Breaking Tube
Crime Politics

औरैया: मंदिर की जमीन कब्जाने को लेकर हुआ खूनी संघर्ष, 2 की मौत, सपा MLC और भाई गिरफ्तार

auraiya sp mlc kamlesh pathak

उत्तर प्रदेश के औरैया (auraiya) जिले में रविवार को पुलिस की मौजूदगी में समाजवादी पार्टी के एमएलसी कमलेश पाठक (sp mlc kamlesh pathak) और एक अधिवक्ता के बीच वर्चस्व की लड़ाई ने खूनी संघर्ष की शक्ल ले ली। इस खूनी संघर्ष में अधिवक्ता और उनकी चचेरी बहन की मौत हो गई। पूरी घटना मंदिर की जमीन कब्जाने को लेकर हुई।


पुलिस ने इस मामले में 11 लोगों पर रिपोर्ट दर्ज करते हुए सपा एमएलसी कमलेश पाठक, उनके भाई संतोष पाठक, रामू पाठक, हनुमान मंदिर के कथावाचक राजेश शुक्ला समेत 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। सपा एमएलसी के भाई संतोष पाठक की लाइसेंसी राइफल भी पुलिस ने कब्जे में ले ली है। प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि रविवार की दोपहर दोनों पक्षों के बीच संघर्ष की स्थिति मंदिर परिसर में एक साथ मौजूद होने से बन गई।


Also Read: स्वतंत्र देव सिंह का अखिलेश पर हमला, दंगाइयों पर कार्रवाई से बौखला गए बिरयानी खिलाने वाले


सपा एमएलसी कमलेश पाठक अपने भाई संतोष पाठक और कुछ अन्य लोगों के साथ पूजा करने के लिए मंदिर पहुंचे। इसकी जानकारी मिलने पर पूर्व छात्र संघ अध्यक्ष अधिवक्ता मंजुल चौबे भी परिजनों और कुछ लोगों के साथ मंदिर पहुंच गए। इस दौरान चौबे के साथियों ने कमलेश पाठक के मंदिर में आने पर आपत्ति जताई। जिसके बाद दोनों के पक्षों के बीच कहासुनी होने लगी और एक दूसरे को गोली से उड़ा देने की धमकियां शुरू हो गईं।


Also Read: अब UP में प्रदर्शन की आड़ में आगजनी-बवाल करने वालों के कापेंगे हाथ, चलेगा ‘योगी हंटर’ तो कोर्ट भी नहीं कर पाएगी मदद


इसी बीच सपा एमएलसी कमलेश पाठक के साथ मौजूद संतोष पाठक और उनके साथियों ने फायरिंग शुरू कर दी। विवाद की खबर मिलते ही कोतवाल भी पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए, लेकिन पुलिस की मौजूदगी में भी गोलीबारी नहीं रुकी। कमलेश पाठक की तरफ से ताबड़तोड़ फायरिंग में गोली अधिवक्ता मंजुल चौबे और उनकी बहन को लगी। बहन की मौके पर मौत हो गई जबकि मंजुल को कानपुर रेफर कर दिया गया, लेकिन रास्ते में उनकी भी मौत हो गई।


इस दौरान मौके पर मौजूद पत्रकारों ने भाग कर अपनी जान बचाई। एसपी ने बताया कि गोली एमएलसी कमलेश पाठक के भाई संतोष पाठक की ओर से चलाई गई। उन्होंने बताया कि कमलेश पाठक समेत छह लोगों को हिरासत में लिया गया है और माहौल को देखते हुए मौके पर फोर्स तैनात कर दी गई है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

योगी सरकार में पुलिस पर बढ़ा जनता का भरोसा, 87 फीसदी महिलाओं ने माना पहले से अधिक सुरक्षित महसूस करती हैं

Praveen Bajpai

नहीं बचेंगे जौनपुर सहित विभिन्न जिलों में हुए जबरन धर्मांतरण के दोषी- मनीष शुक्ला

BT Bureau

बीजेपी नेता बोले- अखिलेश न करें अयोध्या की चिंता, सैफई में घर के बगल में बनवा देंगे मस्जिद

Jitendra Nishad