी मौलानाओं का एक दल अफगानिस्‍तान भेज रही है. ये मौलाना टीटीपी आतंकियों और पाकिस्‍तान सरकार के बीच मध्‍यस्‍थता कर रहे तालिबानी गृहमंत्री सिराजुद्दीन हक्‍कानी से मुलाकात करेंगे.

एक्‍सप्रेस ट्रिब्‍यून की रिपोर्ट के मुताबिक, पाकिस्‍तान सरकार चाहती है कि टीटीपी शरिया कानून से शासित इलाका बनाने और जिहाद के ऐलान से पीछे हट जाए, लेकिन आतंकी अभी भी अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, एक स्‍थानीय जिरगा (स्थानीय नेताओं का समूह) टीटीपी को केवल सीजफायर के लिए मना सकी है. पाकिस्‍तान के 13 मौलाना अब काबुल जा रहे हैं. इसके प्रमुख मुफ्ती ताकी उस्‍मानी बताए जा रहे हैं. इसमें खैबर-पख्‍तूनख्‍वा इलाके के उलेमा भी शामिल किए जाएंगे जिनका हक्‍कानी नेटवर्क के साथ करीबी संबंध है. टीटीपी के प्रवक्‍ता ने भी पुष्टि की है कि पाकिस्‍तानी दल काबुल आ रहा है.

ये पाकिस्‍तानी उलेमा टीटीपी कमांडरों के साथ काबुल में आमने-सामने की बैठक करेंगे. पाकिस्‍तानी उलेमा सिराजुद्दीन हक्‍कानी की मदद लेंगे, ताकि टीटीपी के साथ सीजफायर को और ज्‍यादा प्रभावी बनाया जा सके. यह प्रतिनिधिमंडल टीटीपी को यह मनाने की कोशिश करेगा कि वे आदिवासी इलाके को स्‍वायत्‍त इलाका बनाने की मांग को छोड़ दें जिसे पाकिस्‍तानी संसद ने एक प्रस्‍ताव पारित करके खैबर-पख्‍तूनख्‍वा प्रांत का हिस्‍सा बना दिया था.

इसके अलावा टीटीपी ने पाकिस्‍तान की सरकार के खिलाफ जिहाद छेड़ रखा है. पाकिस्‍तानी मौलाना अब टीटीपी को यह जिहाद बंद करने के लिए मनाने की कोशिश करेंगे. पाकिस्‍तान की सूचना मंत्री का कहना है कि टीटीपी के साथ हो रही इस ताजा बातचीत में सरकार और पाकिस्‍तानी सेना दोनों ही शामिल हैं. पाकिस्‍तान में टीटीपी के साथ हो रही विवादित डील पर विरोध तेज हो गया है. वहीं पाकिस्‍तान के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो जरदारी ने कहा है कि संसद को नई पहल पर विश्‍वास में लिया जाना चाहिए. टीटीपी के प्रवक्‍ता ने भी पुष्टि की है कि पाकिस्‍तानी दल काबुल आ रहा है.

Also Read: आमिर लियाकत: 31 साल छोटी लड़की से शादी, न्यूड वीडियो हुआ था लीक, ड्रग्स लेते आए थे नजर, विवादों में रहने वाले पाकिस्तानी सांसद की मौत

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )