Breaking Tube : #1 News Portal of Uttar Pradesh
Politics

झांसी एनकाउंटर : पुष्पेन्द्र के परिजनों से मिले अखिलेश यादव, पत्नी बोली- अगर नहीं मिला न्याय तो कर लूंगी आत्महत्या

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने बुधवार को पुष्पेन्द्र यादव (Pushpendra Yadav) के परिजनों से मुलाकत की. इस दौरान अखिलेश ने परिवार वालों से कहा कि हम संघर्ष करेंगे और आपको न्याय दिलाएंगे. अखिलेश बुधवार को पुष्पेन्द्र के परिजनों से मिलने झांसी पहुंचे. मुलाकात के बाद उन्होंने कहा कि परिवार को न्याय दिलाने के लिए हम किसी भी हद तक जाने के लिए तैयार हैं. हमारी मांग है की इस पूरे मामले की जांच किसी वर्तमान न्यायाधीश (सिटिंग जज) से करायी जाए तभी दूध का दूध और पानी का पानी होगा.


पत्नी बोली न्याय नहीं मिला तो कर लूंगी आत्महत्या

इससे पहले मंगलवार देर रात प्रसपा प्रेसीडेंट शिवपाल सिंह यादव के बेटे आदित्य यादव ने झांसी में पुष्पेन्द्र के परिजनों से मुलाकात की. पुष्पेन्द्र यादव की पत्नी ने शिवांगी ने आत्महत्या करने की बात कहीं. शिवांगी ने बुधवार को कहा- “अगर न्याय न मिला तो जहर खा कर आत्महत्या कर लूंगी.” शिवांगी ने आदित्य का हाथ पकड़ कर कहा कि भइया हमें न्याय दिला दो. शिवांगी की हालत देख हर किसी की आंखे नम हो गईं.


यह है पूरा मामला


झांसी पुलिस के अनुसार, शनिवार की रात बालू खनन में शामिल पुष्पेंद्र ने कानपुर-झांसी राजमार्ग पर मोंठ के थानाध्यक्ष धर्मेंद्र सिंह चौहान पर फायर कर उनकी कार लूट ली थी. हमले में इंस्पेक्टर धर्मेंद्र के चेहरे पर फायर बर्न के निशान मिले थे. उन्हें अस्पताल में भर्ती करवाया गया था. पुलिस ने उसी रात नाकेबंदी कर पुष्पेंद्र को गुरसरांय थाना इलाके में फरीदा के पास मुठभेड़ में मार गिराया था. उस वक्त पुष्पेंद्र के साथ दो और लोग थे. लेकिन, वे फरार हो गए.


रविवार को पुष्पेंद्र यादव, विपिन, रविंद्र के खिलाफ मोंठ और गुरसरांय थाने में दो अलग-अलग मामले दर्ज किए गए. जबकि इससे पहले पुष्पेंद्र पर कोई मामला दर्ज नहीं होने का दावा किया गया. बीते दिनों मोंठ पुलिस ने पुष्पेंद्र का एक ट्रक पकड़ कर सीज कर दिया था. इसी मामले को लेकर पुष्पेंद्र का इंस्पेक्टर से विवाद होना सामने आ रहा है. परिजनों ने मुठभेड़ पर सवाल उठाते हुए सोमवार को पुष्पेंद्र का शव लेने से इंकार कर दिया था. परिजनों का कहना था कि एनकाउंटर करने वाले पुलिसकर्मियों पर एफआईआर दर्ज की जाए. कई बार की वार्ता विफल होने के बाद पुलिस ने झांसी ले जाकर पुष्पेंद्र का अंतिम संस्कार कर दिया था. पुलिस ने मंगलवार को पुष्पेंद्र का अपराधिक इतिहास होने का विवरण पेश किया. जिसमें उस पर गुंडा ऐक्ट समेत पांच केस दर्ज होना बताया गया. इधर, देर शाम घायल इंस्पेक्टर का कानपुर तबादला कर दिया गया.


वहीं, बुधवार सुबह को एनकाउंटर करने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी करने की मांग को लेकर धरने पर बैठे फौजी तेज बहादुर सहित 40 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में ले लिया. हिरासत में लिए हुए सभी प्रदर्शनकारियों को झांसी जिला जेल भेज दिया गया है. यह कार्रवाई अखिलेश यादव के झांसी पहुंचने से कुछ घंटे पहले की गई. इस कार्रवाई के पीछे प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था कायम रखने का तर्क दिया है. हिरासत में लिए हुए सभी प्रदर्शनकारियों को झांसी जिला जेल भेज दिया गया है.


पुष्पेन्द्र के परिजनों से मिलने के बाद अखिलेश यादव आज रात्रि विश्राम झांसी सर्किट हाउस में करेंगे और 10 अक्टूबर को झांसी से लखनऊ के लिए प्रस्थान करेंगे. पुष्पेन्द्र यादव की बीते 5 अक्टूबर को पुलिस एनकाउंटर में मौत हुई थी.


Also Read: झांसी: पुष्पेंद्र यादव एनकाउंटर को लेकर पुलिस पर उठे सवाल, सपा सांसद बोले- फर्जी है एनकाउंटर, कराई जाए CBI जांच


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

बसपा के स्टार प्रचारक बने मायावती और भतीजा आकाश आनंद, 20 नेताओं की लिस्ट जारी

BT Bureau

INDvsBAN: हसीना के साथ मैच देखने कोलकाता जा सकते है पीएम मोदी, जानें किस दिन से शुरू हो रही सीरीज

S N Tiwari

राजा भैया बोले- मुझ पर हुई कार्रवाई, योगी सरकार के विधायक क्यों नहीं किए गए नजरबंद?

BT Bureau