Breaking Tube
Police & Forces UP News

यूपी: लखनऊ में कामयाब रहा कमिश्नरेट सिस्टम, 6 महीने में पूरी तरह बदल गई व्यवस्था

Lucknow Commissioner Sujeet Pandey

आज से कुछ समय पहले लखनऊ पुलिस का पदभार कमिश्नर सुजीत पांडेय को सौंपा गया था। जिसके बाद राजधानी की कानून व्यवस्था में काफी बदलाव आया है। छह महीने के कार्यकाल की रिपोर्ट में ये खबर अाई है कि नमस्ते लखनऊ, जनसुनवाई आमने-सामने, पालीगॉन समेत जनता से जुड़ी कई नई योजनाएं शुरू की गई जिसके सकारात्मक नतीजे सामने आए। लखनऊ में जहां हत्या की घटनाएं पिछले साल के मुकाबले करीब आधी रह गई हैं, वहीं डकैती की घटनाएं भी एक चौथाई हो गईं।


पुलिस कमिश्नर को छह महीने पूरे

जानकारी के मुताबिक, लखनऊ राजधानी के पहले पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय ने 15 जनवरी 2020 को पदभार ग्रहण किया था। लखनऊ के साथ ही नोएडा में भी कमिश्नरेट प्रणाली लागू हुई थी। उसी समय निर्णय लिया गया था कि लखनऊ और नोएडा में पुलिस के छह माह के कार्यों की समीक्षा की जाएगी। सरकार का था निर्णय काफी लाभदायक साबित हुआ है।


अगर आंकड़ों की बात करें तो लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट के 6 महीने पूरे होने पर विभाग की ओर से तुलनात्मक क्राइम डाटा जारी किया गया है। इसमें 14 जनवरी से 14 जुलाई के बीच हुए अपराध की तुलना 2018 और 2019 के साथ कि गई है। आंकड़ों के मुताबिक पुलिस कमिश्नरेट बनने के बाद राजधानी में अपराध में भारी कमी आई।


Also read: यूपी: कोरोना की चपेट में खाकी, अब तक 1118 पुलिसकर्मी संक्रमित, 8 की मौत


इन आंकड़ों मानें तो कमिश्नरी लागू होने के बाद लखनऊ में डकैती में 75, लूट में 56, हत्या में 35, बलात्कार में 34 फ़ीसदी की कमी आई है। इसके अलावा 45 माफियाओं को चिन्हित किया गया। गैंगस्टर एक्ट के एक आरोपी की संपत्ति भी ज़ब्त की गई। जबकि अगर 2018 और 2019 में इस पीरियड के दौरान किसी भी गैंगस्टर की संपत्ति जब्त नहीं हुई थी। इसके अलावा एससी-एसटी के खिलाफ अपराधों में 46 फीसदी की कमी आई है।


ट्रैफिक सिस्टम में भी हुआ सुधार

कमिश्नरेट सिस्टम लागू होने के बाद लखनऊ में ट्रैफिक व्यवस्था में काफी सुधार हुआ है। पहले जहां सिर्फ 38 चौराहों पर ही ट्रैफिक सिग्नल काम कर रहे थे, वहीं पुलिस कमिश्नरेट सिस्टम बनने के बाद यह संख्या बढ़कर 158 हो गई। इसका सकारात्मक असर यह हुआ कि बेतरतीब चलने वाले ट्रैफिक से जाम की जो स्थिति पैदा हो जाती थी, वह खत्म हो गई। 


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

गोरखपुर: जरूरतमंदों की मदद के लिए अपना गुल्लक लेकर थाने पहुंचे बच्चे, इंस्पेक्टर मां को दिये 4600 रुपए तो भर आई आंखें

Shruti Gaur

UP: बाहुबली विधायक विजय मिश्रा के खिलाफ बड़ी कार्रवाई, करोड़ों के आलीशन बगले पर चला बुलडोजर

Jitendra Nishad

यूपी: फर्जी मार्कशीट से बन गया था सिपाही, पहले SSP ने की कार्रवाई अब कोर्ट ने लगाया जुर्माना

BT Bureau