Breaking Tube
Police & Forces UP News

यूपी: महिला सिपाहियों के कंधों पर आई बड़ी जिम्मेदारी, जन सुनवाई के लिए लगेगी 12 घंटे ड्यूटी

यूपी के प्रतापगढ़ में एसपी अनुराग आर्य ने महिला सिपाहियों को बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। दरअसल,जिले में अब लोगों की शिकायत सुनने के लिए महिला सिपाहियों को भी बैठना होगा। उनका काम होगा कि शिकायती पत्र बकायदा रजिस्टर में नोट करके उसे निस्तारित करने के लिए हल्के के दारोगा या थानेदार को दें। इन सभी शिकायतों का निस्तारण भी 72 घंटे के अंदर करना अनिवार्य है।


एसपी ने दिए निर्देश

जानकारी के मुताबिक, एसपी अनुराग आर्य ने लोगों की सहूलियत को देखते हुए ये आदेश दिए हैं कि थाने पर पीड़ित की फरियाद महिला सिपाही सुनेंगी। इस दौरान एक समय पर दो महिला सिपाही जन सुनवाई के लिए थाने पर तैनात रहेंगी। 12-12 घंटे की शिफ्ट में महिला सिपाहियों की ड्यूटी लगाई जाएगी। जन सुनवाई का काम महिला सिपाहियों को सौंपने का मकसद यह है कि महिला होने के नाते वह पीड़ित से सलीके से बात करेंगी।


also read: यूपी: योगी सरकार ने जारी की अनलॉक 4.0 की गाइडलाइंस, मेट्रो चलने के साथ जल्द खुलेंगे शैक्षिक संस्थान


दरअसल, एसपी का मानना है कि थानेदार हमेशा बाहर के काम में व्यस्त रहता है। ऐसे में दीवान के कंधों पर काफी जिम्मेदारी आ जाती है। दीवान अभिलेख दुरुस्त करने और सूचनाएं तैयार करने में हर समय व्यस्त रहते हैं। उसी दौरान अगर फरियादी सामने पहुंच जाते हैं तो दीवान झुझलाहट को पीड़ित पर उतारता है। जिसके बाद फरियादी को सिर्फ एसपी कार्यालय ही नजर आता है और लोग वहां पहुंचने लगते हैं।


शिकायत दर्ज करना होगा काम

इस व्यवस्था में महिला सिपाही का काम सिर्फ शिकायत दर्ज करना होगा। बाकी उसका निस्तारण का काम दारोगा या थानेदार की ही जिम्मेदारी पर होगा। जिले में कुल 353 महिला सिपाही हैं। अब थानों में जन सुनवाई के लिए एक समय में दो महिला सिपाही तैनात रहेंगी। इससे फरियादियों को काफी राहत मिलेगी।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

नोएडा: SSP के ‘ट्रैप ऑपरेशन’ में फंसे कई पुलिसकर्मी, दारोगा सस्पेंड, थाना प्रभारी और सिपाही को भेजा जेल

Jitendra Nishad

विकास दुबे एनकाउंटर पर कानपुर SSP का चौंकाने वाला खुलासा, बताया कैसे पलटी गाड़ी

BT Bureau

प्रतापगढ़: स्वॉट इंस्पेक्टर की कोरोना से मौत, 10 दिन पहले 5 पुलिसकर्मियों के साथ हुए थे संक्रमित

Shruti Gaur