Breaking Tube
Politics UP News

UP: विधानसभा सत्र शुरू होने से पहले सपा विधायकों का जोरदार प्रदर्शन, आजम खां को रिहा करने की मांग

vidhan sabha samajwadi party

कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रसार के बीच उत्तर प्रदेश में गुरुवार से विधानमंडल का मानसून सत्र आयोजित हो रहा है। विधान भवन में कार्यवाही शुरू होने से पहले ही समाजवादी पार्टी (samajwadi party) के विधायकों ने विधानसभा (vidhan sabha) के बाहर जमकर हंगामा किया। हाथ में तख्ती के साथ यह सभी योगी आदित्यनाथ सरकार विरोधी नारेबाजी कर रहे थे। इस दौरान प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम के नेतृत्व में विधायक अपने गले में कानून व्यवस्था और कोरोना की आड़ में लूट-पाट जैसे स्लोगन की तख्ती डाले नजर आए।


वहीं, कुछ विधायक गेट नम्बर 2 पर चढ़ते भी नजर आए। बाद में विधानसभा की गैलरी के बाहर सपा विधायकों ने एक साथ बैठकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। कोरोना को लेकर सरकार को विपक्ष घेरने की तैयारी में है। सबसे ज्यादा तख्ती में कोरोना संबधी स्लोगन ही तैयार किये गए थे। गुरुवार से शुरु हो रहा प्रदेश विधानमंडल का मानसून सत्र छोटा होगा। कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के सभी इंतजाम के बीच चार दिन में 16 विधेयकों को मंजूर कराने की सरकार की तैयारी है।


Also Read: अयोध्या जाकर अखिलेश के नेता ने भगवान राम के अस्तित्व पर उठाए सवाल, बताया एक ‘काल्पनिक कैरेक्टर’


पहली बार सदन में कुछ लोग वर्चुअल ढंग से उपस्थित होंगे। 65 वर्ष से अधिक उम्र के विधायकों को सत्र में वीडियो कांफ्रेंसिंग से जोड़ा जाएगा। सिर्फ 65 साल से कम उम्र के विधायकों को ही सदन में मास्क और ग्लव्स के साथ प्रवेश दिया जाएगा। कोरोना महामारी के दौरान संवैधानिक बाध्यता के कारण इस सत्र के लिए अनेक ऐसी व्यवस्थाएं करनी पड़ रही हैं, जो विधानसभा के इतिहास में पहली बार होंगी। मसलन दर्शक दीर्घा में भी विधायकों को बैठना पड़ेगा। लॉबी में बैठकर भी विधायक सदन की कार्यवाही का हिस्सा होंगे।


विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने बताया कि पहले दिन गुरुवार को सुबह 11 बजे सदन के चार दिवंगत सदस्यों -वीरेंद्र सिंह सिरोही, पारसनाथ यादव, कमल रानी वरुण व चेतन चौहान के निधन पर शोक संवेदना के बाद कार्यवाही स्थगित कर दी जाएगी। यह भी संयोग है कि एक साथ दो कैबिनेट मंत्रियों सहित चार सदस्यों के निधन पर शोक होगा।


Also Read: SP सांसद ने राम मंदिर शिलान्यास को बताया गैर कानूनी, कहा- वहां मस्जिद थी, है और आगे भी रहेगी, घबराएं न मुसलमान


विधान परिषद की कार्यवाही भी शोक प्रस्ताव के बाद स्थगित कर दी जाएगी। अस्वस्थ, महिला व 60 वर्ष से अधिक आयु वाले सदस्यों को बैठक में वर्चुअल शामिल होने की छूट मिलेगी। उन्हें भेजे गए ई-लिंक के जरिए उपस्थिति दर्ज मान ली जाएगी। गुरुवार सुबह सदन की कार्यवाही शुरू होने से पहले पूरे सदन को सैनिटाइज किया गया।


परिषद के सदस्य और कार्मिक अपनी कोरोना जांच के सुबूत के तौर पर जांच की पर्ची लेकर पहुंचेंगे। विधान परिषद के दोनों गेट पर हैंड सैनिटाइजर और थर्मल स्कैनर लगाये गए हैं। पल्स अक्सीमीटर का भी इंतजाम किया गया है। सदन में सेंट्रलाइज्ड एयरकंडीशनिंग की व्यवस्था को देखते हुए एयर डक्टस में अल्ट्रावायलेट मशीनें लगायी गई हैं, जिनके विकिरण से वायरस का खात्मा किया जा सके।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

अखिलेश यादव : हमारे घर जैसा लोकतंत्र किसी घर में नहीं, जनता चाहती है पीएम पद के लिए नया चेहरा

Aviral Srivastava

मेरठ: बिना मास्क घूम रहे थे युवक, पुलिस को सामने देख बनियान उतार कर बनाया मास्क, Video वायरल

BT Bureau

उत्तर प्रदेश में ‘मुस्लिम’ क्यों नहीं करता धन और भूमि दान

BT Bureau