Breaking Tube
Police & Forces UP News

यूपी: ‘साहब, बिटिया की तबियत खराब है छुट्टी दे दीजिये’, सिपाही की गुहार सुन आगबबूला हुए इंस्पेक्टर, दुत्कार कर भगाया

यूपी पुलिस विभाग में अक्सर ही पुलिसकर्मियों के सामने छुट्टी न मिलने की समस्या आती रहती है. कई बार पुलिसकर्मी गलत कदम तक उठा लेते हैं. ताजा मामला प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले का हैं, जहाँ बेटी की तबियत खराब होने पर अवकाश मांगने गए सिपाही को इंस्पेक्टर ने दुत्कार कर भगा दिया. मामले का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है. हालाँकि वीडियो सामने आते ही एएसपी को जाँच के आदेश दे दिए हैं.


ये है मामला

जानकारी के मुताबिक, सोशल मीडिया पर जो वीडियो वायरल हो रहा है उसमे साफ़ दिखाई दे रहा है कि कैसे एक सिपाही अपने अफसरों के सामने छुट्टी के लिए गुहार लगा रहा है. वीडियो में 112 में तैनात सिपाही राजकिशोर कह रहा है कि उसकी बेटी की तबियत ज्यादा खराब है, इसलिए वह तीन दिन की छुट्टी लेने आया है. जब सिपाही ने यूपी 122 के प्रभारी निरीक्षक मुसाफिर प्रसाद को अवकाश प्रार्थना पत्र देकर तीन दिन की छुट्टी मांगी तो प्रभारी निरीक्षक आग बबूला हो गए. उन्होंने गालियां देते हुए कार्यालय से भाग जाने और उच्चाधिकारियों से छुट्टी लेने की बात कही.सिपाही ने इस दौरान प्रभारी की वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर डाल दिया.


Also Read : UP Police के इंस्पेक्टर की असली बीवी कौन ?, पता लगाने में जुटी CBCID


थाना प्रभारी ने कहा ये

वहीँ जब इस बारे में आरोपित यूपी 112 के प्रभारी निरीक्षक मुसाफिर प्रसाद से बात की गयी तो उन्होंने बताया कि पांच सिपाहियों की ड्यूटी कार्यालय में प्रशिक्षण पर लगी है, जिसमें राजकिशोर भी शामिल है. यह प्रशिक्षण 28 जनवरी को पूरा हो रहा है. सिपाही ने बेटी बीमार होने की बात कही थी. इस पर उसे दो दिन का अवकाश दिया गया है, लेकिन वह तीन दिन का अवकाश मांग रहा था. पर, उसके साथ अभद्रता जैसा कुछ नहीं हुआ है.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

पुलवामा मुठभेड़: मारा गया पाकिस्तान का आतंकी अब्दुल रहमान, जैश-ए-मोहम्मद का था IED एक्सपर्ट

Jitendra Nishad

हरदोई: कच्ची शराब की सूचना पर पहुंची पुलिस टीम पर जानलेवा हमला, दारोगा-सिपाही को डंडों से पीटा

BT Bureau

सिपाही ने जान जोखिम में डाल रोकी ‘लूटपाट’, बदमाशों ने तीन बार किया धारदार हथियार से हमला

Jitendra Nishad