Breaking Tube
Police & Forces

लखनऊ: था लॉकडाउन और बुजुर्ग की खत्म हो गई दवाई, एक कॉल पर सिपाही ने पहुंचाई, हो रही सराहना

यूपी 112 की पुलिस टीमें कोरोना वायरस से जंग में लोगों की मदद करती नजर आ रही हैं। ताजा मामला यूपी कर राजधानी लखनऊ का है, जहां बुजुर्ग की एक फोन कॉल पर सिपाही ने कुछ ही समय में उन तक दवाएं पहुंचाईं। जिसके बाद बुजुर्ग ने भी सिपाही को धन्यवाद कहा। यूपी 112 की टीमें वैसे तो लोगों का ध्यान रख ही रही हैं लेकिन उनका मुख्य केंद्र बुजुर्गों की तरफ है, ताकि किसी बुजुर्ग को परेशान ना होना पड़े।


यूपी 112 ने किया ट्वीट

जानकारी देते हुए यूपी 112 ने भी ट्वीट किया कि ‘आप रहो घर पर, हम आएंगे दर पर …थाना हज़रतगंज, #लखनऊ नरही में एक बुज़ुर्ग की दवा खत्म होने पर #PRV4340 ने व्हाट्सप्प से दवा का पर्चा मंगवाकर मेडिकल स्टोर से दवा लेकर बुज़ुर्ग तक पहुंचाई।’ इस ट्वीट पर लोगों ने भी अपनी प्रतिक्रिया देकर यूपी 112 के काम को सराहा है।


Also Read : Corona Virus से बचने को लोग डायल कर रहे UP 112, कुछ ही घंटों में आयीं 142 कॉल्स

दरअसल, तस्वीर में दिख रहे बुजुर्ग का नाम सुधीर खन्ना है। लॉकडाउन की वजह से हर जगह दुकानें बन्द हैं। ऐसे में उनके सामने दवा ख़तम होने की दिक्कत आन पड़ी। काफी सोचने के बाद उन्होंने यूपी 112 को इस बात की जानकारी दी। हजरतगंज में तैनात एक सिपाही अपनी पीआरवी से तत्काल ही वहां पहुंचा और उनके दवा का पर्चा लिया। कुछ ही देर में सिपाही ने बुजुर्ग की दवा उन तक पहुंचा दी। जिसके बाद उन्होंने सिपाही को धन्यवाद दिया।


हर कदम पर खड़ी यूपी 112

दरअसल, जनता कर्फ्यू से ही एडीजी असीम अरुण ने पुलिस टीम को ये आदेश दिया था कि लोगों की हर संभव मदद की जाए ताकि किसी को घर से बाहर निकलना ना पड़े। ऐसे में अपने अधिकारी की बातों को मानते हुए पुलिसकर्मी पूरे लगन के साथ अपनी ड्यूटी निभा रहे हैं। वो ना सिर्फ लोगों को जागरूक कर रहे हैं, बल्कि हर सम्भव मदद भी कर रहे हैं।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

यूपी: थाने में पुलिसकर्मियों पर अचानक भड़का दारोगा, कनपटी पर तानी रिवाल्वर तो सिपाहियों ने मारा झपट्टा

Jitendra Nishad

केरल : सेना ने पुल बनाकर बचाई 100 बाढ़ पीड़ितों की जान

Aviral Srivastava

यूपी: ADG कानून-व्यवस्था का आदेश, UP 100 में तैनात पुलिसकर्मी अपने पास न रखें निजी मोबाइल

Jitendra Nishad