Breaking Tube
Politics Social Media

फारूक अबदुल्ला बोले- कोरोना के कारण बीवी को Kiss नहीं कर पा रहा, लोग बोले- गनीनत है BJP-RSS पर नहीं मढ़ दिया दोष

कोरोना वायरस को लेकर 16 जनवरी से वैक्सीनेशन अभियान पूरे देश में चालू हो चुका है. टीकारण के चलते लोग महामारी के खत्म होने का इंतजार कर रहे हैं. वहीं इसी बीच नेशनल कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष और जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) ने कुछ ऐसा बयान दिया कि लोग सोशल मीडिया पर उनके मजे ले रहे हैं.


दरअसल, फारूक अब्दुल्ला रविवार को जम्मू में एक किताब के विमोचन समारोह में पहुंचे थे. कार्यक्रम में बोलते हुए फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) ने कहा कि कोरोना वायरस ने बड़ी अजीब स्थिति उत्पन्न कर दी है और महामारी के आने के बाद से उन्होंने डर से अपनी पत्नी को किस (Kiss) तक नहीं किया है. इसके बाद वहां मौजूद लोग ठहाके लगाकर हंसने लगे.


इसके बाद फारूक अब्दुला ने कहा कि स्थिति यह है कि कोई भी हाथ मिलाने या गले लगने तक से डरता है. अब्दुल्ला ने कहा कि यहां तक कि मैं अपनी पत्नी का चुंबन तक नहीं ले सकता. गले लगने का तो सवाल ही नहीं है जबकि दिल ऐसा करना चाहता है। मैं बिलकुल सही कह रहा हूं. इस पर वहां मौजूद लोग ठहाके लगाकर हंसने लगे. उनकी इस टिप्पणी की एक वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है.


वहीं फारूक के बयान पर सोशल मीडिया पर भी लोग खूब उनके मजे ले रहे हैं. दिनेश नामक एक ट्विटर यूजर्स लिखते हैं कि गनीमत है पहली बार फारूक अब्दुल्ला ने किसी चीज का आरोप BJP/RSS पर नहीं लगाया. वहीं कुछ यूजर्स का कहना है कि इसके लिए पीएम मोदी को इस्तीफा दे देना चाहिए. फारूक के बयान को लेकर सोशल मीडिया पर तमाम तरह के मीम्स तैर रहे हैं, जिन्हें शेयर कर लोग मजे ले रहे.


Also Read: अब लखनऊ में होगा TANDAV, ‘अमेजॉन’ के कंटेंट हेड सहित वेब सीरीज की पूरी टीम पर FIR, जल्द गिरफ्तारी की तैयारी!


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

गणतंत्र दिवस के मौके पर पीएम मोदी का अलग ही लुक, कभी केसरिया तो कभी गुलाबी पगड़ी में दिखे बेहद आकर्षक

S N Tiwari

19 घंटे काम करते हैं सीएम योगी, पहले 16 महीनों में ही कर ली थी पूरे 75 जिलों की यात्रा

BT Bureau

बसपा सुप्रीमो मायावती का हमला, भारत बंद बीजेपी का ‘पॉलिटिकल स्टंट’ है

Aviral Srivastava