Breaking Tube
Police & Forces

कोरोना: UP 112 के जांबाजों को सलाम, संकट की घड़ी में स्वेच्छा से ली ड्यूटी

एक तरफ पुलिस लोगों को लॉक डाउन में घर में रहने की अपील कर रही है, वहीं दूसरी तरफ कुछ ऐसे पुलिसकर्मी हैं को लॉक डाउन होने से घरों में फंस गए हैं, अब उन्होंने प्रशासन को अर्जी भेज कर 21 दिन तक ड्यूटी लगाने की बात कही है। ऐसे पुलिसकर्मियों का जज्बा देखकर अफसरों ने भी उनको ग्रह जनपद में ही तैनाती देकर वहां की पुलिस की मदद करने कई बात कहीं है। प्रदेश भर में ऐसे 14 जवान हैं, जिनको निवेदन के बाद तैनाती दी गई है।


यूपी 112 के एडीजी ने दी जानकारी

जानकारी के मुताबिक, यूपी 112 के एडीजी असीम अरुण ने बताया कि कई अचानक से लॉक डाउन होने की वजह से छुट्टी पर गए हुए पुलिसकर्मी अपने घरों में ही फंस गए हैं। ऐसे में उनके से कई पुलिसकर्मी ऐसे है जो ड्यूटी करने के इच्छुक है। इन पुलिसकर्मियों ने खुद ड्यूटी करने की इच्छा जाहिर की है। ये खबर जैसे ही अफसरों तक पहुंची तो पहले तो पुलिसकर्मियों के जज्बे को सलाम किया गया इसी के साथ तत्काल प्रभाव से लॉक डाउन तक उन्हीं के गृह जनपद ने उन्हें तैनाती दे दी गई।


Also Read: यूपी: लॉकडाउन के बावजूद सड़कों पर तफरी काटने वालों को सबक सिखा रही आगरा पुलिस


बता दें कि मुख्य आरक्षी हरीराम राजपूत को कानपुर नगर से झांसी, कांस्टेबल अनुज कुमार व सोनू कुमार को लखनऊ से मेरठ, लखनऊ में तैनात कृष्ण कुमार को बुलंदशहर, संजीव कुमार को कानपुर नगर से झांसी, राहुल कश्यप को अमरोहा से बागपत, अविलाश को कानपुर देहात से मथुरा, अंकित कसाना को कानपुर नगर से नोएडा, सुजान सिंह को कन्नौज से झांसी, सोनू कुमार को सुल्तानपुर से हाथरस, चन्द्र शेखर चौहान को उन्नाव से जौनपुर, महिला कांस्टेबल पारुल को अलीगढ़ से कानपुर देहात, सत्य प्रकाश को श्रावस्ती से देवरिया जिले में लॉक डाउन तक ड्यूटी करने की अनुमति दी गई है।


Also Read:  Lockdown में लोगों की ऐसे मदद करेगी UP Police, DGP ने दी जानकारी


सबसे पहले महिला सिपाही ने जताई थी इच्छा

सबसे पहले ड्यूटी करने की इच्छा कानपुर नगर में यूपी 112 की पुलिस रिस्पांस व्हीकल पर तैनात महिला सिपाही मनीषा पवार ने जताई थी। मनीषा पवार 18 मार्च को 7 दिन के आकस्मिक अवकाश पर कानपुर से अपने गृह जनपद हापुड़ गई थीं। लॉक डाउन घोषणा सुनने के बाद मनीषा पवार ने व्हाट्सएप के माध्यम से एक प्रार्थना पत्र दिया, जिसमें 21 दिनों के लिए जो जहां हैं वहीं रुक जाने का ज़िक्र था। मनीषा ने लिखा था कि उसको कानपुर पहुंचने में दिक्कत होगी, लिहाजा मनीषा ने एडीजी से गुजारिश की कि संकट के इस दौर में उसे हापुड़ जिले में ही सेवा का मौका दिया जाए। मनीषा के प्रार्थना पत्र पर असीम अरुण ने फौरन उसे हापुड़ संबद्ध करने का आदेश जारी कर दिया। लॉक डाउन ख़त्म होते ही मनीषा स्वतः अपने तैनाती के जिले कानपुर चली जाएगी।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

बाराबंकी: चुनाव आयोग की परमिशन के बाद SP सतीश कुमार निलंबित

Jitendra Nishad

बाराबंकी : तेज रफ्तार ट्रक ने होमगार्ड को मारी जोरदार टक्कर, मौके पर ही मौत, परिवार में मचा कोहराम

BT Bureau

खुशखबरी: नए साल पर UP Police अफसरों को मिलेगा प्रमोशन का तोहफा, 5 जनपदों के कप्तान भी शामिल

S N Tiwari