Breaking Tube
Police & Forces UP News

औरैया: भीषण सड़क हादसे में गई दारोगा की जान, 10 दिन पहले ही मिली थी पोस्टिंग

उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में हुए एक सड़क हाफसे में दारोगा की मौत हो गई। दरअसल, हादसे के वक्त दारोगा दिबियापुर से औरैया जा रहे थे। रास्ते में ही उनकी कार अनियंत्रित होकर एक पेड़ से टकरा गई। मौके पर ही उनकी मौत हो गई। राहगीरों द्वारा इसकी जानकारी पुलिस को दी गई। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने गाड़ी से उपनिरीक्षक को निकाल कर उच्चाधिकारियों को मामले की जानकारी दी। शव का पोस्टमार्टम कराकर उनके परिजनों को सूचना दे दी गई है।


बाइक सवार को बचाने में हुआ हादसा

जानकारी के मुताबिक, सोमवार की सुबह दिबियापुर थाना में तैनात उप निरीक्षक पवन कुमार यादव पुत्र आजाद सिंह निवासी रजवाडा गांव थाना कौडी जनपद झांसी कार से एक विवेचना को लेकर ककोर मुख्यालय आ रहे थे। अचानक हर्राजपुर गांव के पास एक बाइक सवार उनकी कार के सामने आ गया, जिसे बचाने के चक्कर से कार अनियंत्रित हो गई। जिसके बाद कार शीशम के पेड़ से जा टकराई।


लोगों की मानें तो हड़बड़ाहट में ब्रेक पर पैर न लग एक्सीलेटर दब गया। जिस कारण कार अनियंत्रित हो गई। पेड़ से टकराने पर तेज आवाज हुई। इस पर वहां से निकल रहे राहगीर व वाहन सवार रुक गए। कुछ देर में ग्रामीणों की भीड़ लग गई। मृतक पत्नी रमा यादव व पुत्री अपर्णा यादव के साथ औरैया रोड स्थित विकास कुंज में एक मकान में किराये पर रह रहे थे।


परिजनों का हुआ बुरा हाल

बता दें कि महज दस दिन पूर्व ही वह बिधूना कोतवाली से स्थानांतरित होकर दिबियापुर थाना पहुंचे थे। पत्नी व बेटी का रो-रो कर हाल बेहाल था। पुलिस अधीक्षक अपर्णा गौतम का कहना है कि घटनाक्रम की जांच की जा रही है। वहीं दर्ज के शव का पोस्टमार्टम कर दिया गया है।


Also Read: लखनऊ: लॉकडाउन का उल्लंघन करने पर टोका तो दुकानदारों ने सिपाहियों पर किया हमला, बांट मारकर फोड़ दिया सिर


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

मदरसों के आधुनिकीकरण में योगी सरकार का एक और बड़ा कदम, नए सत्र से मोबाइल एप पर पढ़ेंगे मदरसा बोर्ड के छात्र

BT Bureau

Farmer Protest: सिर पर टोकरी-हाथ में अनाज लेकर प्रसपा का प्रदर्शन, कृषि कानून वापस लेने की मांग

Jitendra Nishad

योगीराज में UP में गिरा अपराध का ग्राफ, 2016 के मुकाबले आंकड़ों में आई भारी कमी

Praveen Bajpai