Breaking Tube
Politics

बस विवाद पर प्रियंका से सवाल अदिति सिंह को पड़ा भारी, कांग्रेस ने दिखाया बाहर का रास्ता

Congress mla aditi singh

कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली के सदर क्षेत्र की युवा विधायक अदिति सिंह (Congress mla aditi singh) को बस प्रकरण में भाजपा का पक्ष लेना भारी पड़ गया है। कांग्रेस ने उनपर अनुशासनहीनता का आरोप लगाते हुए पार्टी से निलंबित कर बाहर का रास्ता दिखा दिया है। बुधवार को अदिति सिंह ने बस प्रकरण में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा पर निशाना साधा और योगी सरकार की तारीफ की। जिसके बाद पार्टी ने उन्हें निलंबित करने का फैसला कर लिया।


अदिति सिंह ने बुधवार को ट्वीट कर कहा था कि आपदा के वक्त ऐसी निम्न सियासत की क्या जरूरत,एक हजार बसों की सूची भेजी, उसमें भी आधी से ज्यादा बसों का फर्जीवाड़ा, 297 कबाड़ बसें, 98 आटो रिक्शा व एबुंलेंस जैसी गाड़ियां, 68 वाहन बिना कागजात के, ये कैसा क्रूर मजाक है, अगर बसें थीं तो राजस्थान, पंजाब, महाराष्ट्र में क्यूं नहीं लगाई।


Also Read: प्रियंका गांधी पर फर्जीवाड़े का आरोप, यूपी सरकार को बसों के नाम पर थमा दिया स्कूटर और आटो की लिस्ट, कई नंबर ब्लैकलिस्टेड


उन्होंने यह भी कहा कि कोटा में जब UP के हजारों बच्चे फंसे थे तब कहां थीं ये तथाकथित बसें, तब कांग्रेस सरकार इन बच्चों को घर तक तो छोड़िए, बार्डर तक ना छोड़ पाई, तब श्री योगी आदित्यनाथ जी ने रातों रात बसें लगाकर इन बच्चों को घर पहुंचाया, खुद राजस्थान के सीएम ने भी इसकी तारीफ की थी।


कांग्रेस से अदिति सिंह के इस कृत्य को अनुशासनहीनता माना है। इसके बाद कांग्रेस ने विधायक आदिति सिंह को पार्टी से निलंबित कर दिया है। उनके खिलाफ पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते कार्रवाई हुई है। उन्होंने प्रियंका गांधी की आलोचना करते हुए कहा कि कि संकट के समय निम्न स्तर की राजनीति की क्या आवश्यकता थी। कांग्रेस ने इसे गंभीरता से लेते हुए विधायक अदिति सिंह को पार्टी की महिला विंग के महासचिव पद से निलंबित कर दिया गया है।


Also Read: प्रियंका गांधी पर अब कांग्रेस MLA ने उठाए सवाल, कहा- बसों में फर्जीवाड़ा का ये कैसा क्रूर मजाक?


जानकारी के मुताबिक, अदिति सिंह के ट्वीट पर प्रतिक्रिया देते हुए कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव और रायबरेली प्रभारी के एल शर्मा ने कहा कि पिछले वर्ष पार्टी व्हिप का उल्लंघन करने के लिए विधानसभा में उनके खिलाफ एक नोटिस दिया गया था जो लंबित है। विधायक अदिति सिंह ने नोटिस का जवाब नहीं दिया है। लॉकडाउन के चलते सभी कार्रवाई लंबित हैं। वह जवाब देने से बच रही हैं। पार्टी ने उनके विधायक पद से अयोग्य घोषित करने का भी अनुरोध किया है।


बता दें कि दबंग विधायक स्वर्गीय अखिलेश सिंह की बेटी अदिति सिंह अक्सर केंद्र की मोदी सरकार और यूपी के योगी सरकार की तारीफ करती रहती हैं। वह 2017 में पहली बार विधायक निर्वाचित हुईं। अपने क्षेत्र में अदिति सिंह काफी लोकप्रिय हैं।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

हैदराबाद गैंगरेप केस पर भड़कीं जया बच्चन, बोलीं- बलात्कारियों की सार्वजनिक तौर पर लिंचिंग होनी चाहिए

BT Bureau

राजनीति में प्रियंका गाँधी की एंट्री, स्मृति बोलीं- अब तो साबित हो गया कि राहुल गाँधी फेल हैं

BT Bureau

Video: सपा नेता के भतीजे की गुंडई, गोल्ड मेडलिस्ट छात्रा को सरेआम जमकर पीटा

S N Tiwari