UP Police मुख्यालय पहुंचे PM मोदी, गृहमंत्री ने किया था DGP सम्मेलन का उद्घाटन

 

कल लखनऊ स्थित यूपी पुलिस मुख्यालय में गृहमंत्री अमित शाह ने डीजीपी सम्मेलन की शुरुआत कर दी। वहीं देर शाम पीएम मोदी भी लखनऊ आ गए थे। आज सुबह से पीएम मोदी डीजीपी सम्मेलन के मुख्य अतिथि बनकर उसमे भाग लेने के लिए पुलिस हेड क्वार्टर पहुंच गए है।। बता दें कि शनिवार को यानी आज 10 घंटे तक लखनऊ में गोमती नगर विस्तार स्थित प्रदेश पुलिस के मुख्यालय में रहेंगे। वह पुलिस महानिदेशकों व महानिरीक्षकों की 56वीं आल इंडिया कांफ्रेंस के विभिन्न सत्रों में शामिल होंगे। इस दौरान राज्यों एवं सुरक्षा एजेंसियों के शीर्ष पुलिस अफसरों के साथ कई गंभीर मुद्दों पर चर्चा होनी है।

आज पहुंचे पीएम मोदी

जानकारी के मुताबिक, 20 नवंबर यानी कि आज सुबह 9:10 बजे पीएम मोदी राजभवन से सड़क मार्ग के जरिए डीजीपी मुख्यालय पुलिस हेड क्वार्टर पहुंचे हैं। शाम 7:15 बजे प्रधानमंत्री डीजीपी मुख्यालय से वापस राजभवन पहुंचेगे और रात्रिभोज करेंगे। 20 नवंबर को भी पीएम मोदी राजभवन में ही ठहरेंगे और 21 नवंबर को सुबह 9 बजे के आस-पास फिर डीजीपी मुख्यालय पहुंचकर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे। जिसके बाद वो वापस दिल्ली रवाना होंगे।

पीएम मोदी 2014 से लगातार डीजीपी सम्मेलन में न सिर्फ शामिल हो रहे हैं बल्कि गहरी दिलचस्पी लेते हैं। पहले जहां प्रधानमंत्री की प्रतीकात्मक उपस्थिति होती थी वहीं अब वह सम्मेलन के सभी सत्रों में भाग लेते हैं। बीते वर्ष कोरोना संक्रमण के चलते इस कार्यक्रम का वर्चुअल आयोजन हुआ था। जबकि वर्ष 2014 से पूर्व तक डीजीपी सम्मेलन का आयोजन दिल्ली में होता था। वर्ष 2014 से इस वर्तमान केंद्र सरकार ने सम्मेलन का आयोजन दिल्ली के बाहर आरंभ कराया था। जिसके बाद असम, गुजरात, तेलंगाना, मध्यप्रदेश व महाराष्ट्र में इसका आयोजन हो चुका है। उत्तर प्रदेश का ये पहला एक्सपीरिएंस है, जब डीजीपी सम्मलेन लखनऊ में आयोजित हो रहा है।

गृहमंत्री ने किया उद्घाटन

इस कार्यक्रम के पहले यानी कि उद्घाटन के दिन गृहमंत्री अमित शाह ने राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के डीजीपी, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों व केंद्रीय पुलिस संगठनों के प्रमुखों के साथ तटीय सुरक्षा, वामपंथी उग्रवाद, नारकोटिक्स, साइबर क्राइम तथा सीमा प्रबंधन जैसे सुरक्षा से जुड़े मुद्दों पर विचार विमर्श किया और इन विषयों पर गंभीरता से ध्यान केंद्रित करने का निर्देश दिया। सम्मेलन में चर्चा किए जाने वाले समसामयिक सुरक्षा मुद्दों पर राज्यों/केंद्रशासित प्रदेशों के 200 से अधिक वरिष्ठ अधिकारियों से उनके विचार मांगे गए। 350 से अधिक वरिष्ठ अधिकारी विभिन्न राज्यों में स्थित आइबी कार्यालयों से वर्चुअल माध्यम से सम्मेलन का हिस्सा बने।

ALSO READ: गाजियाबाद: ‘आपसे मिलने आ जाऊंगा लेकिन SP ग्रामीण पर भरोसा नहीं’, निलंबित इंस्पेक्टर ने SSP को किया मैसेज

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )