Breaking Tube
Police & Forces

मुजफ्फरनगर: SSP का बड़ा फैसला, पुलिसकर्मियों को तनाव से बचाने के लिए प्रतिमाह होगा सम्मेलन, सुनी जायेंगी समस्याएं, खुद करेंगे मॉनिटरिंग

यूपी पुलिस में छुट्टी को लेकर अक्सर पुलिसकर्मियों में तनाव की ख़बरें सामने आती हैं. कई पुलिसकर्मी प्रेशर न झेल पाने के कारण सुसाइड जैसे कदम उठा लेते हैं. इसी को देखते हुए मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar) अपर पुलिस अधीक्षक(एसएसपी) अभिषेक यादव (SSP Abhishek Yadav) ने बड़ा फैसला लिया है. जिसके मुताबिक़ अबसे प्रतिमाह हर थाने पर पुलिसकर्मियों का एक सम्मलेन किया जायेगा, जिसमें पुलिसकर्मियो की समस्याएं सुनी जाएंगी और उनका निस्तारण किया जायेगा. एसएसपी ने शुक्रवार को इसके लिए सभी क्षेत्राधिकारी और थाना प्रभारी को निर्देश दिया है. एसएसपी खुद इसकी मॉनिटरिंग करेंगे.


Also Read: UP Police सख्त, सिपाही के नाबालिग बेटे को बाइक दौड़ाते SSP ने पकड़ा, पुलिसकर्मी के खिलाफ जांच के आदेश


एसएसपी के आदेश के मुताबिक़ समस्त थाना प्रभारी/क्षेत्राधिकारी अपने अपने थाने पर नियुक्त समस्त कर्मचारियों को एकत्रित कर उनका प्रतिमाह सम्मेलन आयोजित करेंगे तथा सम्मेलन के दौरान उनकी समस्याओं की जानकारी कर उनका समय से निराकरण करेंगे. यदि किसी समस्या का निराकरण एसएसपी के स्तर से होना हो तो उन्हें तत्काल अवगत कराएंगे जिससे कर्मचारियों की समस्या का निराकरण कराया जा सके. इस हेतु समस्त थाना प्रभारी अपने-अपने थाने पर एक उपनिरीक्षक को नोडल अधिकारी नामित करेंगे, तथा नामित किए गए नोडल अधिकारी के नाम से एसएसपी के वाचक को लौटती डाक से अवगत कराएँगे.


Also Read: जब चलती क्लास में चुपचाप पीछे बैठ गए IG सतीश गणेश, मैथ-फिजिक्स के सवालों को आसानी से हल करने की बताईं ट्रिक्स, दिए सफलता के मंत्र


थाने पर एक सम्मेलन रजिस्टर तैयार कर लें तथा सम्मेलन के दौरान कर्मचारियों द्वारा बताई गई समस्या का अंकन सम्मेलन रजिस्टर में कराएं तथा समस्या के निराकरण का विवरण भी रजिस्टर में अंकित कराएं. इस सम्मेलन रजिस्टर को समस्त थाना प्रभारी मेरे द्वारा मुख्यालय पर प्रतिमा आयोजित किए जाने वाले सम्मेलन के दौरान लेकर आएंगे. इसी प्रकार पुलिस अधीक्षक नगर/ग्रामीण अपने-अपने क्षेत्र के किन्हीं तीन थानों का प्रतिमा सम्मेलन करना सुनिश्चित करेंगे तथा कर्मचारियों द्वारा सम्मेलन के दौरान बताई गई समस्याओं का समय से निराकरण कराएंगे.


Also Read: लखनऊ: महिला दारोगा की हड़पी कार DIG के बंगले से बरामद, आवास के बाहर महिला ने काटा जमकर हंगामा


वहीं इस सम्मेलन को लेकर एसएसपी अभिषेक यादव ने ब्रेकिंग ट्यूब को बताया कि पुलिसकर्मियों की निजी, पारिवारिक, ऑफिसियल तमाम तरह की समस्याएं होती हैं जो अक्सर वो किसी से कह नहीं पाते हैं या वो उस स्तर तक नहीं पहुंच पातीं जहाँ से उनका निस्तारण हो सके जिसका परिणाम होता है कि पुलिसकर्मी तनावग्रस्त हो जाते हैं. इसे देखते हुए हमने समस्यायों के निस्तारण के लिए हर थाने पर प्रतिमाह पुलिसकर्मियों का एक सम्मलेन आयोजित करने का फैसला लिया है. इसमें सभी कर्मचारियों की समस्याएं सुनी जायेंगी और उनका निराकरण भी निकाला जायेगा. मैं खुद इसकी मॉनिटरिंग करूंगा.


Also Read: मेरठ में बदमाशों पर कसता शिकंजा, 4 मुठभेड़ में 5 घायल, बीते 2 महीने में हो चुके हैं 51 एनकाउंटर


बता दें कि हाल ही में भोपा थाना क्षेत्र में तैनात एक सिपाही राजकुमार को को अवकाश नहीं मिला तो वह एसएसपी ऑफिस पहुंच गया इसके बाद एसएसपी अभिषेक यादव ने क्षेत्राधिकारी भोपा से कांस्टेबल को छुट्टी न देने पर स्पष्टीकरण मांग लिया. इतना ही नहीं सख्त लहजे में क्षेत्राधिकारी को भविष्य में ऐसा न करने का आदेश दिया. पुलिसकर्मियों के होने वाले सम्मलेन को इस घटना से जोड़कर देखा जा रहा है क्योंकि एसएसपी अभिषेक यादव पुलिसकर्मियों की छोटी-बड़ी समस्याओं का हर हाल में निस्तारण चाहते हैं.


Also Read: औरैया पुलिस ने कायम की मिसाल, 18 दिन में चार्जशीट तैयार कर 28 वें दिन दिलाया रेप पीड़िता को न्याय, DGP ने की SP की सराहना


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

सुल्तानपुर: छेड़खानी का किया विरोध तो छात्रा को बाइक से रौंदा, मौत, इंस्पेक्टर समेत 5 पुलिसकर्मी निलंबित

BT Bureau

मेरठ: मस्जिद में रुककर इस्लाम का प्रचार कर रहें थे विदेशी मुस्लिम नागरिक, वापस भेजने के विरोध में उतरे स्थानीय लोग, 18 की वतन वापसी

S N Tiwari

यूपी: कांवड़ यात्रा में कांवड़ियों के वेश में घूमेंगे पुलिसकर्मी, संदिग्धों पर रखेंगे कड़ी नजर

BT Bureau