Breaking Tube
Police & Forces UP News

वाराणसी: वायरल तस्वीर पर सिपाही लाइन हाजिर, पीड़िता बोली- कांस्टेबल की थी मजबूरी, अफसरों के आदेश का कर रहा था पालन

हाल ही में सोशल मीडिया पर एक सिपाही (Constable) की तस्वीर वायरल हो रही है. तस्वीर में सिपाही जमीन पर बैठी महिला के सामान को लात मारता दिख रहा है. दरअसल, ये तस्वीर वाराणसी (Varanasi) जिले की है, जहाँ सड़क किनारे पूजा-पाठ और रुद्राक्ष की माला की दुकान लगाकर रोजी-रोटी कमाने वाली एक महिला की दुकान पर एक पुलिस का जवान पैर चलाता नजर आ रहा है. फोटो वायरल होते ही एसएसपी ने तत्काल एक्शन लेते हुए सिपाही को लाइन हाजिर कर दिया. ऐसा कहा जा रहा है कि सिपाही ने महिला के साथ मारपीट की और पूजा के सामान को पैर से कुचल दिया. इस मामले में अब महिला ने सच्चाई बताई है.


महिला ने बताई सच्चाई

जानकारी के मुताबिक, महाराष्ट्र के जलगांव की रहने वाली रंगिता अनिल भोसले ने बताया कि वो हमेशा की तरह दशाश्वमेध थाना क्षेत्र के गोदौलिया और गिरजाघर इलाके के बीच सड़क किनारे पूजा-पाठ और धार्मिक सामग्री से जुड़ी दुकान लगाकर बैठी थीं. वो हमेशा महाशिवरात्रि पर सड़क किनारे दुकान लगाती हैं, लेकिन इस बार उन्हें दुकान नहीं लगाने दिया गया और भगा दिया गया. हालाँकि उस समय वहां बहुत ज्यादा भीड़ भी थी.


रंगीता ने बताया कि उन्होंने सिपाही से अपील की थी कि मैं दो-तीन दिन दुकान लगाकर वापस चली जाऊंगी. इस पर पुलिस वाले ने कहा था कि अगर दुकान नहीं हटाई तो सामान उठा ले जाएंगे और महिला पुलिस बुलाकर पिटवाएंगे. पुलिस वाले ने अपने पैरों से उसका सामान हटाया था और भद्दी गाली भी दी थी. पैरों से उसका सामान हटाते वक्त पुलिस वाले ने शंख भी फोड़ दिया था. ‘


आगे रंगीता ने साथ ही यह भी कहा कि उसके साथ मारपीट नहीं की गई थी. बस उसका सामान हटाया गया था. वहीँ पीड़िता को सिपाही से भी हमदर्दी है. उन्होंने कहा कि कांस्टेबल की मजबूरी थी. पुलिसकर्मी ने अपने अधिकारियों से मिले आदेश का पालन किया है. वहीं, घटना के दौरान मौके पर मौजूद प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो शिवरात्रि के कारण भीड़ काफी अधिक थी, इसलिए पुलिसकर्मी ने महिला को हटाया लेकिन सभी ने सिपाही के तरीके का विरोध किया.


Also Read: सीएम योगी का UP पुलिस को निर्देश- थाने पर फरियादियों को समाधान से करें संतुष्ट, नहीं तो होगी कार्रवाई


ये था मामला

बता दें कि यह मामला गोदौलिया दशाश्वमेघ मार्ग का है. यहां एक महिला सड़क किनारे बैठकर रुद्राक्ष की मालाएं, शंख व अन्य सामान बेच रही थी. इसी दौरान दशाश्वमेध थाने का हेड कांस्टेबल सुधीर कुमार सिंह वहां पहुंच गए. सिपाही ने पहले उस महिला को सारा सामान लेकर वहां से जाने को कहा. जब महिला से देरी हुई तो कांस्टेबल भड़क गया और उसने महिला के साथ बदसलूकी कर दी. सिपाही का ऐसा व्यवहार देखकर उस महिला की आंखों में आंसू आ गए. साथ ही वहां खड़े लोग भी भावुक हो गए. इसी बीच घटना की तस्वीरें किसी ने अपने मोबाइल में कैद कर सोशल मीडिया पर वायरल कर दीं


Also Read: काशी-मथुरा सहित मुगलों द्वारा कब्जाए सभी मंदिर हिंदुओं को मिल सकते हैं वापस, अश्विनी उपाध्याय की याचिका पर SC ने केंद्र को भेजा नोटिस


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

बरेली: सब इंस्पेक्टर के सिर पर ईट मारकर हत्या करने वाली महिला दारोगा शबनम को 7 साल की कैद

Jitendra Nishad

‘छोटी जाति वाले’ के पानी के छींटे पड़े तो फैज मोहम्मद ने 2 दर्जन साथियों संग मिलकर पिंटू निषाद को पीट-पीटकर मार डाला

BT Bureau

बिजनौर: दलित नाबालिग को धर्मांतरण के लिए सोनू बनकर भगा ले गया शाकिब, लव जिहाद कानून के तहत गिरफ्तार

BT Bureau