Breaking Tube
Police & Forces UP News

यूपी: IPS आशीष तिवारी को मिली बड़ी जिम्मेदारी, बनाए गए SSF के सेनानायक

उत्तर प्रदेश पुलिस विभाग में लगातार ही अफसरों के ट्रांसफर का सिलसिला जारी है. जिसके अंतर्गत नए साल की शुरुआत से ही आईपीएस अफसरों को इधर से उधर किया जाता है. इसी के चलते अब तेज तर्रार आईपीएस आशीष तिवारी, जोकि हमेशा से ही अपने काम और ईमानदारी के लिए जाने जाते हैं, उनको एक बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गयी है. दरअसल, अब उनका तबादला रेलवे झांसी से SSF सेनानायक के तौर पर लखनऊ में कर दिया गया है.


आज जारी हुआ आदेश

जानकारी के मुताबिक, हाल ही में योगी सरकार की तरफ से स्पेशल सिक्यॉरिटी फोर्स (SSF) नाम से एक विशेष पुलिस बल के गठन का फैसला किया गया था. इस विशेष पुलिस के पास बिना वॉरंट के ही तलाशी और गिरफ्तारी करने का भी अधिकार है. सरकार की ओर से गठित SSF का गठन केवल सुरक्षा के उद्देश्य से गठित की गई एक फोर्स के रूप में किया गया हैं.इसी पुलिस बल के सेनानायक के रूप में अब आईपीएस आशीष तिवारी को तैनात किया गया है. आईपीएस को अब झाँसी से लखनऊ भेज दिया गया है.


Also Read : गाजियाबाद: मिशन शक्ति को बढ़ावा दे रहे SSP कलानिधि, महिला दारोगाओं को सौंपी 4 मुख्य चौकियों की कमान


कुछ समय पहले तक अयोध्या में तैनात रहे 2012 बैच के एसएसपी आशीष तिवारी को पुलिस अधीक्षक रेलवे झांसी बनाया गया था. आईपीएस आशीष तिवारी ने गत वर्ष जून में अयोध्या के एसएसपी का कार्यभार संभाला था. उनका कार्यकाल निर्विवादित रहा है. आईआईटी के छात्र रहे आशीष तिवारी ने पुलिसिंग को स्मार्ट बनाने में तकनीक का बेहतर इस्तेमाल किया। छह वेबसाइट और कई वाट्सएप ग्रुप बनाकर पुलिसिग को कागजों के ढेर से बाहर निकाला और इसी के बल कर जनता से संवाद का बेहतर रास्ता भी निकाला। गत वर्ष नवंबर माह में आए सुप्रीम फैसले के दौरान भी अयोध्या में सौहार्द की डोर अटूट बनी रही और अमन चैन रहा इसके पीछे आशीष तिवारी की कुशल रणनीति ही थी.


क्या है SSF

बता दें कि मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ का ड्रीम प्रॉजेक्ट है. जिसके चलते उत्तर प्रदेश सरकार ने स्‍पेशल सिक्यॉरिटी फोर्स नाम के एक विशेष पुलिस बल का गठन किया है. इस विशेष फोर्स पर औद्योगिक प्रतिष्ठानों, प्रमुख स्थलों, हवाई अड्डों, मेट्रो और खासकर कोर्ट समेत अन्य स्थानों की सुरक्षा की जिम्‍मेदारी होगी. इसके पास बिना वॉरंट तलाशी लेने और गिरफ्तारी करने का अधिकार होगा. पिछले कुछ वर्षों विशेषकर दिसंबर 2019 में हुई कुछ घटनाएं इस फोर्स के गठन के पीछे जिम्‍मेदार मानी जा सकती हैं.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

झांसी: बालू माफियाओं ने बोलेरो से पुलिस जीप को मारी टक्कर, दारोगा समेत दो सिपाहियों हुए घायल

BT Bureau

‘लड़की से थे मेरे संबंध, मां-भाई ने मिलकर मारा’, हाथरस केस के मुख्य आरोपी ने SP को लिखी चिट्ठी

BT Bureau

संजय सिंह का योगी सरकार पर हमला, बोले- भूतों की जांच करने वालों का दिल्ली की कोरोना से जंग पर सवाल उठाना हास्यास्पद

BT Bureau