Breaking Tube
Politics

‘चरमपंथी जमातों व कट्टरपंथी मदरसों की फंडिंग हवाला से होती है, भ्रष्टाचार समाप्त नहीं किया गया तो न भारत बचेगा, न ही भारतीयता’

दिल्ली के निजामुद्दीन स्थित तबलीगी जमात के कोरोना संक्रमण को लेकर बरती गई बड़ी लापरवाही का खुलासा होने के बाद से मुख्य आरोपी और जमात के मुखिया मौलाना साद अंडरग्राउंड हो गया है. क्राइम ब्रांच जब मौलाना के ठिकानों पर गई तो हौरान रह गई. आलीशान बंगला, लग्जरी गाड़ियों, महंगी बाइकों का काफिला देख सभी हैरान रहे गए. वहीं मौलाना की काली कमाई को लेकर बीजेपी नेता और सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ अधिवक्ता अश्विनी उपाध्याय (Ashwini Upadhyay) ने कठोर व प्रभावी भ्रष्टाचार विरोधी कानून बनाने की मांग की है. उनका कहना है कि अगर चरमपंथी जमातों व कट्टरपंथी मदरसों की फंडिंग हवाला से होती है, अगर भ्रष्टाचार समाप्त नहीं किया गया तो न तो भारत बचेगा और न ही भारतीयता.


अश्विनी उपाध्याय ने कहा कि भारत और भारतीय संस्कृति को अगर किसी से सबसे ज्यादा खतरा है तो वो है भ्रष्टाचार और तेजी से बढ़ रही जनसंख्या. हमारे देश की 90 फीसदी समस्याओं का मूल कारण भी करप्शन औऱ पॉपुलेशन एक्सप्लोजन है. जितनी भी चरमपंथी जमातें चल रही हैं वो हवाले और काले धन के जरिए चलती हैं. उन्होने कहा कि अगर हम एक घर बनाते हैं तो सरकारी कर्मचारी नक्शा समेत तमाम पेपर देखते हैं. निजामुद्दीन मे इतनी बड़ी मरकज बन गई और किसी को पता ही नहीं चला क्योंकि मरकज वालों ने सरकारी कर्मचारियों को घूस खिलाई, तभी इतनी बड़ी मरकज बन गई नहीं तो कोई अवैध मस्जिद बन ही नहीं सकती थी.


उपाध्याय ने कहा कि जमातों, अवैध मदरसोॆ, घुसपैठ और धर्मांतरण का मूल करप्शन है. हमारे पास भ्रष्टाचार विरोधी जो कानून है उसे अगर दुनिया का सबसे घटिया कानून कहें तो गलत नहीं होगा. एक भी कानून ऐसा नहीं है जिसमें आजावीन कारावास की सजा औऱ सौ फीसदी संपत्ति जब्त करने का प्रोविजन हो. उन्होने कहा कि दुनिया के कई देशो में आय से अधिक संपत्ति रखने, काला धन ऱखने और बेनामी संपत्ति रखने पर आजीवन कारावास का प्रवाधान और सौ फीसदी संपत्ति जब्त करने का प्रवाधान है. उन्होने कहा कि भ्रष्टाचार विरोधी कानून बदलने की जरूरूत है, नहीं तो जो ये चरमपंती जमाते चल रही हैं, कट्टरपंथी मदरसे चल रहे हैं और चरमपंथी ईशाई मिशनरियां चल हैं इस देश को बर्बाद कर देंगी. न तो भारत बचेगा औऱ न ही भारतीय संस्कृति बचेगी.



बता दें कि मौलाना साद की तलाश जारी है. इसी बीच, उसके आलीशान फार्म हाउस के बारे में व महंगी गाड़ियां होने का पता चला है। उसका फार्म हाउस स्वीमिंग पूल समेत सभी तरह की सुख सुविधाओं से लैस है. फार्म हाउस के बाहर कारों का लंबा काफिला भी नजर आ रहा है. मौलाना के फार्म हाउस में कई गाड़ियां और बाइक दिखाई दे रही हैं. तबलीगी जमात के कुछ लोगों का तो पता चला लेकिन जमात के मुखिया मौलाना साद का अबतक पता नहीं चल पाया है. क्राइम ब्रांच ने साद के खिलाफ कई गंभीर धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया है.


Also Read: यदि समान शिक्षा और समान नागरिक संहिता तत्काल लागू नहीं किया तो 2040 में शरिया लागू हो जाएगा: अश्विनी उपाध्याय


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

मायावती और अखिलेश को तगड़ा झटका, शिवपाल के मोर्चा से जुड़ने की तैयारी में ये कद्दावर नेता

Jitendra Nishad

शपथ ग्रहण के 24 घंटे के भीतर किसानों से किये वायदे पूरे करने वाली ये पहली सरकार है: विजयपाल सिंह तोमर

BT Bureau

अयोध्या में गैर विवादित भूमि पर अर्जी के फैसलें को मायावती ने बताया ‘संकीर्ण सोच वाला विवादित कदम’

BT Bureau