Breaking Tube
Police & Forces UP News

गोरखपुर सर्राफा लूटकांड: लूट के आरोपी दरोगा सहित 3 पुलिसकर्मी बर्खास्त, बस्ती SP ने पूरा थाना किया सस्पेंड

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में हुए सर्राफा व्यापारी से लूटकांड के मामले में बस्ती जिले के एसपी हेमराज मीणा ने बड़ी कार्रवाई की है. जिसके अंतर्गत एसपी ने पुरानी बस्ती थानाध्यक्ष समेत 9 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है. दरअसल, गोरखपुर जिले में हुए इस लूटकांड में पुरानी बस्ती थाने में तैनात एसआई धर्मेंद्र यादव और 2 कांस्टेबल महेंद्र यादव व संतोष यादव मुख्य रूप से शामिल थे. एसपी ने इन तीनों को बर्खास्त कर दिया है.


तीन आरोपी बर्खास्त, 9 पुलिस कर्मी सस्पेंड

जानकारी के मुताबिक, महाराजगंज के सर्राफा व्यवसाई से गोरखपुर में लूट की वारदात को अंजाम दिया गया था. पीड़ि‍त की तहरीर पर गोरखपुर के कैंट थाने में मुकदमा दर्ज किया गया था. पीड़ित ने पुलिस की वर्दी में लूट की बात कही थी. गोरखपर कैंट थाने की पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज के आधार पर मामले की जांच की, जिसके बाद गोरखपुर की पुलिस ने पुरानी बस्ती थाने पर तैनात लुटेरे दरोगा धर्मेंद्र यादव, सिपाही महेंद्र यादव और संतोष यादव को ग‍िरफ्तार कर लिया. इनके पास से लूट का पैसा और सामान बरामद हुआ है.


Also Read : Sholay में गब्बर को ठाकुर ने दी थी इस जुर्म की सजा, बता रहा यूपी पुलिस का ये वायरल Video


आरोपियों के नाम सामने आने के बाद बस्ती एसपी हेमराज मीणा ने कार्रवाई करते हुए पुरानी बस्ती थानाध्यक्ष समेत 9 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया है. लूटकांड में पुरानी बस्ती थाने में तैनात एसआई धर्मेंद्र यादव और 2 कांस्टेबल महेंद्र यादव व संतोष यादव तैनात थे. एसपी ने इन तीनों को बर्खास्त कर दिया है. मामले की जांच में सामने आया कि लूट में शामिल पुरानी बस्ती थाने में तैनात दरोगा धर्मेंद्र यादव, सिपाही महेंद्र यादव और संतोष यादव ड्यूटी से लापता हो गए. बिना बताए ड्यूटी पर तैनात दारोगा और सिपाही थाने से गोरखपुर पहुंच गए.


गोरखपुर एसएसपी ने कहा ये

वहीँ मामले की जानकारी देते हुए गोरखपुर एसएसपी जोगिन्‍दर कुमार ने बताया कि ड्यूटी पर गैर हाजिर रहते हुए इनके द्वारा लूट की घटना को अंजाम दिया गया है. ये बहुत ही जघन्‍य अपराध है. इनके खिलाफ गैंगस्‍टर के साथ एनएसए लगाया जायेगा.. जिससे ये घटना और 24 घंटे के अंदर घटना का अनावरण अन्‍य पुलिसवालों के लिए नजीर बन सके. कोई भी पुलिसवाला वर्दी में रहते हुए इस तरह का जघन्‍य अपराध करता है, तो उसके खिलाफ और सख्‍त कार्रवाई होगी. इस तरह का संदेश इससे जाएगा. उन्‍होंने बताया कि इन बदमाशों को 24 घंटे के भीतर गिरफ्तार करने वाली टीम को 25 हजार रुपए का पुरस्‍कार दिया गया है


ये है मामला

गौरतलब है कि महराजगंज के निचलौल के रहने वाले सरार्फा व्‍यापारी दीपक वर्मा और रामू वर्मा 20 जनवरी को रोडवेज की बस से लखनऊ जा रहे थे. वर्दीवाले बदमाश दारोगा धर्मेन्‍द्र यादव, महेन्‍द्र यादव, संतोष यादव ने कैण्‍ट इलाके के रेलवे स्‍टेशन से लेकर नौसड़ के बीच में इन व्‍यापारियों को बस से उतार लिया. उन्‍होंने अवैध रूप से सोना-चांदी और रुपए होने और जांच के नाम पर उन्‍हें आटो में बैठा लिया और उनका सोना-चांदी और रुपए लूट कर फरार हो गए. दोनों सर्राफा व्‍यपारियों को उन पर शक हुआ, तो उन्‍होंने वर्दीधारियों द्वारा 35 लाख रुपए के सोना-चांदी और नकदी (345.5 ग्राम सोना, अनुमानित कीमत 12 लाख, 4.77 किलोग्राम चंदी अनुमानित कीमत 4 लाख रुपए और 19 लाख रुपए नकद) लूट की सूचना आलाधिकारियों को दी. जिसके बाद जाँच शुरू हुई थी.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

यूपी: प्रेमिका से शादी टूटने पर डायल 100 में तैनात सिपाही ने की खुदकुशी

S N Tiwari

सहारनपुर: चलती बाइक पर बेखौफ होकर गोली भरकर तमंचा लहरा रहे युवक, Video वायरल

BT Bureau

यूपी: मेरठ जोन में ताबड़तोड़ एनकाउंटर, एक रात में तीन मुठभेड़, 20 हजार के इनामी समेत पांच बदमाश गिरफ्तार

Shruti Gaur