Breaking Tube
Politics UP News

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद का ओवैसी को जवाब, राम जन्म भूमि की लड़ाई खत्म, अब काशी और मथुरा की बारी

Akhil bharatiya akhada parishad

अयोध्या में राम मंदिर के शिलान्यास को लेकर एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी के बयान पर अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद (Akhil bharatiya akhada parishad) ने पलटवार किया है। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने कहा कि ओवैसी को यह समझना चाहिए कि पाकिस्तान मुस्लिम बहुसंख्यक होने के नाते अगर मुस्लिम राष्ट्र हो सकता है तो भारत हिंदू बहुसंख्यक होने के बाद भी हिंदू राष्ट्र क्यों नहीं हो सकता है?


महंत नरेंद्र गिरी ने कहा कि वास्तव में भारत हिंदू राष्ट्र ही है, लेकिन यहां पर सभी धर्मों का पूरा सम्मान है। उन्होंने कहाकि दूसरे धर्मों को मानने वालों का भी हम सनातनी सम्मान करते हैं, उन्हें गले लगाते हैं और उनके प्रति आस्था भी रखते हैं। लेकिन जब कोई हमारे धर्म को ललकारता है और अपशब्द बोलता है तो हम उसका डटकर सामना करने को भी हमेशा तैयार रहते हैं।


Also Read: जब तक मंत्री और संतरी के बच्चे एक स्कूल में नहीं पढ़ेंगे तब तक नहीं आएगा ‘रामराज्य’


महंत ने कहा कि राम मंदिर का निर्माण संविधान के दायरे में रहकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के आधार पर ही हो रहा है। पीएम नरेंद्र मोदी ने कोर्ट का फैसला आने और राम मंदिर निर्माण के लिए गठित ट्रस्ट के बुलावे पर ही अयोध्या जाकर राम मंदिर का भूमि पूजन और शिलान्यास किया है। मंदिर निर्माण के लिए हिन्दुओं ने सैकड़ों वर्षों तक इंतजार किया और अदालत के फैसले की भी प्रतीक्षा की है।


महंत नरेन्द्र गिरी ने कहा कि संत-महात्माओं के लिए 5 अगस्त का दिन स्वर्णिम बड़ा दिन है, जिस तरह से देश में 15 अगस्त को स्वतन्त्रता दिवस और 26 जनवरी को गणतन्त्र दिवस का पर्व मनाया जाता है, उसी तरह से साधु-संत अब हर साल 5 अगस्त को भगवान श्रीराम की आजादी के दिवस के रूप में मनाएंगे।


Also Read: ‘इंशाल्लाह! वो तारीख आएगी जब राम मंदिर तोड़कर मस्जिद बनाई जाएगी’, मौलाना साजिद रशीदी का भड़काऊ बयान


अखाड़ा परिषद अध्यक्ष महंत नरेन्द्र गिरी ने कहा कि अयोध्या राम जन्म भूमि की लड़ाई अब खत्म हो गई है, अब काशी और मथुरा को मुक्त कराने की बारी है। उन्होंने कहा कि काशी और मथुरा हिन्दुओं के लिए कलंक है, जिसे अब मिटाना जरूरी है। महंत नरेन्द्र गिरी ने साधु संतों से अपील की है कि शान्तिपूर्ण तरीके से आन्दोलन चलाकर और अदालत से कानूनी लड़ाई लड़कर ही काशी और मथुरा को भी अयोध्या की तरह मुक्त कराएंगे।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

दिल्ली में बरसे पीएम मोदी, राजीव गांधी छुट्टियां मनाने के लिए INS विराट का करते थे इस्तेमाल

BT Bureau

यूपी उपचुनाव: बीजेपी-सपा ने घोषित किये प्रत्याशियों के नाम, देखें लिस्ट…

Shruti Gaur

Facebook ने कांग्रेस को दिया बड़ा झटका, पार्टी से जुड़े 687 पेज हटाए

BT Bureau