Breaking Tube
Police & Forces

लखनऊ: लॉकडाउन में ADG से लेकर सिपाही तक बने पालनहार, गरीबों को खिला रहे खाना, मुहैया करवा रहे जरूरी सामान

असल जिंदगी में लोग पुलिस को जितना बुरा भला कहते हैं, अब संकट के समय वही पुलिस लोगों के लिए मददगार और मसीहा बनती दिखाई दे रही है। पुलिसकर्मी घर घर जाकर तो सामान दे ही रहे हैं, वहीं सड़कों पर रहने वाले लोगों के लिए भी खाना उपलब्ध करा रहे हैं, ताकि लॉक डाउन के समय कोई भूखा ना सोए। हम बात कर रहे हैं राजधानी लखनऊ पुलिस की, जो दिन रात लग कर लोगों की मदद कर रहे हैं। पुलिसकर्मियों की ये तस्वीरें उन लोगों के सवालों का करारा जवाब है जो हमेशा पुलिस पर उंगली उठाते रहते हैं।


लखनऊ में सहारा बन रही पुलिस

दरअसल, कोरोना वायरस से जंग जीतने के लिए पूरे देश में लॉक डाउन किया गया है ताकि वायरस अपने पैर ना पसार सके। इस लॉक डाउन से सबसे ज्यादा फ़र्क मजदूरों और उन लोगों को हुए है, जोकि रोज की कमाई से घर चलाए हैं, सड़क किनारे खड़े ठेलों पर खाना खाकर अपना पेट भरते हैं। ऐसे लोगों की मदद को हर जिले में पुलिस आगे आती है। हम आपको दिखा रहे हैं लखनऊ की तस्वीरें जहां पुलिसकर्मी खुद आगे आकर बेसहारा लोगों का सहारा बन रहे हैं, उन्हें खाना खिला रहे हैं।


Also Read:  Lockdown में लोगों की ऐसे मदद करेगी UP Police, DGP ने दी जानकारी


गुरुवार काेे चारबाग में पुलिस के अ‍ालाधिकारी मातहतों के साथ कुछ इसी सेवा भाव में नजर आए। डीसीपी मध्‍य दिनेश सिंह, एडसीपी मध्‍य चिरंजिव नाथ सिन्‍हा, एडीसीपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी, एसीपी हजरतगंज अभय कुमार मिश्र समेत अन्‍य अधिकरियों ने रिक्‍शा चालकों को खाने का पैकेट वितरित‍ किया। सड़क किनारे रात बिताने को मजबूर बेसहारा लोगों को पुलिस ने हजरतगंज और हुसैनगंज स्थित रैन बसेरों में पहुंचाया और उनके खाने पाने की इंतजाम किया। एसीपी हजरतगंज अभय कुमार मिश्र ने बताया कि कुछ व्‍यापारियों की मदद से पुलिस बेसहारा लोगों के लिए खाना पानी व अन्‍य आवश्‍यक वस्‍तुओं की आपूर्ति कर रही है।


Also Read : कोरोना: UP 112 के जांबाजों को सलाम, संकट की घड़ी में स्वेच्छा से ली ड्यूटी


पुलिस ने उठाई जिम्मेदारी

लखनऊ पुलिस ने ऐसे तमाम लोगों को खाना खिलाने की जिम्मेदारी ली है। शायद हर भूखे को वह खाना न खिला पाएं, लेकिन फिर भी काफी का पेट भरेगा।पुलिस अब एक नए रोल में है बहुत सारे लोग जो रोज कमाते और खाते थे, लॉकडाउन की वजह से उनका काम-धंधा बंद हो गया है बहुत सारे लोग पुलिस के पास सिफारिशें कर रहे हैं कि उनके पास खाने के लिए कुछ भी नहीं है। चारबाग रेलवे स्टेशन के पास फुटपाथ पर लोगों की कतार लगी है। ये वो लोग हैं जो रोजाना कमाने खाने वाले थे और जिनका रोजगार बंद हो गया है। खाना बनवाने में भी पुलिस लगी हुई है, क्योंकि जब सबकुछ बंद हो तो फिर इतने लोगों का खाना भी पुलिस ही बनवा सकती है।कोशिश की जा रही है कि हर पुलिस चॉकी क्षेत्र में उस इलाके के पुलिसवाले कुछ गरीब और बेसहारा लोगों को खाना खिलाएंगे।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

यूपी पुलिस के नाम ये उपलब्धियां दर्ज करा गए ओपी सिंह, इन कामों के लिए हमेशा किए जाएंगे याद

Shruti Gaur

लखनऊ: IPS ने अंग्रेजी में दी तहरीर तो फूले पुलिसकर्मियों के हाथ-पांव, कहा- हिंदी में लिखकर लाओ तभी लिखेंगे मुकदमा

BT Bureau

पीलीभीत: सिपाही ने की थी कोतवाल के सिर पर बैठने वाले बंदर ‘राजा’ की परवरिश, बेहद दिलचस्प है ये कहानी

BT Bureau