Breaking Tube
Crime Police & Forces

गोरखपुर: सिपाहियों ने नहीं बल्कि एमआर और एरिया मैनेजर ने किया था गैंगरेप, युवती को खाकी रंग की शर्ट से हुई थी गलतफहमी

Gorakhpur police

गोरखपुर जनपद में पुलिसकर्मियों के ऊपर एक युवती द्वारा दुष्कर्म का आरोप लगने के बाद हरकत में आई पुलिस (Gorakhpur police) ने 36 घंटों के भीतर ही एक आरोपी को गिरफ्तार कर घटना का पर्दाफाश कर दिया है। इससे पहले युवती ने आरोप लगाया था कि दो सिपाहियों ने गोरखनाथ इलाके से उसे अगवा करके रेलवे स्टेशन के पास स्थित कमरे में ले जाकर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। मामले का खुलासा होने के बाद यह भी साबित हो गया है कि घटना में कोई भी पुलिसकर्मी शामिल नहीं था बल्कि दवा कंपनी के एरिया मैनेजर और एमआर ने गैंगरेप की वारदात को अजांम दिया था।


एसएसपी गोरखपुर (Gorakhpur police) ने प्रेस कॉन्फ्रेस के दौरान बताया कि आरोपी आलोक एमआर था और एरिया मैनेजर से सर कहकर बात कर रहा था। उसने खाकी रंग का शर्ट पहना था और कद काठी से भी पुलिसकर्मी की ही तरह लग रहा था, इस वजह से युवती ने आरोपियों को पुलिसकर्मी समझ लिया। जल्द ही युवती का कोर्ट में बयान भी करा दिया जाएगा।


Also Read: गोरखपुर: सिपाहियों पर गैंगरेप का मामला निकला फर्जी, बदनाम करने के लिए रचा गया था षड्यंत्र


एसएसपी ने बताया कि एक कंपनी के एरिया मैनेजर ने होटल में कमरा बुक कराया था। वह अपने एमआर के साथ कंपनी के काम से बरगदवां की ओर गया था और काम खत्म करके दोनों होटल लौट रहे थे। इसी दौरान युवती मिल गई। वे उसे बाइक से लेकर होटल आ गए। होटल के लिफ्ट से एक शख्स चढ़ा, युवती उसके साथ थी और वह हेलमेट लगाए हुआ था। दूसरा शख्स थोड़ी देर बाद गया था। कमरे में ले जाकर दोनों ने युवती का सामूहिक दुष्कर्म किया और रात में होटल के पीछे वाले रास्ते से उसे बाहर निकाल दिया।


घटना के अगले दिन यानि शुक्रवार को युवती जिला अस्पताल में इलाज के लिए पहुंची और पुलिसवालों पर दुष्कर्म का आरोप लगाया। पुलिस ने तत्काल एफआईआर दर्ज कर छानबीन शुरू की। होटल में जांच की गई तो कमरा वाराणसी के रहने वाले एक दवा कंपनी के एरिया मैनेजर के नाम पर बुक पाया गया। शुक्रवार को ही उसने चेकआउट भी किया था। सीसीटीवी फुटेज और रास्ते में मिले कुछ फुटेज के आधार पर युवक की पहचान कर उसको गिरफ्तार कर लिया गया। एसएसपी ने बताया कि सीडीआर और अन्य साक्ष्य से भी यह साबित होता है कि घटना आलोक ने ही अपने एरिया मैनेजर के साथ मिलकर की थी।


Also Read : यूपी पुलिस की सराहनीय पहल, अगर शोरगुल की वजह से नहीं पढ़ पा रहे हैं बच्चे तो तुरंत डायल करें 112


पुलिस ने घटना में इस्तेमाल बाइक और हेलमेट बरामद कर लिया है। घटना के पर्दाफाश में होटल के सीसीटीवी फुटेज, युवती की ओर से की गई आरोपियों की पहचान मुख्य आधार बनी। एसएसपी ने पर्दाफाश में शामिल पुलिस टीम को पुरस्कार देने की घोषणा की है। गिरफ्तार आरोपी की पहचान बलिया जिले के खेजुरी थाना क्षेत्र के अजनेरा निवासी आलोक कुमार सिंह के रूप में हुई। फरार आरोपी वाराणसी निवासी आशीष कुमार सिंह बताया जा रहा है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

3 साल से रिलेशनशिप में थे रिया और मो. आसिफ, दोस्त दानिश ने दी पिस्टल तो मारी गोली, पुलिस बोली प्रेम में असफल होने की वजह से हुआ ऐसा

S N Tiwari

ये है योगी की पुलिस: 15 साल की नाबालिग को पिता के सामने उठा ले गए दबंग, 4 दिन बाद पुलिस ने दर्ज किया केस

BT Bureau

तनुश्री दत्ता- नाना पाटेकर विवाद में मिली राखी सावंत को जान से मारने की धमकी, FIR दर्ज

Satya Prakash