Breaking Tube
Politics UP News

ब्राह्मणों को साधने में जुटी मायावती को बड़ा झटका!, BSP नेता रामवीर उपाध्याय ज्वाइन कर सकते हैं BJP

BSP leader ramveer upadhyay

पूर्व कबीना मंत्री और बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के वरिष्ठ नेता रामवीर उपाध्याय ने शनिवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। वहीं, इस मुलाकात को लेकर कयासबाजी शुरू हो गई है। कहा जा रहा है कि रामवीर उपाध्याय जल्द ही बसपा छोड़ भाजपा ज्वाइन कर सकते हैं।


दरअसल, 2022 के विधानसभा चुनावों के मद्देनजर मौजूदा समय में जिस तरह से बसपा, सपा और कांग्रेस में ब्राह्मणों को अपने पाले में खींचने की जोर-आजमाइश चल रही है, ऐसे समय में बसपा के ब्राह्मण नेता रामवीर उपाध्याय का मुख्यमंत्री से मिलना बड़ा संकेत दे रहा है। रामवीर उपाध्याय के भाई और पूर्व विधायक मुकुल उपाध्याय पहले ही बीजेपी में शामिल हो चुके हैं।


Also Read: CM योगी के तिलक तराजू वाले बयान को मायावती ने बताया झूठा, कहा- इनकी जातिवादी कार्यशैली से दुखी ब्राह्मण समाज


इसके बाद से ही रामवीर उपाध्याय बसपा में काफी समय से उपेक्षित चल रहे हैं। वहीं, भाजपा में शामिल होने की अटकलें तेज होने के बाद बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र ने कहा है कि रामवीर के जाने से उनकी पार्टी को कोई फर्क पड़ने वाला नहीं है। रामवीर उपाध्याय बसपा के पुराने नेता हैं और मायावती सरकार में कैबिनेट मंत्री रह चुके हैं।


सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि आगरा के आसपास के क्षेत्रों में वह बसपा के ब्राह्मण चेहरे के रूप में जाने जाते रहें हैं। बसपा में वह अपने को काफी समय से उपेक्षित महसूस करते रहे हैं। उन्होंने कहा है कि रामवीर उपाध्याय बसपा से विधायक हैं। लोकसभा चुनाव के दौरान उनकी पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते उन्हें पहले ही पार्टी से निलंबित कर दिया गया था।


Also Read: …तो धरना-प्रदर्शन नहीं करने के बदले मोटी रकम वसूलती है कांग्रेस! आगरा जिलाध्यक्ष ने बिजली कंपनी से मांगे 5 लाख, Video वायरल


उन्होंने यह भी कहा है कि उनका बेटा बसपा का सदस्य नहीं है। अगर वो भाजपा में जाते हैं तो बसपा को किसी तरह का फर्क नहीं पड़ता।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

जय बाजपेई के ईनामी भाईयों ने किया सरेंडर, विकास दुबे का देते थे साथ

BT Bureau

लखनऊ एयरपोर्ट पर अखिलेश यादव से एडीएम ने की धक्का-मुक्की, विधान परिषद में मचा हंगामा

S N Tiwari

समान नागरिक संहिता के फायदे बहुत कम लोगों को पता हैं, इसका ड्राफ्ट बनते ही एजेंडा चलाने वालों का मुंह बंद हो जाएगा: अश्विनी उपाध्याय

Praveen Bajpai