Breaking Tube
Politics

जब ‘जय श्रीराम’ के लगे नारे तो PM के मंच पर भड़क गईं ममता बनर्जी, बोलीं- बुलाकर बेइज्जती करना ठीक नहीं

नेताजी सुभाष चंद्र बोस (Netaji Subash Chandra Bose) की 125वीं जयंती के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में जय श्रीराम (Jai Shree Ram) के नारे लगाए गए. कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) मंच पर बोलने के दौरान भीड़ ने नारे लगाने शुरू कर दिए. खास बात है कि इस नारेबाजी से नाराज होकर उन्होंने बोलने से मना कर दिया है. वहीं, उन्होंने भीड़ पर पार्टी विशेष होने के आरोप भी लगाए हैं. पश्चिम बांगाल की राजधानी कोलकाता स्थित विक्टोरिया मेमोरियल पर कार्यक्रम आयोजित किया गया है. इस कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) भी मौजूद थे.


दरअसल जब ममता बनर्जी अपने संबोधन के लिए मंच पर चढ़ रही थीं, उसी दौरान नीचे खड़े लोगों ने जय श्रीराम की नारेबाजी शुरू कर दी. नाराज ममता बनर्जी ने कहा कि सरकारी कार्यक्रम को राजनीतिक कार्यक्रम बना दिया गया है. किसी का अपमान करना ठीक नहीं है. ममता ने कहा कि सरकार के कार्यक्रम की गरिमा होनी चाहिए. यह कोई राजनीतिक कार्यक्रम नहीं है. आपको किसी को आमंत्रित करने के बाद उसका अपमान करना शोभा नहीं देता है. विरोध के रूप में मैं कुछ भी नहीं बोलूंगीं. इतना कहकर ममता मंच से तुरंत नीचे उतर गईं.


बनर्जी ने अपनी नाराजगी पीएम मोदी के सामने ही जाहिर की है. इस कार्यक्रम के दौरान कई कालाकारों ने प्रस्तुति दी. वहीं, पीएम ने एक पोस्टल स्टाम्प रिलीज किया है. शनिवार को कोलकाता में बोस की जयंती पर 7 किमी लंबी एक रैली का भी आयोजन किया गया था. इस रैली के दौरान उन्होंने भारतीय जनता पार्टी पर आरोप लगाए थे.


उन्होंने कहा ‘हम नेताजी का जन्मदिन केवल उन सालों में नहीं मनाते, जब चुनाव होने हों. हम बड़े पैमाने पर उनकी 125वीं जयंती मना रहे हैं. उन्होंने कहा नेताजी देश के महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों में से एक थे. वे एक महान दार्शनिक थे. बनर्जी ने ट्वीट के जरिए बोस और उनकी आजाद हिंद फौज (Azad Hind Fauj) के नाम पर कई विकास कार्यों की घोषणा भी की है.’


उन्होंने केंद्र सरकार के पराक्रम दिवस का भी विरोध जताते हुए कहा था कि हम देशनायक दिवस मनाएंगे. सीएम ममता बनर्जी ने कहा, ‘मैं आज से पहले उनकी (नेताजी सुभाष चंद्र) की जयंती को मनाए जाने के केंद्र सरकार के फैसले के खिलाफ अपना असंतोष व्यक्त करना चाहूंगी. केंद्र पर हमला बोलते हुए ममता ने कहा कि उन्होंने मूर्तियों के निर्माण और एक नए संसद परिसर में हजारों करोड़ रुपये खर्च किए हैं. हम आजाद हिंद स्मारक का निर्माण करेंगे. हम बताएंगे कि यह कैसे किया जाता है.


Also Read: ‘..लोग जय श्रीराम बोलकर रेप कर रहे’, देवी सीता के बाद अब भगवान राम को लेकर TMC सांसद का घटिया बयान


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

‘रिहाना तो बहाना, किसानों के कंधे से बंदूक चलाना है, ग्रेटा तो अनपढ़ है, पप्पू को PM बनाना है’…वायरल हुआ रणवीर शौरी का गाना

Jitendra Nishad

योग्यता और जूनून की कमी….बराक ओबामा ने अपनी किताब में ऐसे किया राहुल गांधी का जिक्र

BT Bureau

22 मार्च को रहेगा ‘जनता कर्फ्यू’, सुबह 7 से रात 9 बजे तक घर पर ही रहें: पीएम मोदी

BT Bureau